शिवराज मंत्रिमंडल का विस्‍तार आज: राजभवन में 11 बजे होगा शपथ ग्रहण समारोह, चार्टर प्लेन से भोपाल पहुंचेंगे ये दिग्‍गज

शिवराज मंत्रिमंडल का विस्तार आज
शिवराज मंत्रिमंडल का विस्तार आज

शिवराज सिंह चौहान सरकार (Shivraj Singh Chauhan Government) का गुरुवार को पहला कैबिनेट विस्तार ( first Cabinet Expansion) होगा. भोपाल में राजभवन में सुबह 11 बजे मंत्री शपथ लेंगे. इस दौरान 25 नए मंत्री बनाए जा सकते हैं.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश की तीन महीने पुरानी शिवराज सिंह चौहान सरकार (Shivraj Singh Chauhan Government) का आखिरकार आज कैबिनेट विस्तार ( first Cabinet Expansion) होने जा रहा है. लंबी जद्दोजहद के बाद मंत्रिमंडल विस्तार को हरी झंडी मिली. दिल्ली में मौजूद गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि गुरुवार को कैबिनेट का विस्तार होगा, तो मुख्यमंत्री शिवराज भी इस बात का ऐलान कर चुके हैं. भोपाल में राजभवन में आज सुबह 11 बजे मंत्रियों का शपथ ग्रहण समारोह (Oath Ceremony) होगा. इस दौरान 25 नए मंत्री शपथ ले सकते हैं.

दिल्ली से चार्टर प्लेन से केंद्रीय मंत्री पहुंचेंगे भोपाल
शपथ समारोह सुबह 11 बजे राजभवन में होगा, जिसमें शामिल होने के लिए केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, प्रह्लाद सिंह पटेल और ज्योतिरादित्य सिंधिया एक साथ सुबह 10 बजे दिल्ली से चार्टर प्लेन से भोपाल पहुंचेंगे.

ये दिग्‍गज बन सकते हैं मंत्री
मंत्रिमंडल विस्‍तार में भाजपा की तरफ से यशोधरा राजे सिंधिया, मोहन यादव, भूपेन्द्र सिंह, विश्वास सारंग, संजय पाठक, अरविंद भदौरिया, रमेश मेंदोला, मालिनी गौड़, विष्णु खत्री, यशपाल सिसोदिया, ज़ालम सिंह पटेल, हरिशंकर खटीक और गोपाल भार्गव, जगदीश देवड़ा और नागेन्द्र सिंह मंत्री बन सकते हैं. जबकि ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ कांग्रेस से बीजेपी में गये पूर्व विधायक महेन्द्र सिंह सिसोदिया, इमरती देवी, प्रदुम्न सिंह तोमर, प्रभुराम चौधरी, हरदीप डंग, बिसाहू लाल सिंह, राज्यवर्धन सिंह दत्तीगांव, एंदल सिंह कंसाना, ब्रजेन्द्र यादव और रणबीर जाटव को भी मंत्री पद मिल सकता है.



उपमुख्यमंत्री की रेस में नहीं: नरोत्तम मिश्रा
मुख्यमंत्री शिवराज दो दिन तक दिल्ली में रहे थे, लेकिन मंत्रिमंडल विस्तार पर सहमति नहीं बन सकी थी. मंगलवार को बैरंग भोपाल शिवराज के लौटने का बचाव करते हुए नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि शिवराज सिंह के साथ ही आए थे, यहां पर ऐसा नहीं हुआ कि सहमति नहीं बनी. उन्होंने कहा कि पार्टी की परंपरा है, शीर्ष नेतृत्व के सामने बात रखी जाती है. मुख्यमंत्री शिवराज के वापस भोपाल जाने के बाद भो नरोत्तम मिश्रा दिल्ली में डटे रहे. राजनीतिक गलियारों में कयास लगाए जाने लगे कि वह उपमुख्यमंत्री पद के लिए लॉबिंग कर रहे हैं. इसी सवाल पर गृहमंत्री ने कहा कि यह सब मीडिया की देन है, वो उपमुख्यमंत्री बनने की रेस में नही हैं. जबकि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने 'विष' को लेकर सरकार पर तंज कसने के मामले पर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कटाक्ष करते हुए कहा कि विष जिसने पिया वो शंकर बना, मीरा बनीं. कमलनाथ अपने घर को नहीं बचाए और कमलनाथ की स्थिति खिसियानी बिल्ली खंबा नोचे वाली है. (इनपुट- अशरफ काज़मी, शरद श्रीवास्‍तव, मनोज शर्मा)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज