बाहर फंसे छात्र, मजदूर शिवराज सिंह चौहान सरकार के टोल फ्री नंबर दर्ज करा सकेंगे शिकायत
Bhopal News in Hindi

बाहर फंसे छात्र, मजदूर शिवराज सिंह चौहान सरकार के टोल फ्री नंबर दर्ज करा सकेंगे शिकायत
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि, मोदी केवल एक नाम नहीं है. मोदी नाम में एक मंत्र छुपा है. (फाइल फोटो)

शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) सरकार ने मध्य प्रदेश के बाहर फंसे छात्रों (Student) और मजदूरों (Laborer) की घर वापसी के लिए शनिवार को टोल फ्री नंबर और पोर्टल जारी कर दिए.

  • Share this:
भोपाल. शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) सरकार ने मध्य प्रदेश के बाहर फंसे छात्रों (Student) और मजदूरों (Laborer) की घर वापसी के लिए शनिवार को टोल फ्री नंबर और पोर्टल जारी कर दिए. सरकार के टोल फ्री नंबर पर प्रदेश के बाहर फंसे छात्र और मजदूर अपनी जानकारी देकर घर वापसी की मांग कर सकते हैं. इसके अलावा सरकार ने पोर्टल भी जारी किया है जिसमें पंजीयन कर मजदूर और छात्र अपनी जानकारी दर्ज करा सकेंगे. उस जानकारी के आधार पर डाटा जुटाकर सरकार प्रदेश के बाहर फंसे छात्रों और मजदूरों की वापसी तय करेगी. गौरतलब है कि कोविड-19 (COVID-19) से निपटने के लिए देश भर में 17 मई तक लॉकडाउन लागू किया गया है. इसके कारण बहुत से प्रवासी मजदूर और छात्र अपने घर आने के लिए परेशान हैं.

ट्रेनों से लाए जाएंगे छात्र और मजदूर
इसके बाद सरकार रेल मंत्रालय से संपर्क कर प्रदेश के बाहर फंसे छात्रों और मजदूरों को वापस लाने का काम करेगी. सरकार की कोशिश है कि प्रदेश के बाहर लंबी दूरी में फंसे हजारों मजदूरों और छात्रों को लाने के लिए ट्रेन का सहारा लिया जाए और इसी को लेकर प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रेल मंत्री से चर्चा की. अब प्रदेश के अफसर इस बात की जानकारी जुटा रहे हैं कि कितने छात्र और कितने मजदूर किस राज्य में कौन से जिले में फंसे हैं और उनका नजदीकी स्टेशन कौन सा है.

घर वापसी का अभियान शुरू किया जाएगा: तुलसीराम सिलावट



प्रदेश के मंत्री तुलसीराम सिलावट का कहना है कि सरकार को लगातार इस बात की शिकायत मिल रही है कि प्रदेश के बाहर असम, गोवा, हरियाणा, पंजाब, उत्तर प्रदेश और बिहार में हजारों छात्र और मजदूर अभी भी फंसे हुए हैं, जिनकी संख्या एक लाख से ज्यादा हो सकती है. सरकार उन सभी की वापसी सुनिश्चित करने की कवायद में जुटी हुई है. मंत्री सिलावट के मुताबिक, दूसरे प्रदेश के हजारों छात्र और मजदूर एमपी में फंसे हुए हैं. इंदौर में दूसरे राज्यों के सबसे ज्यादा छात्र अभी भी मौजूद हैं. उनकी घर वापसी के लिए भी प्रदेश सरकार लगातार प्रयास कर रही है. पूरी जानकारी जुटाने के बाद रेल मंत्रालय से बात कर सभी की घर वापसी का अभियान शुरू किया जाएगा.



इस टोल फ्री नंबर और पोर्टल पर कराएं पंजीकरण
मध्य प्रदेश सरकार के टोल फ्री नंबर 0755-2411180 पर दूसरे राज्यों में फंसे छात्र और मजदूर अपनी जानकारी दर्ज कर सकेंगे. इसके अलावा पोर्टल https://mapit.gov.in/covid-19/ पर एमपी में अपने घर आने के इच्छुक छात्र और मजदूर अपना पंजीयन करा सकेंगे. प्रदेश सरकार का दावा है कि अब तक दूसरे राज्यों में फंसे करीब 40 हजार मजदूरों की घर वापसी हो चुकी है और अब उन मजदूरों की वापसी सुनिश्चित की जा रही है, जो अभी भी दूसरे राज्यों में फंसे हुए हैं.

ये भी पढ़ें - 

COVID-19: आईआईटी कानपुर ने बनाया कोरोना वायरस को मारने वाला मास्क

पीएम केयर फंड के लिए 100-100 रुपए वसूलने पर प्रियंका ने CM पर साधा निशाना 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading