शिवराज मंत्रिमंडल का जल्द होगा विस्तार, दिग्गजों के बीच मंथन के बाद नाम तय!
Bhopal News in Hindi

शिवराज मंत्रिमंडल का जल्द होगा विस्तार, दिग्गजों के बीच मंथन के बाद नाम तय!
मध्य प्रदेश में शिवराज मंत्रिमंडल का विस्तार जल्द होगा

मंत्रिमंडल में जगह पाने के लिए दावेदारों की भी भोपाल से दिल्ली तक दौड़ जारी है.फिलहाल शिवराज मंत्रिमंडल में केवल 5 मंत्री शामिल हैं.

  • Share this:
भोपाल. मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में शिवराज मंत्रिमंडल (shivraj cabinet) के विस्तार को लेकर अटकलें  फिर तेज हो गई हैं. कयास लगाए जा रहे हैं कि जल्द ही मंत्रिमंडल का विस्तार हो सकता है. खास बात यह है कि इस बार खुद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इन अटकलों को हवा दे दी है. उन्होंने कहा मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर मंथन हो चुका है और केंद्रीय नेतृत्व से चर्चा के बाद विस्तार कर दिया जाएगा.

दरअसल इस बार मंत्रिमंडल विस्तार की अटकलें इसलिए तेज हुई हैं क्योंकि बुधवार सुबह मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वी डी शर्मा और संगठन महामंत्री सुहास भगत के बीच मंत्रालय में करीब घंटे भर तक मंत्रणा हुई. इस दौरान तीनों नेताओं ने मंत्रिमंडल के नामों को लेकर मंथन किया.माना जा रहा है कि प्रदेश स्तर पर मंत्रिमंडल के नाम फायनल कर लिए गए हैं. अब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जल्द ही दिल्ली दौरे पर जाएंगे और केंद्रीय नेतृत्व से चर्चा के बाद नामों पर अंतिम मुहर लग जाएगी.

ये भी पढ़ें-MP Weather Forecast : सियासी पारे में तप रहे ग्वालियर में आयी बरखा बहार, प्रदेश में 111 फीसदी ज़्यादा बारिश



मई से जारी है विस्तार की अटकलें
शिवराज मंत्रिमंडल विस्तार की अटकलें मई के पहले हफ्ते से ही जारी हैं. कयास लगाए जा रहे थे कि मई में ही मंत्रिमंडल का विस्तार हो जाएगा. लेकिन 19 जून को राज्यसभा चुनाव होने की वजह से विस्तार को टाल दिया गया. अब एक बार फिर राज्यसभा चुनाव पूरे होने के बाद यह कहा जा रहा है कि जल्द ही मंत्रिमंडल का विस्तार होगा. मंत्रिमंडल में जगह पाने के लिए दावेदारों की भी भोपाल से दिल्ली तक दौड़ जारी है.फिलहाल शिवराज मंत्रिमंडल में केवल 5 मंत्री शामिल हैं.

UNLOCK : अब शादी के लिए नहीं लेना होगी प्रशासन से इजाज़त, मैरिज गार्डन खुले

राज्यपाल हैं बीमार
मंत्रिमंडल विस्तार में फिलहाल एक समस्या राज्यपाल लालजी टंडन का अस्वस्थ होना है. राज्यपाल फिलहाल लखनऊ में हैं और एक निजी अस्पताल में अपना इलाज करवा रहे हैं. ऐसे में सवाल यह है कि आखिर राज्यपाल की मौजूदगी के बिना मंत्रिमंडल विस्तार कैसे होगा. इस बीच खबरें यह भी है कि हो सकता है छत्तीसगढ़ की राज्यपाल को मध्यप्रदेश का अतिरिक्त प्रभार दे दिया जाए और राज्यपाल लालजी टंडन के स्वस्थ होने तक वह प्रभारी राज्यपाल के तौर पर काम करें.

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading