लाइव टीवी

शिवराज सिंह चौहान ने कमलनाथ सरकार से की बाढ़ पर श्वेत पत्र जारी करने की मांग

Anurag Shrivastav | News18 Madhya Pradesh
Updated: September 18, 2019, 2:51 PM IST
शिवराज सिंह चौहान ने कमलनाथ सरकार से की बाढ़ पर श्वेत पत्र जारी करने की मांग
शिवराज सिंह चौहान ने बाढ़ पर श्वेत पत्र जारी करने की मांग है

मंगलवार को गृहमंत्री बाला बच्चन ने कहा था कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का जन्मदिन मनाने के लिए सरकार सरोवर डैम को समय से पहले भरा गया इसलिए मध्य प्रदेश में बाढ़ आयी है

  • Share this:
भोपाल. बाढ़ से जूझ रहे (flood in mp) मध्य प्रदेश में विपक्ष अब सरकार से श्वेत पत्र (white paper)जारी करने की मांग कर रहा है. शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan)ने कहा है कि कमलनाथ सरकार श्वेत पत्र जारी करे जिसमें बांधों में पानी भरने से लेकर बाढ़ के हालात तक की पूरी जानकारी हो.
प्रदेश में बाढ़ पर सियासत चरम पर है. सरकार के मंत्री, केंद्रीय दल और विपक्ष के नेता बाढ़ पीड़ित इलाकों का दौरा कर रहे हैं. मालवा में बाढ़ के कारण हालात भयावह थे. यहां मंदसौर-नीमच में चंबल उफान पर आने के कारण बाढ़ आयी और बड़वानी में सरदार सरोवर डैम लबालब होने के कारण गांव डूब गए.
पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इस बाढ़ के लिए प्रकृति के बजाए सरकार को ज़िम्मेदारी ठहरा रहे हैं. उन्होंने कहा प्रशासन की लापरवाही के कारण मालवा और अन्य जगह बाढ़ आयी. शिवराज ने बांधों में पानी भरने और छोड़ने से लेकर बाढ़ के हालातों पर श्वेत पत्र जारी करने की मांग की है.शिवराज सिंह चौहान ने कहा- गांधी सागर डैम और कोटा बैराज से पानी छोड़ने के काऱण कि श्योपुर,मुरैना और दूसरे इलाकों में बाढ़ आ गयी. ये सीधे तौर पर शासन प्रशासन की चूक का नतीजा है.बीजेपी उपाध्यक्ष ने आरोप लगाया कि सरकार अपने संवैधानिक अधिकार को निभाने में फेल हो गयी है.

मालवा - चंबल में बाढ़

कांग्रेस का जवाब
शिवराज के श्वेत पत्र जारी करने की मांग पर कांग्रेस भी हमलावर है.प्रदेश के वित्त मंत्री तरुण भनोत ने कहा कि बूट पहन कर सियासत करना आसान है लेकिन बाढ़ के हालात काबू में आने पर ही सर्वे पूरा हो सकेगा.वित्त मंत्री ने कहा सरकार बाढ़ से निपटने के लिए पूरी मुस्तैदी से लगी है. केंद्र से भी राहत और बचाव के लिए जरूरी पैसा देने की मांग हो रही है.
पी सी बोले
Loading...

मंत्री पीसी शर्मा ने कहा है श्वेत पत्र क्यों, हम तो शिवराज सरकार में हुए घोटालों पर ब्लैक पेपर भी जारी करेंगे. सरकार न सिर्फ बाढ़ प्रभावितों को राहत देगी बल्कि केंद्र से भी मदद मांगेगी.
मालवा-चंबल में बाढ़
प्रदेश के मंदसौर,नीमच से लेकर चंबल के इलाकों में बाढ़ ने तबाही मचा रखी है. लेकिन राहत और बचाव कार्य से ज्यादा प्रदेश में बारिश और बाढ़ पर सियासत हो रही है.हजारों जिंदगियां अपना जीवन सामान्य होने की आस लगाए बैठी हैं.
कल मंत्री ने कहा था
इससे पहले मंगलवार को गृहमंत्री बाला बच्चन ने कहा था कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का जन्मदिन मनाने के लिए सरकार सरोवर डैम को समय से पहले भरा गया इसलिए मध्य प्रदेश में बाढ़ आयी है. जो डैम अपने स्वाभिवक तौर पर 30 सितंबर तक भरा जाना था उसे जल्दबाज़ी में 15 सितंबर को ही भर दिया गया.

ये भी पढ़ें-आसमान से बरसी आफत ने चौपट कर दी सोयाबीन की फसल, कर्ज़ में डूबे किसान

खंडवा में हिंदू-मुसलमान मिलकर बना रहे हैं गायों का अस्पताल

Shivraj Singh Chauhan demands Kamal Nat

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 18, 2019, 2:51 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...