उपचुनाव से पहले सीएम हाउस में टीम शिवराज की पहली बैठक, इस मुद्दे पर रहा फोकस
Bhopal News in Hindi

उपचुनाव से पहले सीएम हाउस में टीम शिवराज की पहली बैठक, इस मुद्दे पर रहा फोकस
सीएम हाउस में अहम बैठक हुई.

चुनाव आयोग (Election Commission) ने संकेत दिए है कि कभी भी मध्य प्रदेश उपचुनाव (Madhya Pradesh By Election) की तारीखों का ऐलान किया जा सकता है. इसके बाद आचार संहिता प्रभावी हो जाएगी. 

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश में होने वाले उपचुनाव (MP By Election) से पहले सीएम हाउस में मुख्यमंत्री शिवराज की मंत्रियों के साथ पहली अहम बैठक हुई. बैठक में उपचुनाव की रणनीति के साथ पीएम मोदी के दौरे पर खास फ़ोकस रहा. बैठक में मध्य प्रदेश में आत्मनिर्भर भारत, पीएम आवास स्कीम, स्ट्रीट वेंडर स्कीम और राशन वितरण पर चर्चा हुई सभी मंत्रियों को मुख्यमंत्री ने प्रदेश भर में कार्यक्रम आयोजन की जिम्मेदारी दी है. पीएम मोदी (PM  Narendra Modi) 9 सितंबर को स्ट्रीट वेंडर लोन स्कीम और 12 सितंबर को पीएम आवास गृह प्रवेश कार्यक्रम में वर्च्युअल तरीके से जुड़ेंगे. कार्यक्रम के पहले मंत्रियों को तैयारी सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है. बैठक के दौरान ये भी तय किया गया कि उपचुनाव वाली सीटों पर किस तरह सरकार की योजनाओं का प्रचार प्रसार किया जाएगा. जल्द ही सीएम शिवराज के भी चुनावी दौरे शुरू किए जाएंगे.

कल बीजेपी में मंथन

सीएम हाउस में होने वाली मंत्रियों की यह बैठक इसलिए भी महत्वपूर्ण मानी जा रही है क्योंकि रविवार को बीजेपी प्रदेश मुख्यालय में 27 सीटों के उपचुनाव को लेकर एक अहम बैठक होने जा रही है. इस बैठक में भी सभी मंत्री विधायक और सांसदों को बुलाया गया है. बैठक में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा संगठन महामंत्री सुहास भगत और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान खुद भी शामिल होंगे. यह बैठक भी आने वाले उप चुनाव की रणनीति के लिहाज से बुलाई गई है.



ये भी पढ़ें: Ex CM भूपेंद्र सिंह हुड्डा का खट्टर सरकार से सवाल, बेरोजगारी में हरियाणा नंबर-1 कैसे बना?
चुनाव तारीखों का ऐलान बाकी

सीएम हाउस और बीजेपी में बैठकों के यह दौर इसलिए भी तेज हो रहे हैं क्योंकि एक दिन पहले ही चुनाव आयोग ने इस बात के संकेत दे दिए हैं कि मध्य प्रदेश में चुनाव तारीखों का ऐलान कभी भी किया जा सकता है. दिल्ली में हुई एक अहम बैठक के बाद चुनाव आयोग ने कहा था कि देश में होने वाले सभी सीटों के उपचुनाव बिहार के विधानसभा चुनाव के साथ ही कराए जाएंगे. बिहार विधानसभा के चुनाव 29 नवंबर से पहले कराया जाना अनिवार्य है. ऐसे में यह तय है कि उपचुनाव जिन 27 सीटों पर मध्य प्रदेश में होना है उन पर भी 29 नवंबर से पहले पूरे हो जाएंगे, यानी कि चुनाव की आचार संहिता कभी भी प्रभावी हो सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज