Home /News /madhya-pradesh /

पटाखे फोड़ने वाले ध्यान दें : दिल्ली बनता जा रहा है MP, सांस लेने लायक भी नहीं बची यहां की हवा

पटाखे फोड़ने वाले ध्यान दें : दिल्ली बनता जा रहा है MP, सांस लेने लायक भी नहीं बची यहां की हवा

mp के सिंगरौली शहर की हवा सबसे ज्यादा प्रदूषित है. उसके बाद जबलपुर, इंदौर, भोपाल और ग्वालियर  का नंबर है.

mp के सिंगरौली शहर की हवा सबसे ज्यादा प्रदूषित है. उसके बाद जबलपुर, इंदौर, भोपाल और ग्वालियर का नंबर है.

Air Pollution Alert : NGT ने दीपावली पर पटाखे (Firecrackers) चलाने पर रोक लगायी थी. इसके बावजूद पूरे प्रदेश में पटाखे फोड़े गए. अब नतीजा सामने है. मध्य प्रदेश पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड की रिपोर्ट बता रही है कि एमपी का हाल भी खराब है. यहां सिंगरौली शहर की हवा सबसे ज्यादा खराब है. ।

अधिक पढ़ें ...

जबलपुर. कोरोना से दहले मध्य प्रदेश के लोगों को अब पटाखों से हुआ प्रदूषण परेशान कर रहा है. हवा सांस (Air Pollution) लेने लायक भी नहीं रही. मध्य प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की हालिया रिपोर्ट बता रही है कि यहां के हालात भी दिल्ली की तरह हो चले हैं. अब भी नहीं संभले तो दिल्ली बनते देर नहीं लगेगी. सबसे ज्यादा प्रदूषित हवा सिंगरौली में दर्ज की गयी. बाकी महानगरों के हाल भी बुरे हैं.

दीपावली पर सिर्फ ग्रीन पटाखे जलाने और प्रतिबंध के तमाम निर्देशों का उल्लंघन करना प्रदेशवासियों पर भारी पड़ रहा है. आलम यह है कि नवंबर माह में प्रदेश का एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI ) बेहद खराब स्तर पर पहुंच गया है.

सबसे प्रदूषित शहर रहा सिंगरौली
हाल ही में मध्य प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने अपनी रिपोर्ट जारी की है. नवंबर माह की रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है कि दीपावली के बाद मध्य प्रदेश की हवा बुरी तरह प्रदूषित हो गयी है. सबसे बुरा एयर क्वालिटी इंडेक्स का स्तर सिंगरौली में दर्ज किया गया है. वहां हवा सांस लेने लायक भी नहीं बची है.

ये भी पढ़ें- MP में कोरोना की नई गाइडलाइन जारी, पूरी क्षमता से खुलेंगे जिम-होटल-स्कूल, जानिए और क्या मिली छूट

NGT ने लगायी थी रोक
दीपावली के पहले एनजीटी ने देश भर के उन तमाम शहरों पर पटाखों पर प्रतिबंध के निर्देश दिए थे जहां बीते साल 2020 में एयर क्वालिटी इंडेक्स का लेवल पुअर था. यानि हवा प्रदूषित थी. बाकी में भी काफी एहतियात के साथ सिर्फ ग्रीन पटाखे जलाने की इजाजत थी.

प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की रिपोर्ट
मध्य प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की रिपोर्ट बता रही है कि प्रदूषित हवा के मामले में मध्य प्रदेश बहुत खराब स्थिति में पहुंच गया है. बोर्ड ने अपने आंकलन के आधार पर यहां का AQI स्तर very poor केटेगरी में रखा है. सबसे बुरा हाल सिंगरौली का है. वहां AQI स्तर 387.25 रहा. दूसरे नम्बर पर जबलपुर है. यहां का AQI का स्तर  321.71 और तीसरा देश का सबसे स्वच्छ शहर इंदौर रहा. वहां भी AQI का स्तर 306.75 है. राजधानी भोपाल AQI स्तर 305.73 के साथ चौथे और ग्वालियर में प्रदूषण का स्तर moderate रहा. यहां AQI का स्तर 171.93 दर्ज किया गया. एयर क्वालिटी इंडेक्स में PM 10, PM 2.5 No2, SO2 पैमाना होता है.

लोग हैं कि मानते नहीं…
लोग पहले मानते नहीं हैं जब पर्यावरण को नुकसान होता है तो चिंता सब जताते हैं. खराब हो रहे मध्यप्रदेश के एयर क्वालिटी इंडेक्स लेवल पर जबलपुर के लोग भी परेशान हैं. उनका कहना है दिल्ली एनसीआर का उदाहरण देशभर के सामने हैं. वहां प्रदूषण के कारण अब पॉल्यूशन लॉकडाउन की नौबत आ गई है. मध्यप्रदेश भी अब उसी रास्ते पर आगे बढ़ रहा है. बेहतर हो अगर प्रदेश सरकार और शहरवासी अब भी संभल जाएं. ताकि प्रदेश की हवा भी सांस लेने लायक बच सके. नहीं तो आने वाली पीढ़ियों पर इसका खराब असर देखा जाएगा.

Tags: Air pollution, Air Pollution AQI Level, Madhya pradesh latest news, NGT

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर