MP Crisis: सिंधिया समर्थक का दावा, कांग्रेस से हुए 10 हजार पदाधिकारियों के इस्तीफे

सिंधिया बुधवार को बीजेपी में शामिल हो गए. (फाइल फोटो)
सिंधिया बुधवार को बीजेपी में शामिल हो गए. (फाइल फोटो)

कांग्रेस से बीजेपी (BJP) में गए ज्योतिरादित्य सिंधिया के इस्तीफे के बाद 10 हजार से ज्यादा कांग्रेस पदाधिकारियों के इस्तीफे का दावा किया गया है. हालांकि कांग्रेस पार्टी इस दावे को खारिज कर रही है.

  • Share this:
भोपाल. ज्योतिरादित्य सिंधिया के इस्तीफे के बाद 10 हजार से ज्यादा इस्तीफे होने का दावा किया गया है. मध्य प्रदेश कांग्रेस (MP Congress) के प्रवक्ता के पद से इस्तीफा देने वाले पंकज चतुर्वेदी ने बुधवार को यह दावा किया. चतुर्वेदी ने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस के करीब 10,000 पदाधिकारियों ने इस्तीफे दे दिए हैं और कई पदाधिकारी त्यागपत्र दे सकते हैं. सिंधिया समर्थक कांग्रेस प्रवक्ता ने उनके कांग्रेस छोड़ने के तुरंत बाद इस्तीफा दे दिया था.

कांग्रेस ने किया दावों को खारिज
हालांकि, मध्य प्रदेश की सत्तारूढ़ कांग्रेस ने इस दावे को खारिज कर दिया और कहा कि सिंधिया के समर्थक अन्य नेताओं पर कांग्रेस छोड़ने के लिए दबाव बना रहे हैं. सिंधिया के कट्टर समर्थक समझे जाने वाले चतुर्वेदी ने मीडिया से यहां कहा, ‘‘सिंधिया जी के कांग्रेस छोड़ने के बाद उनके प्रति आस्था जताने वाले मध्य प्रदेश कांग्रेस के करीब 10,000 पदाधिकारियों ने इस्तीफे दे दिए हैं. ये इस्तीफे राज्य स्तर से ब्लॉक स्तर तक के पदाधिकारियों के हैं और कल सुबह से लेकर आज शाम तक दिए गए हैं. इनमें कुछ कांग्रेस जिला अध्यक्ष भी शामिल हैं.’’

कई कांग्रेस पदाधिकारी देंगे इस्तीफा
उन्होंने दावा किया, ‘‘जल्द ही कई अन्य कांग्रेसी पदाधिकारी भी अपने पदों से त्यागपत्र देंगे.’’ चतुर्वेदी ने कहा कि गुना, सागर, अशोक नगर, ग्वालियर, इंदौर, शिवपुरी और कुछ अन्य जिलों के कांग्रेस अध्यक्षों ने अपना इस्तीफा दिया है.



इस्तीफा देने का बनाया जा रहा दबाव
मध्य प्रदेश कांग्रेस के मीडिया समन्वयक नरेन्द्र सलूजा ने कहा कि सिंधिया के समर्थक पार्टी के नेताओं को इस्तीफा देने के लिए दबाव बना रहे हैं. उन्होंने यह भी कहा कि इतने बड़ी तादात में पार्टी के पदाधिकारियों ने इस्तीफे नहीं दिए हैं.

कांग्रेस नेता पूछ रहे क्यों हारे चुनाव
सलूजा ने बताया, ‘‘जिस किसी ने भी इस्तीफा दिया है, उसने सिंधिया समर्थकों के दबाव में दिया है. वे पार्टी के नेताओं पर दबाव बना रहे हैं. यदि सिंधिया इतने प्रसिद्ध थे तो वह पिछले साल गुना लोकसभा सीट से चुनाव क्यों हार गए थे?’ उन्होंने कहा कि सिंधिया को बीजेपी में कुछ दिन बिताने के बाद ही जल्द अपनी नेतृत्व के बारे में असलियत का पता चल जाएगा.

 

ये भी पढ़ें:

सचिन पायलट ने सिंधिया को लेकर कही ये बात,राजस्‍थान की राजनीति पर अटकलें शुरू

सचिन पायलट ने सिंधिया पर किया ट्वीट, ट्विटर यूजर्स ने पूछा फ्यूचर प्लान


 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज