भोपाल के इस थाने में भगवान करते हैं 'खाकी' की रक्षा! 24 घंटे देते हैं पहरा
Bhopal News in Hindi

भोपाल के इस थाने में भगवान करते हैं 'खाकी' की रक्षा! 24 घंटे देते हैं पहरा
थाना परिसर में स्थित मंदिर का नामकरण थानेश्वर महादेव

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल (Bhopal) में यह इकलौता थाना है, जो कैंपस में स्थित मंदिर के नाम से पहचाना जाएगा. महाशिवरात्रि से पहले इसका रिनोवेशन कर नाम और पहचान दी गई है.

  • Share this:
भोपाल. मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल (bhopal) में भोलेनाथ का एक ऐसा मंदिर है, जो थाने के नाम पर पहचाना जाएगा. नाम है थानेश्वर महादेव (mahadev). मंदिर कैंपस में होने के कारण इसका नामकरण थाने के नाम पर कर दिया गया है. ये बैरागढ़ थाने में है. यहां के स्टाफ कहते हैं कि जनता की रक्षा हम कर रहे हैं, लेकिन हमारी हिफाजत तो ये भोलेबाबा ही करते हैं.

भोपाल के बैरागढ़ थाना परिसर के गेट पर भोलेनाथ का एक बहुत प्राचीन मंदिर है. अभी तक इस मंदिर (temple) का कोई नाम नहीं था. लेकिन अब थाने के गेट पर होने और पुलिस (police) की अगाध श्रद्धा के कारण मंदिर का नाम थानेश्वर महादेव रख दिया है. मध्यप्रदेश में यह इकलौता थाना है, जो कैंपस में स्थित मंदिर के नाम से पहचाना जाएगा. संभवतः यह इकलौता मंदिर भी है, जिसकी थाने के नाम पर पहचान होगी.

शिवरात्रि से पहले नामकरण
जनता की सुरक्षा करने वाली पुलिस की रक्षा अब थाने में मौजूद भोलेनाथ कर रहे हैं. भगवान की तैनाती थाने के मेन गेट पर है. मंदिर काफी पुराना है, लेकिन इस साल महाशिवरात्रि से ठीक पहले इसका रिनोवेशन कर नाम और पहचान दे दी गई है. उसे सजाया जा रहा है. यह सब पुलिस और स्थानीय लोगों के सहयोग से किया गया है. वैसे, तो थाने का नाम बैरागढ़ था, लेकिन स्थानीय लोग की मांग की वजह से इस थाने का नाम संत हिरदाराम नगर रखा गया है. यह राजधानी का सबसे पॉश थाना है, जहां सबसे ज्यादा व्यापारिक गतिविधियां होती हैं.







सालों बाद हुआ महादेव का नामकरण
थाना प्रभारी शिवपाल सिंह कुशवाह ने बताया कि थाना परिसर में भोले बाबा का मंदिर होने की वजह से इसका नाम थानेश्वर महादेव रखा गया. इससे पहले मंदिर का कोई नाम नहीं था. अब मंदिर के रिनोवेशन के साथ उसका नामकरण भी कर दिया गया. स्थानीय लोगों की मदद से मंदिर में रोजाना भजन-कीर्तन होते हैं. पुलिस भी समय-समय पर भंडारे कराती है. अब शिवरात्रि पर विशेष तैयारियां की जा रही हैं. मंदिर को सजाया जा रहा है. थाना परिसर में ही एसडीओपी का ऑफिस भी है. पुलिस की यहां विराजे मंदिर के प्रति इतनी अगाध श्रद्धा है कि वो मानते हैं कि पुलिस की सुरक्षा जनता करती है, लेकिन हमारी सुरक्षा थानेश्वर महादेव करते हैं.

ये भी पढ़ें-महेश्वर का व्यापारी परिवार सहित लापता, हंडिया में नर्मदा किनारे मिली कार

शिवपुरी में 20 गायों की मौत, गांव वालों ने कहा भूख-प्यास से तोड़ा दम
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading