लाइव टीवी
Elec-widget

कैबिनेट विस्तार की सुगबुगाहट के बीच बयानबाज़ी के बहाने मंत्री पद के लिए दावेदारी

Sharad Shrivastava | News18 Madhya Pradesh
Updated: November 14, 2019, 7:13 PM IST
कैबिनेट विस्तार की सुगबुगाहट के बीच बयानबाज़ी के बहाने मंत्री पद के लिए दावेदारी
मध्य प्रदेश में कैबिनेट विस्तार की अटकलें

अगले महीने विधानसभा (assembly) का शीतकालीन सत्र है, जो 17 दिसंबर से शुरू होकर 23 दिसंबर तक चलेगा. मंत्रिमंडल का विस्तार (Cabinet expansion) और फेरबदल उसके बाद हो सकता है.

  • Share this:
भोपाल.क्या एमपी (MP) में जल्द ही कैबिनेट विस्तार (Cabinet expansion) होने वाला है ? झाबुआ उपचुनाव (Jhabua by eelction) के बाद कांग्रेस (congress) नेताओं के बयानों ने इन संभावनाओं को और तेज़ कर दिया है. पहले लक्ष्मण सिंह (laxman singh) के बागी बोल और अब बिसाहूलाल (bisahulal singh) का सीधे तौर पर राजनीतिक षड्यंत्र का आरोप आखिर किस ओर इशारा कर रहे हैं.
तारीख़ का एलान नहीं
भले ही अभी किसी तारीख का ऐलान न हुआ हो लेकिन कांग्रेस नेताओं के बयानों ने एमपी में कैबिनेट विस्तार की अटकलों को तेज़ कर दिया है. पहले लक्ष्मण सिंह के बागी बोल और फिर बिसाहूलाल का का राजनीतिक षड्यंत्र का आरोप इशारा कर रहा है कि कैबिनेट में इन होने की रेस तेज़ हो चुकी है.
भूरिया की दावेदारी

दरअसल झाबुआ उपचुनाव के बाद एमपी में कमलनाथ कैबिनेट के विस्तार की संभावनाएं जताई जा रही थीं. उपचुनाव के दौरान कांतिलाल भूरिया को कांग्रेस ने संभावित मंत्री के तौर पर पर प्रोजेक्ट किया था. अब जबकि नतीजे कांग्रेस के पक्ष में हैं तो सवाल ये भी खड़े होने लगे हैं कि आखिर कैबिनेट में कौन इन, कौन आउट होगा ? इसी ज़ोर आजमाइश में कहीं लक्ष्मण रेखाएं लांघी जा रही हैं तो कोई गरीबों का राशन हड़पने की खबरों को षड्यंत्र करार दे रहा है. हालांकि संकेत साफ हैं कि जो भी बात करना हो सीधे सीएम से करें न कि सड़क पर.
लक्ष्मण ने लांघी रेखा
दिग्विजय सिंह के विधायक भाई लक्ष्मण सिंह लगातार सरकार विरोधी बयानबाज़ी करते आ रहे हैं. वो स्वयं को मंत्री पद का दावेदार मानते हैं. लेकिन सरकार गठन होने पर उन्हें मौका ना देकर कमलनाथ ने दिग्विजय सिंह के बेटे को कैबिनेट मंत्री बना दिया. बस तब से लक्ष्मण सिंह की बयानबाज़ी जारी है.
Loading...

1 रुपए में राशन
इस बीच पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री बिसाहूलाल गुमनामी से बाहर निकले और पीसीसी चीफ पद के लिए दावेदारी की चर्चा उठने लगी. इस बीच एक ख़बर आयी कि उनके नाम से 2003 से गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले लोगों के लिए दिया जाने वाला सरकारी राशन लिया जा रहा है. बिसाहूलाल ने इसे अपने ख़िलाफ षडयंत्र बता दिया.
विधानसभा सत्र के बाद विस्तार
अगले महीने विधानसभा का शीतकालीन सत्र है, जो 17 दिसंबर से शुरू होकर 23 दिसंबर तक चलेगा. मंत्रिमंडल का विस्तार और फेरबदल उसके बाद हो सकता है. मंत्री पद के दावेदार तब तक अपनी दावेदारी मज़बूत बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहते.

ये भी पढ़ें-छोटे भाई ने लांघी बयानों की 'लक्ष्मण' रेखा, तो बड़े भाई दिग्विजय ने दी नसीहत

PCC चीफ पद के इस दावेदार के नाम पर 1 रुपए में लिया जा रहा है गरीबों का राशन!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 14, 2019, 7:11 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...