अमिताभ बच्चन के साथ कौन बनेगा करोड़पति खेल चुकी तहसीलदार ने कहा-ऐसी व्यवस्था से घिन आती है

श्योपुर तहसीलदार अमिता सिंह तब लोगों की पहचान में आयी थीं जब वो कौन बनेगा करोड़पति के सीजन 2011 में सलेक्ट हुई थीं.

Sharad Shrivastava | News18 Madhya Pradesh
Updated: August 12, 2019, 11:02 AM IST
अमिताभ बच्चन के साथ कौन बनेगा करोड़पति खेल चुकी तहसीलदार ने कहा-ऐसी व्यवस्था से घिन आती है
अमिता सिंह
Sharad Shrivastava | News18 Madhya Pradesh
Updated: August 12, 2019, 11:02 AM IST
श्योपुर की तहसीलदार अमिता सिंह फिर सुर्ख़ियों में हैं. लेकिन इस बार वो अमिताभ बच्चन के साथ हॉट सीट पर बैठने के कारण चर्चा में नहीं हैं. बल्कि इस तेज़तर्राज महिला अफसर ने सीधे-सीधे प्रशासनिक व्यवस्था पर उंगली उठा दी है. अमिता सिंह ने कहा है कि पूरा सिस्टम भ्रष्ट है.

श्योपुर की तहसीलदार अमिता सिंह ने सोशल मीडिया पर अपने मन की बात पोस्ट कर दी. इसका शीर्षक ही उन्होंने ऐसा दिया जो विवाद पैदा कर दे. चाटुकारिता और भ्रष्टाचार बनाम शासकीय सेवा शीर्षक से लिखी अपनी पोस्ट में अमिता सिंह ने नायब तहसीलदारों को भ्रष्ट कहा. उन्होंने आगे लिखा कि ऐसी व्यवस्था से घिन आती है.
कलेक्टर पर सवाल
अमिता सिंह ने अपनी पोस्ट में श्योपुर कलेक्टर के कामकाज को लेकर भी सवाल उठाए. उन्होंने साफ-साफ लिखा कि हम जैसे वरिष्ठ तहसीलदारों को परे हटाकर नए नए साहबानों को मुख्यालय में तहदीलदारों के पद से नवाज़ा जा रहा है.

अफसर मेहरबान
तहसीलदार अमिता सिंह आगे लिखती हैं कि वरिष्ठ अधिकारी ऐसे तहसीलदार और नायब तहतीलदारों को गाड़ी में बैठाकर घूमते हैं.

ब्लैकमेलर पत्रकार
Loading...

अमिता सिंह ने पत्रकारों पर भी अपना गुस्सा निकाला. उन्होंने लिखा- अभिव्यक्ति की आज़ादी सिर्फ ब्लैक मेलर पत्रकारों को मिली है.

चर्चा थी कौन बनेगा करोड़पति की
श्योपुर तहसीलदार अमिता सिंह तब लोगों की पहचान में आयी थीं जब वो कौन बनेगा करोड़पति के सीजन 2011 में सलेक्ट हुई थीं. वो अमिताभ बच्चन के साथ हॉट सीट पर बैठी थीं और 50 लाख रुपए जीते थे. अमिताभ बच्चन के साथ कौन-बनेगा करोड़पति का उनका खेल भी दिलचस्प और हंसी के हल्ले-फुल्के सवालों और झड़ी से भरपूर रहा था. खेल के दौरान अमिताभ बच्चन के सवाल और अमिता सिंह के दिलचस्प जवाबों के बीच दोनों के रोचक वार्तालाप ने दर्शकों को खूब गुदगुदाया था.

इसलिए ख़फा हैं अमिता सिंह
दरअसल अमिता सिंह को निर्वाचन शाखा का प्रभारी बनाया गया है. शायद ये पोस्टिंग उन्हें रास नहीं आयी. यही वजह है कि उन्होंने अपनी भड़ास सोशल मीडिया के ज़रिए निकाली.

ये भी पढ़ें-सावन के आख़िरी सोमवार पर कीजिए बाबा महाकाल के दर्शन
First published: August 12, 2019, 10:51 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...