लाइव टीवी

भोपाल के हमीदिया अस्पताल में पहली बार कोरोना मरीज का सफल ऑपरेशन, मरीज पूरी तरह स्वस्थ
Bhopal News in Hindi

Puja Mathur | News18Hindi
Updated: May 21, 2020, 8:41 PM IST
भोपाल के हमीदिया अस्पताल में पहली बार कोरोना मरीज का सफल ऑपरेशन, मरीज पूरी तरह स्वस्थ
(सांकेतिक फोटो)

गीता के पति को हेड इंजरी के कारण कुछ दिन तक हमीदिया हॉस्पिटल (Hamidia Hospital) में वेंटिलेटर पर रहना पड़ा. चोट बेहद गंभीर थी इसलिए इलाज कर उन्हें बचाया नहीं जा सका.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) की राजधानी भोपाल के हमीदिया अस्पताल में आज कोरोना के मरीज (Corona Patient) का पहला ऑपरेशन किया गया. ये ऑपरेशन (Operation) कोरोना मरीज के दाहिने बाजू का हुआ जो कि सफल रहा. 38 साल की गीता मुंबई के नालंदा नगर का रहने वाली है. हमीदिया अस्पताल में गीता की कोरोना टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी जिसके बाद गीता का ट्रीटमेंट चल रहा था. दरअसल, गीता के पति अनिल चौरसिया पेशे से टैक्सी ड्राइवर थे और 12 मई को पूरा परिवार टैक्सी द्वारा मुंबई से अपने मूल निवास इलाहाबाद जा रहा था. तभी राहतगढ़ सागर के नजदीक ट्रक से पूरे परिवार का एक्सीडेंट हो गया. एक्सीडेंट (Accident) होने के बाद सागर जिला हॉस्पीटल में सभी को भर्ती किया गया.

अनिल चौरसिया के सिर में गंभी चोट होने से उन्हे हमीदिया अस्पताल भोपाल में रेफर किया गया. अस्पताल पहुंचने पर सबका कोरोना टेस्ट हुआ. पति,पत्नी और दोनों बच्चे टेस्ट में कोरोना पॉजिटिव पाए गए. गीता के पति को हेड इंजरी के कारण कुछ दिन तक हमीदिया हॉस्पिटल में वेंटिलेटर पर रहना पड़ा. चोट बेहद गंभीर थी इसलिए इलाज कर उन्हें बचाया नहीं जा सका.

ऑपरेशन की थी जरूरत
वहीं, गीता के दाहिने बाजू की हड्डी हुमेरूस में फ्रैक्चर था जिसे ऑपरेशन की जरूरत थी. ऑपरेशन ना होने के कारण हाथ की स्थिति बिगड़ सकती थी. गुरूवार यानी 21 मई को गीता की बांह का ऑपरेशन हमीदिया अस्पताल में किया गया. हुमेरूस का ओपन रिडक्शन करके प्लेट से फिक्स किया गया.



ये थी डॉक्टरों की टीम


गीता का ऑपरेशन अस्थि रोग विभाग के प्राध्यापक डॉ. आशीष गोहिया और उनकी टीम ने किया. उनकी टीम में अस्थि रोग विभाग से डॉ. संतोष मिश्रा, डॉ अमोल दुबेपुरिया और डॉक्टर अनिल बदूके रहे. वहीं निश्चेतना विभाग से डॉ. ज्योत्सना कुबरे ने मिलकर ऑपरेशन में सहयोग दिया. डॉक्टरों की टीम ने संक्रमण विरोधी सभी दिशा निर्देशों के साथ पीपीई किट पहन कर ये ऑपरेशन किया. इस दौरान सभी निर्देशों का पूरा पालन किया गया. शासन के नए दिशा निर्देशों के तहत किसी भी प्रकार के क्वारेंटाइन की डॉक्टरों को आवश्यकता नहीं बताई गई है जिसके कारण पूरी टीम आगे भी अपनी ड्यूटी यथावत तरीके से करेगी. किसी भी ऑपरेशन करने वाले सदस्य को घर या हॉस्पिटल में क्वारेंटाइन नहीं होना पड़ेगा. सभी आराम से अपने निवास पर रह सकते हैं. अच्छी बात ये है की ऑपरेशन के बाद मरीज भी पूरी तरह से स्वस्थ है.

ये भी पढ़ें: Lockdown के बीच शिवराज सरकार ने दी राहत, सैलून खोलने के लिए जारी की गाइडलाइन
First published: May 21, 2020, 8:41 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading