अपराधियों को पार्टी से बाहर करने की तैयारी में बीजेपी, हो रही सदस्‍यों की स्‍क्रूटनी

सदस्यता अभियान (Membership Drive) के बाद बीजेपी (Bjp) अपने सदस्यों (Members) की स्क्रूटनी (Scrutiny) करने जा रही है. दरअसल पार्टी आपराधिक (Criminal) प्रवृत्ति वाले लोगों को सदस्य बनने से रोकना चाहती है.

Sharad Shrivastava | News18 Madhya Pradesh
Updated: September 9, 2019, 4:38 PM IST
अपराधियों को पार्टी से बाहर करने की तैयारी में बीजेपी, हो रही सदस्‍यों की स्‍क्रूटनी
अपराधियों को पार्टी से बाहर करने की तैयारी में बीजेपी, हो रही सदस्‍यों की स्‍क्रूटनी
Sharad Shrivastava | News18 Madhya Pradesh
Updated: September 9, 2019, 4:38 PM IST
भोपाल. सदस्यता अभियान (Membership Drive) खत्म होने के बाद बीजेपी (BJP) को अब नए सदस्यों के बैकग्राउंड को लेकर चिंता सता रही है. चिंता इस बात की है कि आखिर जिन लोगों ने बीजेपी की सदस्यता ली है, वो वाकई सदस्य बनने लायक हैं भी या नहीं. बीजेपी की सबसे बड़ी चिंता आपराधिक प्रवृत्ति वाले लोगों को सदस्य बनने से रोकने की है. यही वजह है कि अब आपराधिक बैकग्राउंड वाले सक्रिय सदस्यता हासिल न कर लें, इसके लिए प्राथमिक सदस्यों की स्क्रूटनी की जा रही है.

ऐसे की जाएगी स्क्रूटनी
स्क्रूटनी के इस काम को पूरा करने के लिए बीजेपी ने 3 सदस्यों की टीम बनाई है, जो हर जिले में जाकर सदस्यता अभियान के रजिस्टर को चेक करेगी. इसमें फर्जी सदस्यों के साथ-साथ नए बने सदस्यों के डिटेल को भी खंगाला जाएगा. दरअसल बीजेपी ने इस बार ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीकों से सदस्य बनाने का काम किया था. इसके लिए ऑनलाइन मिस्ड कॉल नंबर 8980808080 जारी किया गया था. मिस्ड कॉल करने के बाद सदस्य बनने वाले के पास एक मैसेज आता है, जिसमें ऑनलाइन डिटेल भरने के बाद ऑनलाइन सदस्यता अभियान कार्ड जारी किया गया था. यही वजह है कि बीजेपी अब ऐसे सदस्यों की स्क्रूटनी करना चाहती है, जो सदस्य बनने के लिए योग्य नहीं हैं.

News - एमपी में नए बने सदस्यों की संख्या 51 लाख से ज्यादा पहुंच चुकी है
एमपी में नए बने सदस्यों की संख्या 51 लाख से ज्यादा पहुंच चुकी है


3 सदस्यों की टीम करेगी स्क्रूटनी
बीजेपी ने 6 जुलाई से सदस्यता अभियान की शुरुआत की थी. इसके लिए पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान को राष्ट्रीय सदस्यता अभियान का प्रभारी बनाया गया. बीजेपी ने देशभर में 20 फीसदी ज्यादा सदस्य बनाने का लक्ष्य रखा था. इस अभियान के तहत एमपी में नए बने सदस्यों की संख्या 51 लाख से ज्यादा पहुंच चुकी है. सदस्यों की स्क्रूटनी के लिए अब एक टीम बनाई गई है. तीन सदस्यों वाली ये टीम जिलों में जाकर स्क्रूटनी का काम करेगी. स्क्रूटनी के दौरान क्रिमिनल बैकग्राउंड वाले सदस्यों को बाहर किया जाएगा.

कांग्रेस ने नौटंकी करार दिया
Loading...

बीजेपी प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल के मुताबिक बीजेपी नियमों के मुताबिक ही सदस्य बनाती है. बीजेपी से जुड़ने के बाद अगर कोई अवैधानिक कामों में शामिल पाया जाता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाती है. हम ऐसे लोगों का साथ नहीं ले सकते जो किसी तरह से आपराधिक कृत्यों में शामिल हों. प्राथमिक सदस्यता के बाद सक्रिय सदस्यता में इसका विशेष ध्यान रखा जाता है. हालांकि कांग्रेस ने इस पर बीजेपी को आड़े हाथों लिया है. कांग्रेस मीडिया सेल के उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता ने कहा है कि बीजेपी ढोंग करने वाली पार्टी है. अगर स्क्रूटनी करनी ही है तो सदस्य बनाने से पहले की जाए. इससे भी ज्यादा ये कि जो लोग अभी बीजेपी में आपराधिक गतिविधियों में शामिल हैं, उनके खिलाफ क्या कार्रवाई की गई, ये जानकारी दी जाए.

ये भी पढ़ें -

वेस्टइंडीज दौरे के बाद रवि शास्‍त्री को बड़ा इनाम, सैलरी में 20% का इजाफा, अब मिलेंगे इतने रुपये!

अली फज़ल से शादी करना चाहती हैं ऋचा चड्ढा, लेकिन इस कारण हो रही है देर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इंदौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 9, 2019, 4:12 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...