लाइव टीवी

संगठन के आगे झुके शिवराज सिंह चौहान, अब 22 के बजाए 20 को ही करेंगे प्रदर्शन

Sharad Shrivastava | News18 Madhya Pradesh
Updated: September 19, 2019, 2:47 PM IST
संगठन के आगे झुके शिवराज सिंह चौहान, अब 22 के बजाए 20 को ही करेंगे प्रदर्शन
शिवराज सिंह चौहान पहले 22 सितंबर को प्रदर्शन करने वाले थे

शिवराज सिंह चौहान ने कहा था कि अभी हम आग्रह कर रहे हैं. अगर सरकार आग्रह से नहीं मानी तो लोग अपनी फसलें लेकर सड़क पर आएंगे 22 सितंबर को 12 बजे एक घंटे के लिए सड़कों पर उतरेंगे

  • Share this:
भोपाल. कमलनाथ सरकार (KAMALNATH GOVERNMENT)के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के मामले में पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान (SHIVRAJ SINGH CHAUHAN)को बीजेपी संगठन (BJP)के आगे झुकना पड़ा है. अब वो भी सबके साथ 20 सितंबर को ही धरना-प्रदर्शन करेंगे. हालांकि वो 21 को फिर मंदसौर जाकर बाढ़ पीड़ित किसानों से मिलने के अपने फैसले पर कायम हैं.
शिवराज ने की तस्दीक
शिवराज सिंह चौहान ने एलान किया था कि वो बाढ़ पीड़ितों के समर्थन में कमलनाथ सरकार के खिलाफ 22 सितंबर को प्रदर्शन करेंगे. जबकि पार्टी पूरे प्रदेश में 20 सितंबर को प्रदर्शन करने वाली है. एक ही पार्टी में एक ही मुद्दे पर दो अलग-अलग दिन प्रदर्शन के एलान को आपसी दूरी के तौर पर देखा गया था. विधानसभा चुनाव में पार्टी की हार के बाद से शिवराज सिंह चौहान कई बार कई मुद्दों पर अलग-थलग पड़ चुके हैं.

मालवा औऱ चंबल में इस बार बाढ़ ने भारी तबाही मचायी


अब शिवराज सिंह चौहान ने खुद इस बात की तस्दीक की है कि वो 20 सितंबर को ही विधानसभा स्तर पर होने वाले पार्टी के विरोध प्रदर्शन में शामिल होंगे. हालांकि उन्होंने साफ किया कि वो 21 तारीख को मंदसौर दौरे पर जाएंगे और बाढ़ पीड़ितों से मुलाकात करेंगे.
ये था ऐलान
बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा कर रहे पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ऐलान किया था कि अगर 21 तारीख तक सरकार ने पीड़ितों की मदद नहीं की तो वो सरकार के खिलाफ 22 सितंबर को एक घंटे के लिए सड़कोंपर उतरकर प्रदर्शन करेंगे. इसके ठीक एक दिन बाद बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह की ओर से जारी स्टेटमेंट में कहा गया था कि बीजेपी 20 सितंबर को बाढ़ प्रभावित और किसानों के मुद्दे पर विधानसभा स्तर पर प्रदर्शन करेगी.
पहले भी शिवराज पड़ चुके हैं अकेले
साल 2018 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी की हार के बाद शिवराज सिंह चौहान ने संगठन की अनुमति के बिना मध्य प्रदेश में आभार यात्रा निकालने का ऐलान कर दिया था. इसे लेकर संगठन में नाराज़गी दिखी थी. नतीजा बाद में यात्रा स्थगित करनी पड़ी.
किसने क्या कहा था ?
बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने कहा था कि भारी बारिश और बाढ़ के कारण फसलों की तबाही पर सरकार के लचर रवैये के खिलाफ प्रदेश भर में विधानसभा स्तर पर 20 सितंबर को धरना प्रदर्शन किया जाएगा. हाल ही में मंदसौर, नीमच, निमाड़ और मालवा सहित अन्य स्थानों पर बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का जायजा लिया है. वहां हालात बेकाबू हैं और फसलें पूरी तरह तबाह हो चुकी हैं.
शिवराज सिंह
शिवराज सिंह चौहान ने कहा था कि अभी हम आग्रह कर रहे हैं. अगर सरकार आग्रह से नहीं मानी तो लोग अपनी फसलें लेकर सड़क पर आएंगे 22 सितंबर को 12 बजे एक घंटे के लिए सड़कों पर उतरेंगे. पूर्व सीएम ने कहा कि सरकार की ड्यूटी है कि वह संकट के समय जनता के साथ खड़ी रहे. अब शिवराज ने बयान बदलते हुए कहा है कि वो 20 तारीख को ही विधानसभा स्तर पर प्रदर्शन करेंगे. 21 को मंदसौर जाएंगे.

ये भी पढ़ें-दिग्विजय सिंह के खिलाफ मंदिरों के बाहर लगे पोस्टर, प्रवेश पर रोक की मांग

MP में हनी ट्रैप : इंदौर में एक अफसर की शिकायत पर हुई गिरफ़्तारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 19, 2019, 2:47 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर