लाइव टीवी

कमलनाथ के इस मंत्री को मिल रही हैं खून से लिखी चिट्ठियां, ये है वजह

Sharad Shrivastava | News18 Madhya Pradesh
Updated: October 17, 2019, 2:44 PM IST
कमलनाथ के इस मंत्री को मिल रही हैं खून से लिखी चिट्ठियां, ये है वजह
चिट्ठियां मिलने के बाद कमलनाथ के मंत्री ने दिए निर्देश.

कमलनाथ सरकार (Kamal Nath Government) के पशुपालन मंत्री लाखन सिंह (Animal Husbandry Minister Lakhan Singh) को खून से लिखी चिट्ठियां मिल रही हैं. उन्‍हें ये चिट्ठियां मत्स्य विज्ञान कॉलेज जबलपुर (Fisheries College Jabalpur) के छात्रों की ओर 5 सूत्रीय मांगों को लेकर लिखी गई हैं.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश के पशुपालन मंत्री लाखन सिंह (Animal Husbandry Minister Lakhan Singh) को खून से लिखी चिट्ठियां मिल रही हैं. जी हां, उनके बंगले पर खून से लिखी चिट्ठियों का अंबार लग गया है. ये चिट्ठियां मत्स्य विज्ञान कॉलेज जबलपुर (Fisheries College Jabalpur) के छात्रों की ओर से लिखी गई हैं. छात्रों ने चिट्ठी में अपनी 5 सूत्रीय मांगों को लेकर पशुपालन मंत्री लाखन सिंह को अवगत कराया है. पोस्टकार्ड पर लिखकर भेजी गईं इन चिट्ठियों पर मंत्री के बंगले के पते के साथ खून से 'बीएफएससी ऑनली' लिखा गया है.

चिट्ठियां मिलने के बाद मंत्री ने दिए निर्देश
छात्रों की खून से लिखी चिट्ठियों पर मंत्री लाखन सिंह का कहना है कि चिट्ठियां मिलने के बाद उन्होंने संबंधित अधिकारियों को छात्रों की समस्या के समाधान के लिए निर्देशित किया है. जबकि बीजेपी ने छात्रों को खून से चिट्ठी लिखने की मजबूरी पर सरकार को घेरा है.

बीजेपी ने छात्रों द्वारा खून से चिट्ठी पर सरकार को घेरा है.


क्या हैं छात्रों की मांगें ?
>>मत्स्य महासंघ में सहायक प्रबंध के पदों के लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता केवल चार वर्षीय कोर्स BFSc किया जाए.
>>मत्स्य विभाग में मतस्य निरीक्षक और सहायक मत्स्य अधइकारी के लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता केवल चार वर्षीय कोर्स BFSc किया जाए.
Loading...

>>सहायक निदेशक पदों की भर्ती मध्य प्रदेश लोकसेवा आयोग द्वारा आयोजित हो और उसके लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता केवल BFSc/MFSc किया जाए.
>>मत्स्य विभाग में सहायक मत्स्य अधिकारी की सीधी भर्ती का कोटा फिर से 50% किया है.
>>मत्स्य विभाग और मत्स्य महासंघ के विभिन्न पदों के लिए की जाने वाली परीक्षा में केवल BFSc पाठ्यक्रम के ही सवाल पूछे जाएं.

ये भी पढ़ें-

क्‍या दिग्विजय सिंह का ये दावा बढ़ाएगा शिवराज की मुश्किलें?

करवा चौथ: 70 साल बाद बना शुभ संयोग, पहली बार व्रत रखने वाली महिलाओं को होगा फायदा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 17, 2019, 2:34 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...