बड़ी खबर: शिवराज सरकार 20-50 की तैयारी में, खराब परफॉर्मेंस और बीमार सरकारी कर्मचारी होंगे बाहर!

सामान्य प्रशासन विभाग फरफॉर्मेंस तय करने के लिए 4 श्रेणियां (कैटेगरी) तय की हैं.

सामान्य प्रशासन विभाग (GAD) ने 20-50 के फॉर्मूले का आदेश जारी कर दिया है. इसमें कहा गया है कि 20 साल की नौकरी और 50 साल की उम्र पार कर चुके कर्मचारियों का परफॉर्मेंस अब चेक किया जाएगा.

  • Share this:
भोपाल. सरकारी कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर. शिवराज सरकार (Shivraj government) 20-50 के फॉर्मूले पर अमल करने जा रही है. वो 20 साल की नौकरी और 50 साल की उम्र पार कर चुके कर्मचारियों का परफॉर्मेंस चेक करने जा रही है. सरकार सख्ती के मूड में है. जिन कर्मचारियों (employees) का परफॉर्मेंस ठीक है, उन्हें रखा जाएगा. खराब परफॉर्म करने वाले और मेडिकली अनफिट कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखाने की तैयारी है.

सामान्य प्रशासन विभाग ने 20-50 के फॉर्मूले का आदेश जारी कर दिया है. इसमें कहा गया है कि 20 साल की नौकरी और 50 साल की उम्र पार कर चुके कर्मचारियों का परफॉर्मेंस अब चेक किया जाएगा. जिन कर्मचारियों का परफॉर्मेंस ठीक नहीं है यानि सीआर नंबर 50 से कम है, उन्हें नौकरी से बाहर किया जा सकता है. इसी तरह जो कर्मचारी मेडिकली अनफिट हैं और एक बार इलाज के बाद भी अगर बार-बार पड़ रहे हैं तो उनका साल के अंत में चेकअप कराया जाएगा. ऐसे कर्मचारियों के पास 20 साल की नौकरी के बाद खुद रिटायरमेंट लेने का ऑप्शन रहेगा. अगर कर्मचारी खुद रिटायरमेंट नहीं लेते हैं तो 25 साल की नौकरी पूरी होते ही सरकार मेडिकल चेकअप करा कर कर्मचारियों को बाहर कर देगी.

3 की जगह 20 साल के CR पर फरफॉर्मेंस तय
शिवराज सरकार कोरोना महामारी के दौरान बिगड़ी राज्य की वित्तीय व्यवस्था के बाद कर्मचारियों से जुड़े 20-50 के फॉर्मूले पर सख्त दिख रही है. सीआर का नंबर गणित भी विभाग ने बदला है. बदले हुए गणित के हिसाब से कर्मचारी के नौकरी ज्वॉइन करने से लेकर 20 साल तक के उसके सीआर के अंक जोड़कर ही उसके कामकाज यानि परफॉर्मेंस का आंकलन होगा. यदि 50 नंबर से कम आए तो कर्मचारी की नौकरी खतरे में होगी. सीआर में 50 या उससे ऊपर नंबर लाने वाले सभी कर्मचारी सुरक्षित रहेंगे. अभी तक 3 साल की CR को ही परफॉर्मेंस में जोड़ा जाता था. इसे बढ़ाकर 20 साल कर दिया गया है.



4 कैटेगरी के लिए अलग-अलग नंबर
सामान्य  प्रशासन विभाग फरफॉर्मेंस तय करने के लिए 4 श्रेणियां (कैटेगरी) तय की हैं.
1- क (A) श्रेणी के लिए पांच नंबर
2-ख(B) कैटेगरी के लिए चार नंबर
3-ग (C) कैटेगरी के लिए तीन नंबर
4-घ (D) कैटेगरी के लिए दो नंबर

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.