MP: नए साल के 15 दिनों में 1852 लोग गायब, 1661 अब भी लापता

मप्र में साल की शुरुआत में ही सैकड़ों के लापता होने की खबर है.

मप्र पुलिस ने प्रदेश में गायब हुए लोगों की तलाश के लिए अभियान शुरू किया है. इसी अभियान के मंथन के तहत इस तरह कुछ चुनिंदा कारण सामने आए हैं. इस अभियान को ऑपरेशन मुस्कान नाम दिया गया है.

  • Share this:
    भोपाल. प्रेम प्रसंग, माता-पिता की डांट, कर्ज और मुंबई जैसे शहर घूमने की इच्छा, ये वे कारण हैं जिनकी वजह से लोग घर छोड़कर चले जाते हैं. दरअसल मप्र पुलिस ने प्रदेश में गायब हुए लोगों की तलाश के लिए अभियान शुरू किया है. इसी अभियान के मंथन के तहत इस तरह कुछ चुनिंदा कारण सामने आए हैं. इस अभियान को ऑपरेशन मुस्कान नाम दिया गया है.

    गौरतलब है कि प्रदेश में साल के शुरुआती 15 दिनों में 1852 लोग गायब हुए हैं. गायब हुए लोगों में सभी उम्र के लोग हैं. इनमें से 211 लोग ऐसे हैं जिनकी तलाश हो चुकी है, लेकिन 1661 लोगों का अभी भी कुछ पता नहीं चला है. जानकारी के मुताबिक, भोपाल में 6 - 20 जनवरी तक कुल 111 लोग गायब हो  चुके हैं. इसमें सभी उम्र के महिला-पुरुष हैं. इस ऑपरेशन के तहत अब तक 35 लोगों की तलाश पूरी हो चुकी है. इनमें 29 लड़कियां और 6 लड़के हैं.

    विशेष टीमें बनाईं- जिनका काम सिर्फ तलाश करना

    गौरतलब है कि पुलिस मुख्यालय के निर्देश पर प्रदेश में गुमशुदा लड़के-लड़कियों को खोजने के लिए 6 जनवरी से ऑपरेशन मुस्कान शुरू किया गया. इसके लिए विशेष टीमें बनाई गई हैं. इन टीमों को सिर्फ इन्हीं का पता लगाने का काम दिया गया. यह अभियान 31 जनवरी तक चलाया जाएगा.



    कई वजहें हैं जिम्मेदार

    आखिर लोग गायब क्यों हो जाते हैं या घर क्यों छोड़ते हैं, इसके पीछे जब मंथन किया गया तो कुछ बातें सामने आईं. इनमें वे कारण निकलकर आए जो लोगों के घर छोड़ने के पीछे बड़ी वजहे हैं. इनमें प्रेम प्रसंग, माता-पिता की डांट, मुंबई जैसे बड़े शहर घूमने या उनमें बसने की चाहत, महिलाओं का गुस्से में घर छोड़ देना और कर्ज शामिल हैं. गायब होने के अधिकांश मामलों में लड़के-लड़की अपनी मर्जी से घर से निकल जाते हैं। पुलिस उनके मिलने के बाद उनकी काउंसलिंग कराती है और माता-पिता और परिजनों को सौंप देती है।

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.