• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • शिवराज ने MP सरकार को बताया 'सर्कस', कमलनाथ के मंत्री ने पलटवार करते हुए कही ये बात

शिवराज ने MP सरकार को बताया 'सर्कस', कमलनाथ के मंत्री ने पलटवार करते हुए कही ये बात

 सीएम चौहान ने कोरोना के संक्रमण से जूझ रहे 14 जिलों में सख्ती से लॉकडाउन का पालन करने के भी आदेश दिए हैं. (फाइल फोटो)

सीएम चौहान ने कोरोना के संक्रमण से जूझ रहे 14 जिलों में सख्ती से लॉकडाउन का पालन करने के भी आदेश दिए हैं. (फाइल फोटो)

दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) और ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया की मुलाकात को लेकर पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने निशाना साधते हुए कहा कि राजा और महाराजाओं के दरबार लगते हैं. हम तो आम इंसान हैं. इसके अलावा उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस सरकार सर्कस बन गई है.

  • Share this:
भोपाल. मध्‍य प्रदेश की सियासत में बयानों के जरिए एक दूसरे की घेराबंदी में करने में लगे राजनेता अब अपनी जुबां पर लगाम नहीं लगा पा रहे हैं. सूबे के सियासी माहौल के बीच सोमवार को पूर्व मुख्‍यमंत्री दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) और कांग्रेस के राष्‍ट्रीय महासचिव ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया की मुलाकात को लेकर पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने कांग्रेस पर निशाना साधा है. उन्‍होंने कहा कि राजा और महाराजाओं के दरबार लगते हैं. हम तो आम इंसान हैं. यकीनन कांग्रेस सरकार सर्कस बन गई है.

कमलनाथ के मंत्री ने किया पलटवार
पूर्व सीएम शिवराज ने मध्‍य प्रदेश सरकार को सर्कस बताया, तो बिना देर किए कांग्रेस सरकार के मंत्री उनके खिलाफ आ खड़े हुए. प्रदेश के मंत्री पीसी शर्मा ने शिवराज के बयान पर जवाब देते हुए कहा है कि शिवराज की नजरों में सरकार सर्कस है तो दिग्विजय सिंह और सिंधिया सर्कस के हीरो हैं, लेकिन कांग्रेस पार्टी और सरकार पर सवाल उठाने वाले नेता सर्कस के जोकर हैं.

सिंधिया की इस बात से मची हुई है हलचल
दरअसल, इन दिनों प्रदेश कांग्रेस में सिंधिया के बयान को लेकर खासी चर्चा है. उन्‍होंने हाल ही में कांग्रेस सरकार द्वारा वचन पत्र पर अमल नहीं करने पर सड़कों पर उतरने की बात कही थी. हालांकि बाद में सिंधिया ने कहा था कि कांग्रेस का वचन पत्र पांच साल के लिए है और लोगों को सब्र करना होगा. जबकि इस पूरे मामले को सिंधिया की अपनी ही सरकार से नाराजगी के तौर पर देखा जा रहा था. यही नहीं, सोमवार को गुना में सिंधिया और दिग्विजय की मुलाकात को भी इससे जोड़कर देखा जा रहा था, लेकिन दोनों नेताओं के बीच मुलाकात तो जरूर हुई लेकिन बंद कमरे में कोई चर्चा नहीं.

भाजपा सरकार पर है हमलावर
कांग्रेस के नेताओं की खींचतान के बीच विपक्ष सरकार पर हमलावर है. जबकि इसी के तहत पूर्व मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सरकार को सर्कस बता दिया. हालांकि कमलनाथ के मंत्री पीसी शर्मा ने उन्‍हें सर्कस का जोकर बता कर इस मामले को हवा दे दी है. जबकि दिग्विजय और सिंधिया की मुलाकात पर मंत्री पीसी शर्मा ने कहा है कि दोनों नेताओं के बीच की मुलाकात बताती है कि कांग्रेस में कहीं कोई गड़बड़ नहीं है और पूरी पार्टी एकजुट है. इसलिए अब अटकलों का बाजार खत्म होना चाहिए.



नीतियों को लेकर भाजपा ने सरकार को घेरा
बहरहाल, रेत नीति से लेकर शराब नीति तक के मामले में बीजेपी कांग्रेस को घेरने में लगी है. कांग्रेस के अंदर दिग्गज नेताओं के बीच मतभेद को लेकर इन दिनों प्रदेश का सियासी पारा गरम है, लेकिन अब नेताओं के बीच एक दूसरे को सर्कस और उसके किरदारों को लेकर नई सियासत छिड़ गई है. साफ है कि आने वाले दिनों में यह मामला और तेज होगा.

ये भी पढ़ें-

MP पुलिस में भर्ती होंगे 8000 कॉन्स्टेबल, इस महीने शुरू होगी प्रक्रिया



राम मंदिर ट्रस्ट बनाने पर दिग्विजय सिंह को ऐतराज़, PM मोदी को लिखी चिट्ठी

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज