• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • MP: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चाहौन ने बताया MAMA का नया मतलब, IAS टॉपर्स को दी ये नसीहत

MP: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चाहौन ने बताया MAMA का नया मतलब, IAS टॉपर्स को दी ये नसीहत

एमपी के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आईएएस टॉपर्स की क्लास ली और उनका सम्मान किया.

एमपी के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आईएएस टॉपर्स की क्लास ली और उनका सम्मान किया.

Madhya Pradesh: प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने IAS टॉपर्स से चर्चा की. उन्होंने उन्हें नसीहत भी दी. सीएम शिवराज ने नए अधिकारियों से कहा कि जितना हो सके जमीन से जुड़े रहना. ये मत सोचना कि मैं तो साहब बन गया. आईएएस का मतलब ही है समाज की सेवा करना.

  • Share this:

भोपाल. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने IAS टॉपर्स से संवाद किया. उन्होंने टॉपर्स को नसीहत भी दी कि यह मत सोच लेना कि मैं तो साहब बन गया. आप सभी को जनता की सेवा में जुटना है. इस जीवन में ऐसा काम करो कि हमेशा याद किए जाओ. इस मौके पर मुख्यमंत्री चौहान ने आप सभी मेरे भांजा-भांजियां हैं. मैं आपका मामा हूं. मामा का मतलब M- मेंटोर, A- अवेलेबल, M- मोबलाइजर और A- एफिनिटी है.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने IAS टॉपर्स की क्लास ली. उन्होंने कहा कि सिविल सर्विसेस में आए हैं इसका मतलब यही है कि लोगों के लिए काम करना है. यह मत सोचना कि मैं तो साहब बन गया हूं. मैं 15 सालों से प्रदेश का मुख्यमंत्री हूं. मैं जानता हूं कि तीन तरह के अधिकारी होते हैं. एक जो रुटीन का काम करते हैं. जितना आए उतना कर दो. दूसरे वो होते हैं जिन्हें काम रोकने में मजा आता है. नियम का, कानून का हवाला देकर काम अटकाते हैं. काम निकलवाने में ही लोगों को पसीना आ जाता है. तीसरे अधिकारी वो होते हैं जो नियम प्रक्रियाओं से आगे जाकर समस्या का समाधान निकालते हैं और काम करते हैं. हर समस्या का नियमों के दायरे में रहकर समाधान निकाल ही लेते हैं.

आप सभी अपनी जमीन कभी मत छोड़ना

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि आप सभी अपनी जमीन कभी मत छोड़ना. इतने बड़े अधिकारी बनने के बाद भी हमेशा जमीन पर ही रहना. माता-पिता का हमेशा सम्मान करना. सिद्धि साधना से ही प्राप्त होती है. जिन लोगों को इस बार सफलता नहीं मिली, उन्हें निराश होने की जरूरत नहीं है. जो कोशिश कर रहे हैं वो करते रहें. कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती. मध्यप्रदेश देश का दिल है लेकिन आप सभ ने देश का दिल जीत लिया है. मेरा सीना गर्व से चौड़ा हो गया है. एक साथ 38 युवाओं के चयनित होने पर प्रदेश ने नया रिकॉर्ड बनाया है. मैं गर्व से कह सकता हूं कि मध्य प्रदेश में बाकी संपदाओं के साथ प्रतिभा संपदा भी है. बड़े संघर्षों के बाद अभ्यर्थियों ने सफलता अर्जित की है.

यूपीएससी में पहली बार रिकॉर्ड 38 युवा चनयित

मध्य प्रदेश में पहली बार UPSC में रिकॉर्ड चयन हुआ है. संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा में इस बार मध्य प्रदेश से दोगुना से ज्यादा उम्मीदवारों को सफलता मिली है. इस बार प्रदेश के 38 उम्मीदवार सफल हुए. चयनित युवाओं का मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सम्मान किया और यूपीएससी की तैयारी कर रहे अभ्यर्थियों को सफलता के मंत्र दिए.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज