Home /News /madhya-pradesh /

विश्व खत दिवस: खत लिखने की परंपरा को पिछले सात सालों से सहेज रहा है ये शख्स

विश्व खत दिवस: खत लिखने की परंपरा को पिछले सात सालों से सहेज रहा है ये शख्स

पत्र दिवस की इस मुहिम में युवाओं में खासा उत्साह भी है.

पत्र दिवस की इस मुहिम में युवाओं में खासा उत्साह भी है.

    हाईटेक हो चुकी इस दुनिया में आज भी कुछ लोग ऐसे हैं जो पुरानी परंपराओं को बखूबी सहेज रहे हैं. एक ऐसी ही परंपरा है हाथ से खत लिखने की.

    हम जब छोटे थे तो दूर किसी शहर से अपनों की चिट्ठी जब डाकिया बाबू लाते थे तो ऐसा लगता था मानो उस दिन कोई त्यौहार हो. उस चिट्ठी को कई दिन तक बार बार पढ़ा जाता था. आज के दौर में ये परंपरा यूँ तो खत्म होने की कगार पर है किन्तु कुछ लोग हैं जो कलम और कागज़ की पुरानी हो चुकी रवायत को बचाने में लगे हैं.  उसी में से एक हैं, लेखक और पत्रकार शरद श्रीवास्तव.

    मध्य प्रदेश के भोपाल में रह रहे शरद श्रीवास्तव बीते 7 सालों से अंतरराष्ट्रीय पत्र दिवस के रूप में इसे बचाने की कोशिश कर रहे हैं. उनकी इस मुहिम का इरादा कंप्यूटर और व्हाट्सएप की इस दुनिया में भी खत लिखने की परंपरा को बचाए रखना है. लिहाजा शरद लोगों तक जाकर उन्हें इस बात के लिए प्रेरित करते हैं कि वो रोज न सही लेकिन साल में कम से कम एक दिन खत ज़रुर लिखें.

    उनकी इस मुहिम का असर भी हुआ है. तेज दौड़ती जिंदगी के बीच 31 जुलाई को बहाने से ही सही लेकिन लोग खत लिख रहे हैं. हालांकि इस मुहिम को पहचान दिलाने के लिए अभी बहुत लंबा सफर तय करना बाकी है और उनकी कोशिश है कि इसे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान मिले.

    शरद कहते हैं कि पहले लोगों को खत का इन्तजार होता था, लेकिन अब यह भाव खत्म हो गया है. इस मुहिम का इरादा लोगों को सवालों में उलझाना नहीं है बल्कि लोगों को पत्र लेखन के प्रति प्रेरित करना है.



    31 जुलाई ही क्यों..!

    शरद कहते हैं कि इसलिए क्योंकि इंग्लैंड में 31 जुलाई को ही कभी स्थानीय स्तर पर पहला पत्र पोस्ट किया गया था. और इसी दिन मुंशी प्रेमचंद की जन्मतिथि भी है.

    पत्र दिवस की इस मुहिम में युवाओं में खासा उत्साह भी है. भोपाल में रहकर पढ़ाई कर रहे सुमित का कहना है कि मैंने तो कभी इस बारे में सोचा ही नहीं था. बहुत सारे डे के बारे में सुना था लेकिन लेटर डे वाकई में अनोखी मुहिम है और मैं निश्चित ही आज खत लिखूंगा.

    Tags: Bhopal

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर