सुर्खियों में छाई 'टीम कमलनाथ', एक साथ 28 को बनाया कैबिनेट मंत्री

कमलनाथ कैबिनेट
कमलनाथ कैबिनेट

Kamalnath Cabinet: शपथ ग्रहण समारोह मंगलवार दोपहर बाद तीन बजे राजभवन में हुआ. राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने सभी नए मंत्रियों को शपथ दिलाई. इस दौरान मुख्यमंत्री कमलनाथ भी मौजूद रहे

  • Share this:
मध्य प्रदेश की नई सरकार ने अपना कैबिनेट गठन कर लिया है. सभी 28 विधायकों ने कैबिनेट मंत्री पद की शपथ ली है. शपथ ग्रहण समारोह मंगलवार दोपहर बाद तीन बजे राजभवन में हुआ. राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने सभी नए मंत्रियों को शपथ दिलाई. इस दौरान मुख्यमंत्री कमलनाथ भी मौजूद रहे.

जिन 28 विधायकों ने मंत्रिपद की शपथ ली है उनमें डॉ गोविंद सिंह, आरिफ अकील, बृजेंद्र सिंह राठौर, सज्जन सिंह वर्मा, बाला बच्चन, लखन सिंह यादव, विजय लक्ष्मी साधौ, हुकुम सिंह कराड़ा, तुलसीराम सिलावट, गोविंद राजपूत, ओमकार मरकाम, सुखदेव पांसे, प्रभु राम चौधरी, जयवर्धन सिंह, हर्ष यादव, कमलेश्वर पटेल, लखन घनघोरिया, तरुण भनोट, पीसी शर्मा, सचिन यादव, सुरेंद्र सिंह बघेल, जीतू पटवारी, उमंग सिंघार, प्रद्युमन तोमर, प्रदीप जायसवाल, महेंद्र सिंह सिसोदिया, इमरती देवी, प्रियव्रत सिंह शामिल हैं.

दैनिक भास्कर का शीर्षक है, 'कमलनाथ की टीम 28'. इसमें जिक्र है कि लंबे इंतजार के बाद कमलनाथ सरकार ने मंगलवार को शपथ ले ली है. राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने राजभवन में 28 कैबिनेट मंत्रियों को शपथ दिलाई. पहली बार प्रदेश में सभी कैबिनेट मंत्री बने हैं. मंत्रिमंडल में सबसे पहले वरिष्ठ सदस्य के हिसाब से विजयलक्ष्मी साधौ ने शपथ ली.



वहीं अखबार ने यह खबर भी प्रमुखता से छापी है जिसमें मंत्री नहीं बनने से सपा और बसपा नाराज है. इसके अलावा निर्दलीय विधायक भी नाराज हैं. इसमें जिक्र है कि सरकार गठन में किंगमेकर की भूमिका निभाने वाले तीन निर्दलीयों और बसपा-सपा के विधायकों का मंत्री बनने का सपना टूट गया. हालांकि कमलनाथ से बातचीत में उन्होंने पद देने को लेकर आश्वस्त किया है.
नवदुनिया लिखता है, 'टीम कमलनाथ: पहली बार सभी 28 कैबिनेट मंत्री'. इसमें जिक्र है कि 32 वर्षीय जयवर्धन सबसे युवा मंत्री, एक निर्दलीय, दो महिलाओं व एक मुस्लिम विधायक को मिला मौका, मालवा-निमाड़ को तवज्जो.कमलनाथ ने मंत्रिमंडल गठन में क्षेत्रीय, जातीय और गुटीय संतुलन बनाने की भरसक कोशिश की है.

दैनिक जागरण का शीर्षक है, 'कमलनाथ का कमाल: एक साथ 28 को बनाया कैबिनेट मंत्री'. मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के आठ दिन बाद कमलनाथ ने मंगलवार को अपने मंत्रिमंडल का गठन करते हुए 28 मंत्रियों को अपने कुनबे में शामिल किया.

अजय सिंह और सुरेश पचौरी की अनुपस्थिति चर्चा का विषय
अखबार की यह खबर ध्यान खींचती है. शपथ ग्रहण समारोह में पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह, वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचौरी की अनुपस्थिति खासी चर्चा में रही. चर्चा इस बात की थी कि विंध्य से अजय सिंह की पसंद के किसी विधायक को मंत्रिमंडल में शामिल न किए जाने से वे नाराज हैं.

भोपाल से प्रकाशित पत्रिका ने तो बाकायदा मंत्रियों के संभावित विभागों का भी जिक्र कर दिया है. अखबार लिखता है जयवर्धन को वित्त, बाला बच्चन को मिल सकता है गृह मंत्रालय. इसमें लिखा है कि सूत्रों के अनुसार बाला बच्चन को गृह, जेल औउर परिवहन और जयवर्धन सिंह को वित्त जैसे अहम विभाग दिया जा सकता है. जयवर्धन ने कोलंबिया विश्वविद्यालय से माइक्रो फायनेंस में एमबीए किया हुआ है. उधर सज्जन सिंह वर्मा और तरुण भनोट के बीच नगरीय प्रशासन और लोक निर्माण विभाग को लेकर खींचतान बताई जा रही है.

IAS अफसरों का तबादला, 7 कलेक्टर और 2 नगर-निगम कमिश्नर हटाए
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज