• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • ...जब लाचार पिता के एक ट्वीट पर सुषमा ने खोले थे मदद के दरवाजे और नवजात की बची जान

...जब लाचार पिता के एक ट्वीट पर सुषमा ने खोले थे मदद के दरवाजे और नवजात की बची जान

...जब लाचार पिता के एक ट्वीट पर सुषमा ने खोले थे मदद के दरवाजे और नवजात की बची जान (फाइल फोटो)

...जब लाचार पिता के एक ट्वीट पर सुषमा ने खोले थे मदद के दरवाजे और नवजात की बची जान (फाइल फोटो)

सुषमा स्वराज के सिर्फ एक ट्वीट पर भोपाल के 2 दिन के हृदय रोगी नवजात के इलाज के लिए उसे एयर एम्बुलेंस की मदद से दिल्ली के एम्स तक पहुंचाया था.

  • Share this:
    मदद के लिए बढ़े हाथ को हमेशा थामने वाली सुषमा स्वराज सोशल मीडिया पर सबसे एक्टिव नेता थी. सोशल मीडिया पर उनके करीब 1 करोड़ 31 लाख लोग फॉलोवर थे. ट्विटर के जरिए लोगों की मदद करने को लेकर अपनी एक खास छवि बनाने वाली सुषमा स्वराज ने विदेश मंत्री रहते हुए दो दिन के नवजात शिशु की मदद की पेशकश की थी. दरअसल, मध्य प्रदेश के भोपाल में जन्मे 2 दिन के नवजात को हृदय रोग था. तब भोपाल के सॉफ्टवेयर इंजीनियर देवेश कुमार शर्मा ने ट्विटर पर भोपाल के एक अस्पताल में जन्मे अपने शिशु का फोटो शेयर कर लिखा था कि उसे हार्ट सर्जरी की जरूरत है.



    इसके बाद सुषमा स्वराज ने ट्विटर पर मदद की अपील का जवाब देते हुए एक ट्वीट कर कहा कि "उन्होंने बच्चे के परिवार से संपर्क किया है और अपने भोपाल कार्यालय के जरिए मेडिकल रिपोर्ट हासिल की है. एम्स के कार्डिक सर्जरी प्रमुख डॉ. बलराम ऐरन ने शीघ्र सर्जरी की सलाह दी है. हम एम्स दिल्ली में शिशु की सर्जरी की व्यवस्था कर सकते हैं. परिवार को फैसला करना है.’’





    सिर्फ एक ट्वीट ने बचा ली नवजात की जिंदगी

    आपको बता दें कि यह किस्सा बीते 25 जनवरी साल 2017 का है. जब भोपाल में एक नवजात बच्चे के दिल में छेद होने के कारण उसकी जान पर खतरा मंडरा रहा था. तब सुषमा स्वराज ने न केवल उसके इलाज का प्रबंधन किया बल्कि उसे एयर एम्बुलेंस की मदद से दिल्ली के एम्स तक पहुंचाया था. यह सब सिर्फ एक ट्वीट से हुआ था.

    भोपाल के सॉफ्टवेयर इंजीनियर देवेश कुमार शर्मा ने इस किस्से को याद करते हुए बताया कि उनके नवजात बेटे के दिल में छेद था. भोपाल के डॉक्टरों ने एक दिन के बच्चे का ऑपरेशन करने से साफ मना कर दिया था. इसके बाद उन्होंने सुषमा स्वराज को ट्वीट किया, जिस पर उन्होंने बिना देर किए ही एम्स दिल्ली पहुंचाने के लिए न केवल एयर एंबुलेंस का इंतजाम कराया बल्कि वहां इलाज की पूरी व्यवस्था भी करवा दीं. आज उनका बेटा पूरी तरह से स्वस्थ है. वहीं सुषमा स्वराज के निधन से दुखी हूं.

    ये भी पढ़ें:- जब पाकिस्तान से लौटी गीता के लिए मां बनी सुषमा स्वराज...

    ये भी पढ़ें:- राजनीति में महिलाओं के लिए प्रेरणा स्रोत हैं सुषमा स्वराज

     

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज