Chhindwara : SDM से बुरे बर्ताव पर भड़का राज्य प्रशासनिक सेवा संघ, बेमियादी हड़ताल शुरू

चौरई में किसानों को मुआवजा दिलाने की मांग को लेकर यूथ कांग्रेस के आंदोलनरत नेता SDM सीपी पटेल से जब मिलने पहुंचे थे, तो ऐसा था बाहर का नजारा. (फाइल फोटो)
चौरई में किसानों को मुआवजा दिलाने की मांग को लेकर यूथ कांग्रेस के आंदोलनरत नेता SDM सीपी पटेल से जब मिलने पहुंचे थे, तो ऐसा था बाहर का नजारा. (फाइल फोटो)

प्रदर्शन के दौरान नारेबाजी करते हुए कांग्रेस नेताओं ने एसडीएम सीपी पटेल के चेहरे पर कालिख पोत दी थी. इस पूरे मामले से नाराज राज्य प्रशासनिक सेवा संघ के अफसरों ने आज से काम बंद शुरू कर दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 19, 2020, 6:15 PM IST
  • Share this:
भोपाल. प्रदेश में सरकारी सेवाओं पर कल से बुरा असर हो सकता है. राज्य प्रशासनिक सेवा संघ (State administrative service association) ने छिंदवाड़ा (Chhindwara) की घटना के विरोध में पूरे प्रदेश में अनिश्चितकालीन हड़ताल (Indefinite strike) शुरू कर दी है. राज्य प्रशासनिक सेवा संघ के 450 से ज्यादा अफसरों समेत तहसीलदार पटवारी और आरआई ने आज से काम बंद शुरू कर दिया है. छिंदवाड़ा में 2 दिन पहले कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन के दौरान चौरई के एसडीएम (SDM) सीपी पटेल के मुंह पर कालिख पोतने का काम किया था.

प्रदर्शन के दौरान किया था अभद्र व्यवहार

आपको याद दिला दें कि पूर्व विधायक चौधरी गंभीर सिंह और युवक कांग्रेस नेता बंटी पटेल के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने एसडीएम कार्यालय पर बाढ़ पीड़ित लोगों और किसानों को मुआवजा दिए जाने समेत कई मांगों को लेकर प्रदर्शन किया था. प्रदर्शन के दौरान नारेबाजी करते हुए कांग्रेस नेताओं ने एसडीएम सीपी पटेल के चेहरे पर कालिख पोत दी थी. इस पूरे मामले से नाराज राज्य प्रशासनिक सेवा संघ के अफसरों ने आज से काम बंद शुरू कर दिया है.



अफसरों को 3-1 गार्ड की सुरक्षा देने की मांग
राज्य प्रशासनिक सेवा संघ की महासचिव मालिका नागर ने कहा है कि छिंदवाड़ा की घटना को लेकर पूरे प्रशासनिक अफसरों में गुस्सा है. इसी के चलते अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू की गई है. संघ की मांग है कि छिंदवाड़ा एसडीएम के साथ हुए दुर्व्यवहार के मामले पर सभी संबंधित कार्यकर्ताओं के खिलाफ कार्रवाई हो. संघ ने राज्य सरकार से राज्य प्रशासनिक सेवा के अफसरों को 3-1 गार्ड की सुरक्षा व्यवस्था देने और मजिस्ट्रेट पावर वाले अफसरों को बत्ती सुविधा देने की मांग की है.

कोविड ड्यूटी कर रहे अफसर जारी रखेंगे अपनी सेवा

संघ के मुताबिक प्रशासनिक सेवा के अफसर पर इस तरीके से लोगों का गुस्सा बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है और इसी के चलते आज से अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू की गई है. राज्य प्रशासनिक सेवा के अफसर राजधानी में रैली निकालकर भी अपना गुस्सा जाहिर करेंगे. हालांकि राज्य प्रशासनिक सेवा संघ ने साफ किया है कि कोविड-19 से जुड़े कार्यों में लगे अफसर अपनी सेवाओं को जारी रखेंगे. बाकी सेवाओं पर प्रभाव पड़ेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज