कांग्रेस में शामिल हुए शिवराज के साले संजय सिंह, 'जीजा' के खिलाफ लड़ सकते हैं चुनाव

संजय सिंह शनिवार को कांग्रेस में शामिल हुए

संजय सिंह शनिवार को कांग्रेस में शामिल हुए

संजय सिंह ने शिवराज सिंह चौहान और साधना पर गंभीर आरोप लगाए हैं. उन्होंने कहा कि वे लोग पूरी तरह से परिवारवाद में डूबे हुए हैं. उन्होंने कहा कि आज मध्य प्रदेश को शिवराज की नहीं नाथ की जरूरत है.

  • Share this:
मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस ने बीजेपी को बड़ा झटका दिया है. सीएम शिवराज सिंह चौहान की पत्नी साधना सिंह के भाई संजय सिंह ने कांग्रेस का दामन थाम लिया है. दिल्ली में कमलनाथ ने सिंह को पार्टी की सदस्यता दिलवाई. संजय सिंह के कांग्रेस में शामिल होते ही कयास लगाए जा रहे हैं कि वह बुधनी सीट पर अपने जीजा के खिलाफ चुनाव लड़ सकते हैं.



शिवराज सिंह चौहान और बीजेपी पर निशाना साधते हुए संजय सिंह ने कहा कि कामदारों को किनारे किया जा रहा है जबकि नामदारों को उतारा जा रहा है. बीजेपी की पहली सूची पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि जो कार्यकर्ता काम कर रहे हैं उन्हें किनारे कर नेताओं के भाई-भतीजों को टिकट दिया गया है. (इसे पढ़ें- मामा ने दिया झटका तो शिवराज के बेटे ने कहा- उनसे सिर्फ पारिवारिक रिश्ता!)



सिंह ने आरोप लगाया कि बीजेपी के लोग पूरी तरह से परिवारवाद में डूबे हुए हैं. उन्होंने कहा कि आज मध्य प्रदेश को शिवराज की नहीं नाथ की जरूरत है. आज जिस तरह से पूरे प्रदेश की स्थिति है उस देखते हुए हमने यह फैसला लिया है. कमलनाथ की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि छिंदवाड़ा में जो कमलनाथ ने किया वह काबिले तारीफ़ है. अब मध्य प्रदेश कमलनाथ के नाम से जाना जाएगा.





चुनावों से पहले शिवराज के खिलाफ यह कांग्रेस का यह बड़ा धमाका है. क्योंकि ऐसा माना जा रहा है कि संजय सिंह बिना शर्त पर कांग्रेस में नहीं आए होंगे. कयास यह भी लगाए जा रहे हैं कि संजय सिंह को शिवराज सिंह के सामने उनकी विधानसभा सीट बुधनी से उम्मीदवार बनाया जा सकता है.
बता दें कि संजय सिंह पहले अभिनेता भी रहे हैं. राजनीति में भी कभी-कभार ही सक्रिय नजर आते थे. हालांकि कांग्रेस उन पर निशाना साधती रही है. लेकिन अब कांग्रेस ने पूरी तरह समीकरण ही बदल दिया है.



यह पढ़ें- BJP में बागी सुर, कहीं तालाबंदी तो कहीं आडवाणी के सहारे अंजाम भुगतने की चेतावनी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज