लाइव टीवी

DGP पद की रेस में शामिल मैथिलीशरण गुप्ता ने सोशल मीडिया में कही ' अपने मन की बात'
Bhopal News in Hindi

Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: February 10, 2020, 11:17 AM IST
DGP पद की रेस में शामिल मैथिलीशरण गुप्ता ने सोशल मीडिया में कही ' अपने मन की बात'
मौजूदा डीजीपी (dgp) वी के सिंह से कमलनाथ सरकार नाराज है. यही कारण है कि यूपीपीएससी (upsc) से डीजीपी के लिए जो 3 नामों का पैनल आया था उसे सरकार ने खारिज कर दिया. अब सरकार नए सिरे से डीजीपी पद के लिए नाम भेजेगी

मौजूदा डीजीपी (dgp) वी के सिंह से कमलनाथ सरकार नाराज है. यही कारण है कि यूपीपीएससी (upsc) से डीजीपी के लिए जो 3 नामों का पैनल आया था उसे सरकार ने खारिज कर दिया. अब सरकार नए सिरे से डीजीपी पद के लिए नाम भेजेगी

  • Share this:
भोपाल.मध्यप्रदेश में नए DGP पद के दावेदारों में शामिल पुलिस रिफॉर्म्स के स्पेशल डीजी मैथिलीशरण गुप्ता (Maithilesharan Gupta) का सोशल मीडिया पर दर्द झलका है.उन्होंने वाट्सएप पोस्ट (whatsapp) कर डीजीपी (dgp) बनने की दावेदारी और अपनी मंशा को जाहिर किया है. गुप्ता की यह पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. इसमें गुप्ता ने खुद की काबलियत बताते हुए क्षमता का जिक्र किया है. यह पोस्ट गुप्ता ने कई पत्रकारों को भी पर्सनल वॉट्सएप नम्बर पर भेजी है.

ये गुप्ता की वॉट्सऐप पोस्ट
गुप्ता की अंग्रेजी में लिखी पोस्ट को देखें तो उन्होंने सरकार का ध्यान अपने नाम की तरफ खींचा है. उन्होंने लिखा 'मुझे लगता है कि सम्मानित पत्रकारों और अच्छे सम्मानित लोगों को मेरा नजरिया लोगों तक पहुंचाने के लिए आगे आना चाहिए ताकि लोग जनता को सेवा देने के तरीके और पुलिस को असली रक्षक और सहायक के तौर पर बदलने की मेरी क्षमता को समझ सकें. मैं खुद को पीड़ित के तौर पर पेश नहीं करना चाहता हूं.सरकार को मुझ पर भरोसा होना चाहिए कि मैं राज्य में पुलिस व्यवस्था को बदलने की क्षमता रखता हूं. अगर सरकार इसे समझने में असफल हो रही है तो मैं खुद को पीड़ित पक्ष की तरह पेश नहीं करना चाहूंगा. मैं राज्य की गरीब जनता की तकदीर बदलने के लिए काम करुंगा.'

डीजीपी के 3 नाम के पैनल में गुप्ता का नाम

UPSC से सरकार के पास आए 3 नामों के पैनल में 1984 बेच के IPS अफसर मैथिलीशरण गुप्ता का नाम शामिल था. लेकिन सरकार ने 3 नामों के पैनल को खारिज किया औऱ अब वह नया पैनल बनाकर UPSC को भेजेगी. इन 3 नामों में मैथिलीशरण गुप्ता के अलावा मौजूदा डीजीपी वीके सिंह और विवेक जौहरी का नाम शामिल है. विवेक जौहरी केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर हैं. ये तीनों अधिकारी 1984 बैच के हैं.

राजेन्द्र कुमार सरकार की पहली पसंद
मौजूदा डीजीपी वीके सिंह से कमलनाथ सरकार नाराज है. यही कारण है कि यूपीपीएससी से डीजीपी के लिए जो 3 नामों का पैनल आया था उसे सरकार ने खारिज कर दिया. अब सरकार नए सिरे से डीजीपी पद के लिए नाम भेजेगी. सूत्रों ने बताया है कि पैनल में शामिल मैथिलीशरण गुप्ता को सरकार डीजीपी नहीं बनाना चाहती है, जबकि वीके सिंह से सरकार कई मामलों को लेकर नाराज चल रही है. विवेक जौहरी केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर हैं. सरकार चाहती है कि 1985 बैच के आईपीएस अफसर राजेंद्र कुमार का नाम पैनल में शामिल कर यूपीपीएससी को भेजा जाए. क्योंकि यदि विवेक जौहरी का नाम यूपीपीएससी में नहीं जाता है तो राजेंद्र कुमार का नाम तीन नामों के पैनल में आ जाएगा. ऐसे में सरकार वी के सिंह, मैथिलीशरण गुप्ता और राजेंद्र कुमार में से किसी को भी डीजीपी बना सकती है. लेकिन सूत्रों का दावा है कि सीएम कमलनाथ की पहली पसंद हनी ट्रैप के एसआईटी चीफ राजेंद्र कुमार हैं. वो उन्हें ही डीजीपी बनाना चाहती है.ये भी पढ़ें-MP का खाली ख़ज़ाना भरने के लिए अर्थशास्त्री मोंटेक सिंह अहलूवालिया देंगे मंत्र

ई-टेंडर घोटाला: केंद्रीय एजेंसी बोली- EOW ने नहीं भेजा डाटा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 10, 2020, 11:08 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर