अपना शहर चुनें

States

मध्यप्रदेश में अब फ़िल्म की शूटिंग होगी आसान, सिंगल विंडो पर मिलेंगी सारी सुविधाएं

मार्च 2020 से फिल्म टूरिज्म पॉलिसी लागू की गई है. इसके तहत फिल्ममेकर्स को सब्सिडी मिलेगी.
मार्च 2020 से फिल्म टूरिज्म पॉलिसी लागू की गई है. इसके तहत फिल्ममेकर्स को सब्सिडी मिलेगी.

पिछले कुछ वर्षों में फिल्म निर्माताओं की यकायक मध्य प्रदेश में फिल्म (Film shooting) की शूटिंग करने में दिलचस्पी बढ़ी है. कई बड़ी फिल्मों की शूटिंग यहां हुई है. एमपी की डिमांड बढ़ने के कारण अब टूरिज्म बोर्ड एक सिंगल विंडो सिस्टम तैयार कर रहा है

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश में फिल्म निर्माताओं (Film producers) की बढ़ती दिलचस्पी को देखते हुए शूटिंग आसान बनाने के लिए सरकार सिंगल विंडो सिस्टम तैयार कर रहा है.इस विंडों में फिल्ममेकर्स को प्रदेश में शूटिंग की लोकेशन से लेकर शूटिंग (shooting) की मंज़ूरी तक सब एक ही जगह मिल जाएगी.

पिछले कुछ वर्षों में फिल्म निर्माताओं की यकायक मध्य प्रदेश में फिल्म की शूटिंग करने में दिलचस्पी बढ़ी है. कई बड़ी फिल्मों की शूटिंग यहां हुई है. एमपी की डिमांड बढ़ने के कारण अब टूरिज्म बोर्ड एक सिंगल विंडो सिस्टम  तैयार कर रहा है. अभी यह सिस्टम प्रोसेस में है.इस सिस्टम में फिल्म मेकर्स को प्रदेश में शूटिंग की लोकेशन से लेकर तमाम सुविधा सुविधा एक प्लेटफॉर्म पर मुहैया हो जाएंगी. यानि कुल मिलाकर अब फिल्म शूटिंग मध्यप्रदेश में करना आसान होगा.

ऑनलाइन सिस्टम
सिंगल विंडो सिस्टम ऑनलाइन सिस्टम है, जो अंडर प्रोसेस है. इस सिस्टम में फिल्ममेकर्स को लोकेशंससे लेकर परमिशन और दूसरी जरूरत की सुविधा पोर्टल पर उपलब्ध रहेगी.अभी फिल्म या दूसरी शूटिंग करने की परमिशन में काफी दिक्कत आती है. यही कारण रहता है कि कई बार फिल्म मेकर प्रदेश में रुचि नहीं दिखाते.अब जल्द ही इससे भी निजात मिलने वाली है और यह प्रक्रिया भी सिंगल विंडो सिस्टम के जरिए आसान होने वाली है.
एक प्लेटफार्म पर मिलेंगी ये सुविधाएं...


-पोर्टल पर लोकेशंस से लेकर परमिशन और दूसरी जरूरत की सुविधा मौजूद रहेगी.
-मध्यप्रदेश के शूटिंग प्लेस, फोटोग्राफ्स, वीडियो और डिटेल्स
-प्रदेश के कलाकारों का डेटा बैंक.
-फिल्म टूरिज्म पॉलिसी में सब्सिडी का 20 लाख से 10 करोड़ तक का प्रावधान.

मार्च 2020 से पॉलिसी लागू
मार्च 2020 से फिल्म टूरिज्म पॉलिसी लागू की गई है. इसके तहत फिल्ममेकर्स को सब्सिडी मिलेगी. यही कारण है कि प्रदेश में शूटिंग के लिए रैकी करने आने वालों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है. हर महीने 8 से 10 फिल्म मेकर्स रैकी के लिए आ रहे हैं. फिल्म टूरिज्म पॉलिसी आने के बाद सब्सिडी मिलने से भी लगातार फिल्मों की शूटिंग में बढ़ी है.

शूटिंग के लिए फेवरेट लोकेशंस
-भोपाल, इंदौर, रायसेन, ओरछा, चंदेरी, पचमढ़ी, महेश्वर, मांडू, उज्जैन, ओंकारेश्वर, ग्वालियर, जबलपुर, अमरकंटक, पन्ना नेशनल पार्क, दतिया, बालाघाट, बैतूल.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज