Home /News /madhya-pradesh /

कमलनाथ सरकार में हुए स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के टेंडर्स की जांच होगी, CM शिवराज बोले- फाइल निकालिए और...

कमलनाथ सरकार में हुए स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के टेंडर्स की जांच होगी, CM शिवराज बोले- फाइल निकालिए और...

bhopal. 1 दिन पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट की समीक्षा की थी.

bhopal. 1 दिन पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट की समीक्षा की थी.

Smart City Project : मध्य प्रदेश के 7 बड़े शहरों भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर, उज्जैन, रतलाम और सागर में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट (Smart City Project ) के तहत करोड़ों के निर्माण कार्य चल रहे हैं. 2019 में कमलनाथ सरकार के दौरान इन कार्यों के लिए जो टेंडर जारी किये गए थे उनमें धांधली के आरोप लग रहे हैं. शिवराज सिंह चौहान ने उनकी जांच के आदेश दिये हैं.

अधिक पढ़ें ...

भोपाल. मध्य प्रदेश (MP) के 7 बड़े शहरों में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट (Smart City) के करोड़ों रुपये के काम में धांधली की जांच की जाएगी. 2019 में हुए टेंडर की में धांधली की शिकायत के बाद सीएम शिवराज सिंह चौहान ने जांच का आदेश दिया है. ये सारे टेंडर तत्कालीन कमलनाथ सरकार के दौरान किये गए थे.

सीएम शिवराज सिंह ने स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के काम की समीक्षा के लिए बैठक बुलायी थी. इसमें करोड़ों रुपये के प्रोजेक्ट्स में बड़े पैमाने पर धांधली की जानकारी सामने आई है. स्मार्ट प्रोजेक्ट्स में निर्माण कार्यों में गड़बड़ी करने पर उन्होंने अफसरों को फटकार लगाई थी. उसके बाद सरकार एक्शन में आयी.

कमलनाथ सरकार में हुए टेंडर की जांच
प्रदेश के नगरीय प्रशासन मंत्री भूपेंद्र सिंह ने स्मार्ट सिटी के निर्माण कार्यों के ठेकों की जांच कराने का ऐलान किया है. उन्होंने कहा स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में कांग्रेस की तत्कालीन सरकार के समय बड़े पैमाने पर धांधली हुई हैं. अपनों को उपकृत करने के लिए कांग्रेस सरकार में मनमर्जी से ठेके दिए गए हैं और करोड़ों रुपए की बर्बादी हुई है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पूरे मामले में जांच के आदेश दिए हैं. जांच में गड़बड़ी करने वालों के खिलाफ एक्शन होगा.

ये भी पढ़ें-गायब हुआ तेंदुआ वन विभाग की महिला कर्मचारियों ने ढूंढ़ निकाला, यहां फरमा रहा था आराम
मुख्यमंत्री ने कहा-बंद पड़ी फाइलें निकालिए
1 दिन पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट की समीक्षा की थी. समीक्षा में जो हकीकत निकल कर सामने आई उसके बाद मुख्यमंत्री ने संबंधित विभाग और अफसरों को जमकर फटकार लगाई थी. मुख्यमंत्री ने कहा था कि मुझे आश्चर्य है स्मार्ट सिटी के कमरे बंद हैं. उन फाइलों को निकालिए जहां-जहां गलती हुई है. उसमें सुधार कीजिए. स्मार्ट सिटी का जो पैसा बचा हुआ है उसे उपयोगिता के आधार पर शहरों में खर्च किया जाए. मुख्यमंत्री ने कहा लापरवाही बिल्कुल नहीं चलेगी. स्मार्ट सिटी को लेकर अब सरकार प्राथमिकता तय करेगी और हर महीने प्रोजेक्ट की समीक्षा होगी.

PWD मंत्री ने उठाया था मुद्दा
प्रदेश के 7 बड़े शहरों भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर, उज्जैन, रतलाम और सागर में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत करोड़ों के निर्माण कार्य चल रहे हैं. इन निर्माण कार्यों को लेकर प्रदेश के लोक निर्माण मंत्री गोपाल भार्गव ने भी सवाल खड़े किए. अब मुख्यमंत्री की फटकार के बाद सरकार एक्शन मोड पर नजर आ रही है.

कांग्रेस भड़की
कांग्रेस सरकार में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में धांधली के आरोप पर कांग्रेस भड़क उठी है. पूर्व मंत्री डॉक्टर गोविंद सिंह ने कहा यदि कहीं कोई गड़बड़ी हुई है तो सरकार को जांच करानी चाहिए और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करना चाहिए. पूर्व मंत्री ने स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में बीजेपी सरकार में डिवेलप प्लॉट बेचने का आरोप लगाया. डॉक्टर गोविंद सिंह ने कहा बीजेपी सरकार सिर्फ बयानबाजी  के जरिए भ्रम फैला रही है. यदि कहीं कोई गड़बड़ी हुई है तो कानूनी कार्रवाई करना चाहिए लेकिन सरकार अपनी जिम्मेदारी से भाग रही है. लेकिन वो सिर्फ विपक्ष पर आरोप लगा रही है.

Tags: CM Shivraj Singh Chauhan, Kamal Nath government, Madhya pradesh latest news, Smart City Project

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर