अपना शहर चुनें

States

Sidhi बस हादसे के बाद MP कांग्रेस ने परिवहन मंत्री गोविंद राजपूत की तस्वीर के साथ उठाए सवाल

सीधी बस हादसे के बाद कांग्रेस ने एक के बाद एक कई ट्वीट किए.
सीधी बस हादसे के बाद कांग्रेस ने एक के बाद एक कई ट्वीट किए.

Sidhi bus accident : कांग्रेस नेता जीतू पटवारी (Jeetu patwari) ने भी ट्वीट कर परिवहन मंत्री पर निशाना साधा.उन्होंने ट्वीट कर लिखा-उधर शव निकल रहे हैं इधर परिवहन मंत्री मुस्कुरा रहे हैं.

  • Share this:
भोपाल. सीधी बस हादसे (Sidhi bus accident) के बाद कांग्रेस प्रदेश के परिवहन मंत्री गोविंद राजपूत पर हमलावर हो गई है. एमपी कांग्रेस ने अपने ट्विटर हैंडल से एक के बाद एक कई ट्वीट किए जिसमें कांग्रेस (Congress) ने परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत का एक फोटो भी शेयर किया है जिसमें राजपूत बस हादसे की घटना के बाद भोजन करते हुए नजर आ रहे हैं. कांग्रेस ने ट्वीट में लिखा उधर शव निकल रहे हैं इधर परिवहन मंत्री दावत छान रहे हैं.

कांग्रेस ने अपने एक ट्वीट में लिखा 38 सीटर बस में 54 से ज्यादा लोग सवार थे. इस अनदेखी के लिए परिवहन मंत्री जिम्मेदार नहीं हैं क्या. क्या सड़क खराब थी? राज मार्ग में ट्रैफिक जाम था और बस ओवरलोडेड थी. फिर भी मंत्री इस्तीफा नहीं देंगे?

एक के बाद एक कई ट्वीट
कांग्रेस नेता जीतू पटवारी ने भी ट्वीट कर परिवहन मंत्री पर निशाना साधा.उन्होंने ट्वीट कर लिखा-उधर शव निकल रहे हैं इधर परिवहन मंत्री मुस्कुरा रहे हैं.
मंत्री का जवाब


कांग्रेस के सीधी बस हादसे को लेकर परिवहन मंत्री को निशाना बनाने पर खुद मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने जवाब दिया. उन्होंने कहा-सीधी बस हादसे पर सरकार पूरी तरह गंभीर है. शव को निकालने और घायलों का इलाज कराने के निर्देश हैं. मृतकों के परिवार वालों को सरकार ने आर्थिक मदद का ऐलान किया है. पूरी घटना पर सरकार नजर बनाए हुए है. जो चूक हुई है उसकी जांच के बाद कार्रवाई होगी. परिवहन मंत्री ने कहा है कि बस हादसे जैसे गंभीर विषय पर विपक्ष का राजनीति करना ठीक नहीं है.

हादसों पर राजनीति ठीक नहीं
कांग्रेस के ट्विटर हैंडल से मंत्री राजपूत के भोजन करते हुए फोटो शेयर करने पर मंत्री परिवहन मंत्री ने कहा,वसंत पंचमी पर मंत्री अरविंद सिंह भदौरिया के निवास पर कार्यक्रम में शामिल हुआ था. सामान्य भोजन था इसे कांग्रेस पार्टी गलत तरीके से प्रचारित कर रही है. भविष्य में इस तरह के हादसे ना हो इसको लेकर भी सरकार कदम उठा रही है.लेकिन ऐसे गंभीर हादसों पर राजनीति करना ठीक नहीं. सीधी बस हादसे में 47 लोगों की मौत के आंकड़े के बाद सवाल कई तरह के उठ रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज