लोकसभा चुनाव से पहले शिवराज सिंह चौहान बनाए गए उपाध्यक्ष
Bhopal News in Hindi

लोकसभा चुनाव से पहले शिवराज सिंह चौहान बनाए गए उपाध्यक्ष
शिवराज सिंह चौहान (फाइल फोटो)

शिवराज सिंह चौहान बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाए गए हैं. लोकसभा चुनाव से पहले पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने उन्हें ये नई ज़िम्मेदारी सौंपी है. राजस्थान की पूर्व सीएम वसुंधरा राजे और छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम रमन सिंह को भी उपाध्यक्ष नियुक्त किया गया है.

  • Share this:
शिवराज सिंह चौहान बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाए गए हैं. लोकसभा चुनाव से पहले पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने उन्हें ये नई ज़िम्मेदारी सौंपी है. राजस्थान की पूर्व सीएम वसुंधरा राजे और छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम रमन सिंह को भी उपाध्यक्ष नियुक्त किया गया है. पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अब नई पारी खेलेंगे. हालांकि विधान सभा चुनाव में पार्टी की हार के बाद उन्होंने कहा था कि वे राज्य की राजनीति छोड़ कर केंद्र की राजनीति में नहीं जाएंगे. उन्होंने कहा था कि मरते दम तक वे प्रदेश के लिए ही काम करेंगे.

शिवराज सिंह चौहान के लंबे और सफल राजनीतिक सफर में ये नया आयाम जुड़ने जा रहा है. फिलहाल वे सीहोर ज़िले की बुधनी सीट से विधायक हैं. उनका जन्म 5 मार्च 1959 को बुधनी में हुआ था. उनकी मां का नाम सुंदर बाई औऱ पिता का प्रेम सिंह है. शिवराज सिंह की शिक्षा भोपाल में हुई है. भोपाल के मॉडल स्कूल से उन्होंने हायर सैकेंड्री की पढ़ाई पूरी की और फिर यहीं बरकतउल्ला विश्वविद्यालय से फिलॉसफी में एमए किया.

ये भी पढ़ें - बीजेपी के आरोप पर सीएम कमलनाथ बोले - अभी कई ख़ुलासे करेंगे हम



शिवराज सिंह चौहान 29 नवंबर 2005 को पहली बार मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री बने. वे प्रदेश के 17 वें मुख्यमंत्री थे और उन्होंने बाबूलाल गौर की जगह ली थी. छात्र जीवन से ही उन्होंने राजनीति शुरू कर दी थी. मॉडल स्कूल में 1975-76 में वे छात्र संघ अध्यक्ष रहे. आपातकाल के विरोध के कारण दौरान उन्हे जेल भेज दिया गया.



उसके बाद 1977-1978 में उन्होंने अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ज्वाइन की और इसके विभिन्न पदों पर रहे. वे भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष रहे. शिवराज सिंह चौहान 1990 में पहली बार बुधनी विधानसभा क्षेत्र से विधायक बने. इसके बाद 1991 में विदिशा संसदीय क्षेत्र से पहली बार सांसद चुने गए. वे 1992 से  1994 तक बीजेपी के प्रदेश महासचिव रहे. 11 वीं लोकसभा में 1996 में वे विदिशा संसदीय क्षेत्र से फिर सांसद चुने गए. 1998 में विदिशा से ही तीसरी बार और 1999 में चौथी बार सांसद बने. 2004 में वे लगातार पांचवी बार सांसद चुने गए थे.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading