घर में घुसकर जज को बनाया बंधक, सिर्फ 500 रुपये लेकर फरार हुए बदमाश

सपी ने बताया, 'लुटेरों के हाथ सिर्फ 500 रुपये का नोट लगा क्योंकि जज केवल प्लास्टिक मनी (डेबिट/क्रेडिट कार्ड) से ही ट्रांजैक्शन करते हैं और घर पर ज्यादा कैश नहीं रखते हैं.'

News18 Madhya Pradesh
Updated: September 5, 2019, 7:37 PM IST
घर में घुसकर जज को बनाया बंधक, सिर्फ 500 रुपये लेकर फरार हुए बदमाश
मध्याप्रदेश पुलिस के उड़े होश
News18 Madhya Pradesh
Updated: September 5, 2019, 7:37 PM IST
उमरिया. जिले में एक जज (Judge) को बंधक बनाकर लूटने का मामला सामने आया है. बताया जा रहा है कि घर में हथियारबंद बदमाश घुसे उन्होंने जज को पलंग से बांध दिया और सिर्फ 500 रुपये लेकर फरार हो गए. उमरिया के छपाहा जिले स्थित जज के आवास में यह घटना बुधवार रात डेढ़ से दो बजे के बीच हुई. घटना के वक्त एनडीपीएस ऐक्ट के विशेष जज सुरेंद्र कुमार छपाहा कॉलोनी स्थित घर पर सिर्फ एक चपरासी के साथ थे क्योंकि उनका संतरी छुट्टी पर था.

उमरिया जिले में एडीजे के घर आधा दर्जन बदमाशों ने लूट की वारदात को अंजाम दिया. घर में अकेले रह रहे एडीजे (Judge) सुरेन्द्र कुमार शर्मा को तलवार और चाकू की नोक पर बंधक बनाया. दरअसल लुटेरे जज के घर में कैश और सोना लूटने के मकसद से घुसे थे. पर उनके हाथ सिर्फ 500 रुपए लगे. सपी ने बताया, 'लुटेरों के हाथ सिर्फ 500 रुपये का नोट लगा क्योंकि जज केवल प्लास्टिक मनी (डेबिट/क्रेडिट कार्ड) से ही ट्रांजैक्शन करते हैं और घर पर ज्यादा कैश नहीं रखते हैं. जज ने अपने घर में कोई कीमती सामान भी नहीं रखा था. हमने मामले की जांच के लिए एक एसआईटी गठित की है.'

बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने मामले का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री कमलनाथ पर निशाना साधा है. विजयवर्गीय ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर लिखा, 'मध्यप्रदेश के उमरिया के सेशन जज श्री सुरेंद्र शर्माजी को किसने उनके ही निवास में बंदी बनाया, प्रताड़ित किया? लोकतंत्र के तीन आधार-स्तंभों में एक न्याय पालिका के रखवाले 'न्यायधीश' भी अब सुरक्षित नहीं हैं! कमलनाथ जी, आपके शासन में हो रही इस अराजकता का उत्तरदायी कौन है?'
(बिजेन्द्र तिवारी की रिपोर्ट)  

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 5, 2019, 7:15 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...