लाइव टीवी

अयोध्‍या पर आने वाले फैसले को लेकर भोपाल पुलिस अलर्ट, कलेक्‍टर ने जारी किया ये आदेश

Jitendra Sharma | News18 Madhya Pradesh
Updated: November 5, 2019, 7:01 PM IST
अयोध्‍या पर आने वाले फैसले को लेकर भोपाल पुलिस अलर्ट, कलेक्‍टर ने जारी किया ये आदेश
भोपाल में अगले 2 महीने तक लागू रहेगी धारा 144. (सांकेतिक फोटो)

अयोध्या मामले (Ayodhya Case) में फैसला आने के चलते मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल (Bhopal) हाई अलर्ट पर है. जबकि कलेक्टर तरुण पिथोड़े (Collector Tarun Pithode) ने भोपाल में धारा 144 (Section 144) लागू करने का आदेश जारी किया है.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल (Bhopal) हाई अलर्ट पर है. जबकि आने वाले दिनों में अयोध्या मामले (Ayodhya Case) में फैसला आने के चलते भोपाल में धारा 144 लगाई गई है. संवदेनशील जिला होने के कारण कलेक्टर तरुण पिथोड़े (Collector Tarun Pithode) ने भोपाल में धारा 144 (Section 144) लागू करने का आदेश जारी किया है. इसके अलावा कलेक्टर ने जिला पुलिस को संवेदनशील जगहों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करने के आदेश दिए हैं. साफ है कि अब अगले 2 महीने तक भोपाल में धारा 144 लागू रहेगी. जबकि इस दौरान जुलूस और धरना-प्रदर्शन पर भी प्रतिबंध रहेगा.

पुलिस ने दिए ये निर्देश
भोपाल पुलिस के डीआईजी इरशाद वली ने सभी मकान मालिकों को निर्देश दिया है कि सूचना दिए बगैर कोई भी व्यक्ति अपने मकान में किराएदार और पेइंग गेस्ट नहीं रखेगा. वहीं शहर की होटल, लॉज और धर्मशाला में रुकने वालों की जानकारी रजिस्टर में लिख कर थाने में देनी होगी. जबकि सार्वजनिक जगहों पर किसी भी तरह के आयोजन पर प्रतिबंध लगा दिया है. इस दौरान सिर्फ धार्मिक और सामाजिक कार्यक्रम किए जा सकेंगे. इसके लिए भी स्थानीय प्रशासन को पहले से जानकारी देनी होगी. सार्वजनिक स्थान पर कोई भी व्यक्ति अपने साथ धारधार हथियार या कोई अन्य घातक हथियार नहीं रख सकेगा अन्यथा उसे गिरफ्तार किया जाएगा.

पुलिसकर्मियों की छुट्टियां रद्द

इसके अलावा व्यवस्थाओं के मददेनजर पुलिसकर्मियों की छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं, ताकि आने वाले दिनों में अयोध्या प्रकरण मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के मद्देनजर पुलिस-प्रशासन और कानून व्यवस्था को पूरी तरीके से मुस्तैद रखा जा सके.

क्या है धारा-144?
सीआरपीसी के तहत आने वाली धारा-144 शांति व्यवस्था कायम करने के लिए लगाई जाती है. इस धारा को लागू करने के लिए जिला मजिस्ट्रेट यानी जिलाधिकारी एक नोटिफिकेशन जारी करता है.जिस जगह भी यह धारा लगाई जाती है, वहां चार या उससे ज्यादा लोग इकट्ठे नहीं हो सकते हैं. इस धारा को लागू किए जाने के बाद उस स्थान पर हथियारों के ले जाने या फिर लाने पर भी रोक लगा दी जाती है.
Loading...

क्या है सजा का प्रावधान?
धारा-144 का उल्लंघन करने वाले या इस धारा का पालन नहीं करने वाले व्यक्ति को पुलिस गिरफ्तार कर सकती है. उस व्यक्ति की गिरफ्तारी धारा-107 या फिर धारा-151 के तहत की जा सकती है. इस धारा का उल्लंघन करने वाले या पालन नहीं करने के आरोपी को एक साल कैद की सजा भी हो सकती है. वैसे यह एक जमानती अपराध है, इसमें जमानत हो जाती है.

ये भी पढ़ें-
आर्थिक तंगी की मार झेल रही MP सरकार फिर लेगी 1000 करोड़ का कर्ज!

ये हैं खंडवा के मुसद्दी लाल, 12 साल से इंसाफ के लिए अधिकारियों के काट रहे हैं चक्‍कर!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 5, 2019, 6:55 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...