COVID-19: कोरोना महामारी में लापरवाही को लेकर शिवराज सरकार सख्‍त, 2 अफसर किए सस्पेंड 
Bhopal News in Hindi

COVID-19: कोरोना महामारी में लापरवाही को लेकर शिवराज सरकार सख्‍त, 2 अफसर किए सस्पेंड 
अब दो से अधिक हथियार कोई व्यक्ति नहीं रख सकेगा.

कोरोना वायरस की महामारी के बीच लापरवाही बरतने के मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ( Shivraj Singh Chauhan) ने दो अफसरों को निलंबित करने के निर्देश जारी कर दिए हैं.

  • Share this:
भोपाल. कोरोना वायरस की महामारी (Coronavirus epidemic) में लापरवाह अफसरों के खिलाफ शिवराज सरकार अब एक्शन मोड़ पर आ गई है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ( Shivraj Singh Chauhan) ने आज दो अफसरों को निलंबित करने के निर्देश जारी कर दिए हैं. सागर जिले की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री ने जानकारी नहीं दे पाने पर सीएमएचओ को तत्काल निलंबित करने के निर्देश दिए. इसके अलावा नीमच जिले की समीक्षा में जावद में एक साथ कोरोना के मरीज बढ़ने के मामले पर सीएम ने खासी नाराजगी जताई. इस मामले में एसडीएम को निलंबित कर दिया गया. इसके अलावा सीएम ने नीमच कलेक्टर को पूरी सावधानी बरतने के भी निर्देश जारी किए हैं.

मुख्यमंत्री ने कहा है कि कोरोना महामारी मामले में किसी भी तरह की लापरवाही को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. सीएम ने अफसरों को जिले से कोरोना के कारण हुई हर एक मौत की डिटेल एनालिसिस रिपोर्ट मंगाने को कहा है. वहीं, सीएम शिवराज ने साफ शब्‍दों में कहा है कि इलाज में थोड़ी भी लापरवाही पर सख्त कार्रवाई होगी.

भोपाल में कोरोना मरीज मौत की जांच होगी
भोपाल के हमीदिया अस्पताल से 2 मरीजों को चिरायु अस्पताल के लिए रेफर किए जाने के मामले पर भी सरकार ने जांच के निर्देश दिए हैं. इस मामले में भोपाल एम्स की टीम जांच करेगी और लापरवाह अफसरों के मामले में सरकार को रिपोर्ट देगी. सरकार ने कल तक पूरे मामले में रिपोर्ट तलब की है. रिपोर्ट के आधार पर संबंधित के खिलाफ कार्रवाई होगी. दरअसल, राजधानी के हमीदिया अस्पताल से 2 मरीजों को कोरोना के इलाज के लिए चिरायु अस्पताल रेफर किया गया था, जिसमें से एक मरीज की मौत हो गई थी. इस मामले में शुरुआती तौर पर डॉक्टरों की लापरवाही सामने आई है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस बात के सख्त निर्देश दिए हैं कि कोरोना पीड़ित किसी मरीज का रेफर किए जाने के मामले को गंभीरता से लिया जाएगा.
संक्रमित क्षेत्रों में आंतरिक आवाजाही को रखें गंद


मुख्यमंत्री ने अफसरों को इस बात के निर्देश दिए हैं कि संक्रमित क्षेत्रों में आंतरिक आवाजाही को पूरी तरीके से बंद रखा जाए. वरना यह संक्रमण फैलाने का एक बड़ा कारण बन सकता है. साथ ही क्षेत्रों में गाइडलाइन के तहत प्रभावी नियंत्रण करने के भी निर्देश जारी किए हैं. मुख्यमंत्री ने प्रवासी मजदूरों को क्‍वारंटाइन करने और उनके स्वास्थ्य परीक्षण के भी निर्देश दिए हैं.

ये भी पढ़ें
COVID-19: Red Zone में शामिल इंदौर में 31 मई के बाद भी जारी रहेगा कर्फ्यू!
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज