MP में कोरोना विस्फोट के बीच राहत, ऑक्सीजन 267 मीट्रिक टन उपलब्ध, 16 को मिलेंगे 10 हजार इंजेक्शन

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने मंत्रियों के साथ बैठक की.

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने मंत्रियों के साथ बैठक की.

MP में एक बार फिर कोरोना विस्फोट हुआ है. नए आंकड़ों में भोपाल और इंदौर में सबसे ज्यादा कोरोना के नए सामने आए हैं. इंदौर में जहां 1552 संक्रमित मिले हैं, वहीं राजधानी भोपाल में 1456 नए प्रकरण सामने आए हैं.

  • Last Updated: April 14, 2021, 6:32 PM IST
  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश में एक बार फिर कोरोना विस्फोट (Corona infection) हुआ है. नए आंकड़ों में भोपाल और इंदौर में सबसे ज्यादा कोरोना के नए सामने आए हैं. इंदौर में जहां 1552 केस, वहीं भोपाल में 1456 नए प्रकरण सामने आए हैं. वहीं, कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) ने जिलों को निर्देश जारी किए हैं कि स्वास्थ्य सेवाओं के विस्तार के लिए हर संभव प्रयास करें. कोरोना से जुड़ी व्यवस्थाओं के लिए सरकार पैसे की कमी नहीं आने दी जाएगी. हालांकि इस बीच राहत वाली बात ये है कि प्रदेश में ऑक्सीजन 267 मीट्रिक टन उपलब्ध, 16 को मिलेंगे 10 हजार इंजेक्शन मिलेंगे. ये जानकारी खुद सीएम शिवराज सिंह चौहान ने दी.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने आज मंत्रिमंडल के सदस्यों और अफसरों के साथ बैठक कर कहा है कि जनता को स्वप्रेरणा से कंटेनमेंट क्षेत्र बनाने के लिए प्रेरित किया जाए. जन जागरण के जरिए ही संक्रमण की चेन को तोड़ा जा सकेगा. मुख्यमंत्री ने अपील की है कि बेवजह लोग घर से बाहर ना निकले. एक दो व्यक्ति बाहर जाकर सभी के लिए जरूरी सामान ले सकते हैं. सीएम ने मंत्रियों को अपने प्रभार के जिले में व्यवस्थाओं को सुधारने के लिए पूरी ताकत लगाने को कहा है.

Youtube Video


मुख्यमंत्री ने कहा है कि कोरोना से निपटने के लिए जरूरी बिस्तर ऑक्सीजन इंजेक्शन और दवाओं की व्यवस्था की गई है. ऑक्सीजन को लेकर सरकार लगातार केंद्र सरकार के संपर्क में मुख्यमंत्री ने कहा है कि वह प्रधानमंत्री गृह मंत्री समेत केंद्रीय मंत्रियों से लगातार संपर्क कर रहे हैं. ताकि ऑक्सीजन की उपलब्धता बनी रहे. सरकार ने दावा किया है कि 8 अप्रैल को प्रदेश में ऑक्सीजन की उपलब्धता 130 मीट्रिक टन थी, जो 12 अप्रैल में बढ़कर 267 मीट्रिक टन हो गई है.
16 अप्रैल तक 10 हजार इंजेक्शन और मिल जाएंगे 

मुख्यमंत्री ने कहा कि ऑक्सीजन के साथ-साथ रेमडेसीविर इंजेक्शन हमने जब से प्रयास प्रारंभ किया है, 31 हजार इंजेक्शन हमें प्राप्त हो गए हैं. 2 हजार आज आने वाले हैं, जबकि 16 अप्रैल को 10 हजार इंजेक्शन और मिलेंगे जिसके हमने ऑर्डर दिए हैं. जितने संभव उपाय है सभी किए जा रहे हैं. सारे देश में कोविड पैर पसार रहा है और इस लिए युद्ध स्तर पर काम करना जरूरी है. मुख्यमंत्री ने ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में सामान्य सर्दी जुकाम बुखार जैसी दवाओं के लिए किट देने की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं.

स्वास्थ्य अमले के रिटायरमेंट की अवधि बढ़ेगी



मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि डॉक्टर पैरामेडिकल स्टाफ के रिटायरमेंट की अवधि को बढ़ाया जाए. जो रिटायर हो गए हैं उन्हें संविदा नियुक्ति दी जाए. अस्पतालों में स्टाफ की पर्याप्त व्यवस्था होना चाहिए. मुख्यमंत्री ने अस्पतालों में इक्विपमेंट बढ़ाने के लिए निर्देश सीएम शिवराज ने आज जिलों की समीक्षा बैठक में कहा है कि बड़े अस्पतालों में लिक्विड ऑक्सीजन प्लांट और एयर सेपरेशन यूनिट लगाई जाए. हर जिले में सीटी स्कैन मशीन को भी लगाने के निर्देश दिए हैं.

1075 कॉल सेंटर को बनाया जाएगा प्रभावी

मुख्यमंत्री ने हर जिले में 1075 कॉल सेंटर को प्रभावी बनाने को कहा है कॉल सेंटर के जरिए जिलों में बिस्तरों की व्यवस्था की जानकारी मिल सकेगी. इसी कॉल नंबर के जरिए होम आइसोलेशन की मॉनिटरिंग भी की जाती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज