शिवराज की मिनी कैबिनेट में जाति और क्षेत्र का होगा संतुलन, सिंधिया समर्थकों को तरजीह देने की संभावना
Bhopal News in Hindi

शिवराज की मिनी कैबिनेट में जाति और क्षेत्र का होगा संतुलन, सिंधिया समर्थकों को तरजीह देने की संभावना
सीएम शविराज चौहान कैबिनेट का गठन करने वाले हैं. (PTI Photo)

MP Cabinet: सीएम शिवराज सिंह चौहान ने मिनी कैबिनेट में क्षेत्रीय और जातीय संतुलन बनाने की कोशिश की है. ग्वालियर, चंबल, बुंदेलखंड, मालवा, विंध्य और मध्य क्षेत्र से आने वाले चेहरे को शामिल किया जाएगा.

  • Share this:
भोपाल. मंत्रिमंडल के बिना 28 दिन से काम कर रहे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) मंगलवार को मिनी कैबिनेट का गठन करने जा रहे हैं. इसमें क्षेत्रीय और जातीय संतुलन का ध्यान रखा गया है. फिलहाल प्रदेश में कोरोना संकट है, इसलिए बड़ा मंत्रिमंडल बनाने से शिवराज परहेज कर रहे हैं. इस मिनी कैबिनेट के ज़रिए ही कामकाज चलाया जाएगा. 3 मई को लॉकडाउन खत्म होने के बाद मंत्रिमंडल का विस्तार किया जा सकता है.

जानकारी के मुताबिक, कोरोना वायरस के कारण फिलहाल मंत्रिमंडल का आकार छोटा रखा जा रहा है. शिवराज सिंह चौहान फिलहाल मिनी कैबिनेट के जरिए फैसले लेंगे. मंत्रिमंडल का विस्तार 3 मई के बाद लॉकडाउन खत्म होने के बाद किया जा सकता है. बताया जा रहा है कि शिवराज सिंह चौहान ने मिनी कैबिनेट में क्षेत्रीय और जातीय संतुलन बनाने की कोशिश की है. ग्वालियर, चंबल, बुंदेलखंड, मालवा, विंध्य और मध्य क्षेत्र से एक-एक को कैबिनेट में शामिल किया जा रहा है. वहीं, जातिगत समीकरण साधने के लिए ब्राह्मण, क्षत्रिय, अनुसूचित जाति-जनजाति और पिछड़ा वर्ग से एक-एक चेहरे को मंत्री बनाया जा रहा है.

दोपहर 12 बजे शपथ
मंगलवार दोपहर 12:00 बजे राजभवन में 5 मंत्रियों को शपथ दिलाई जाएगी. प्रदेश में फैले कोरोना संक्रमण के कारण सीएम शिवराज ने फिलहाल मिनी कैबिनेट बनाने का फैसला किया है. यह सभी पांच चेहरे कैबिनेट मंत्री होंगे. मिनी कैबिनेट के गठन को लेकर सरकार ने राजभवन सूचना भेज दी है. कल देर रात पांच संभावित मंत्रियों की सूची राजभवन को भेजी गई थी.
ये हैं वे 5 चेहरे


जिन पांच चेहरों को कैबिनेट में शामिल किया जा रहा है, उनमें बीजेपी के सीनियर और कद्दावर नेता नरोत्तम मिश्रा का नाम सबसे ऊपर है. ऑपरेशन लोटस में नरोत्तम मिश्रा की अहम भूमिका रही थी. केंद्रीय नेताओं की पसंद के कारण नरोत्तम को मिनी कैबिनेट में शामिल किया जाएगा. दूसरा नाम सिंधिया खेमे के चेहरे तुलसीराम सिलावट का है. मालवा से प्रतिनिधित्व करने वाले तुलसीराम सिलावट कमलनाथ सरकार में स्वास्थ्य मंत्री थे. तीसरा नाम भी सिंधिया खेमे से बुंदेलखंड से प्रतिनिधित्व करने वाले गोविंद सिंह राजपूत का है. चौथा नाम आदिवासी चेहरा मीना सिंह का है. मीना सिंह प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा की नज़दीकी मानी जाती हैं. पांचवां नाम ओबीसी वर्ग का बड़ा चेहरा कमल पटेल का है. शिवराज के विरोधी माने जाने वाले कमल पटेल को मिनी कैबिनेट में जगह मिल रही है. जानकारी के मुताबिक, कोरोना संकट के कारण महत्वपूर्ण विभागों की जिम्मेदारी मंत्रियों को सौंपकर शिवराज सिंह चौहान कामकाज में तेजी ला सकते हैं.

ये भी पढ़ें-

मध्य प्रदेश: शिवराज कैबिनेट का आज होगा गठन, राजभवन पहुंची सूची में 5 नाम शामिल

पत्थरबाज़ की फरारी,किसान की मौत के बाद जबलपुर कमिश्नर और एसपी हटाए गए
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज