लाइव टीवी

आधी रात में बालकनी से घर में घुसा चोर, 12 साल की काव्या ने ऐसे किया मुकाबला...
Bhopal News in Hindi

Sharad Shrivastava | News18 Madhya Pradesh
Updated: February 24, 2020, 12:41 PM IST
आधी रात में बालकनी से घर में घुसा चोर, 12 साल की काव्या ने ऐसे किया मुकाबला...
भोपाल में बारह साल की बहादुर बच्ची से डरकर भागा चोर

चोर ने घर में घुसते ही काव्या के माता-पिता के कमरे का दरवाज़ा बाहर से बंद कर दिया था. इसलिए वो काव्या को बचाने के लिए बाहर ही नहीं निकल पायी. काव्या अकेले ही उस बदमाश से लड़ती रही

  • Share this:
भोपाल में एक बच्ची ने ऐसी बहादुरी (brave girl) दिखाई कि अब सब तरफ उसकी तारीफ और किस्से सुनायी दे रहे हैं. 12 साल की काव्या ने घर में घुसे बदमाश से दो-दो हाथ कर भागने पर मजबूर कर दिया. काव्या की जांबाज़ी के सामने बदमाश भी फेल हो गया और अपनी जान बचाकर भागा.

घटना भोपाल के गांधी नगर इलाके की है. काव्या और उसके माता पिता रात के वक्त अपने घर में सो रहे थे.सभी गहरी नींद में थे. तभी एक बदमाश उनके घर में घुस आया.बदमाश ने माता पिता के कमरे को बंद कर घर में रखा सामान बटोरना शुरू किया. काव्या दूसरे कमरे में सो रही थी. खटपट सुनकर काव्या की नींद खुल गयी. उसे जागा देखकर चोर ने काव्या को मारने की कोशिश की. बच्ची डरी नहीं. उसने डटकर चोर का सामना किया और फिर शोर मचा दिया. शोर सुनकर चोर फौरन अपनी जान बचाकर भाग गया.

जानिए कब क्या हुआ
उस वक्त रात के करीब दो बज रहे थे. काव्या और उसका परिवार गहरी नींद में था. तभी एक बदमाश घर के पीछे के रास्ते से बालकनी में चढ़ा. खिड़की से हाथ डालकर दरवाजा खोल लिया. चोर ने पहले उस कमरे की कुंडी लगा दी जिसमें माता-पिता सो रहे थे और फिर घर में रखे पैसे चुरा लिए. इसके बाद बदमाश उस कमरे में पहुंचा जहां काव्या सो रही थी. चोर ने काव्या का गला दबाने की कोशिश की और फिर मारपीट शुरू कर दी. काव्या ने तुरंत खुद को संभाला और बदमाश से जूझ गयी.



माता-पिता कमरे में बंद थे
चोर ने घर में घुसते ही काव्या के माता-पिता के कमरे का दरवाज़ा बाहर से बंद कर दिया था. इसलिए वो काव्या को बचाने के लिए बाहर ही नहीं निकल पायी. काव्या अकेले ही उस बदमाश से लड़ती रही. उसने पहले शोर मचाया और फिर कमरे से अपनी बाहर भागी औऱ दूसरे कमरे की कुंडी खोल दी. काव्या के हौंसले को देख कर चोर को भी समझ आ गया कि अब वो बचने वाला नहीं. इसलिए वो नौ-दो-ग्यारह हो गया.

ये भी पढ़ें-

ज्योतिरादित्य ने पूछा-दिग्विजय से मुलाकात में खास क्या है,बात तो होती रहती है

अच्छी फसल के लिए संकल्प लिया था, अब फिरोज और सफीना करा रहे हैं भागवत कथा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 24, 2020, 12:35 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

भारत

  • एक्टिव केस

    5,095

     
  • कुल केस

    5,734

     
  • ठीक हुए

    472

     
  • मृत्यु

    166

     
स्रोत: स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार
अपडेटेड: April 09 (08:00 AM)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर

दुनिया

  • एक्टिव केस

    1,099,679

     
  • कुल केस

    1,518,773

    +813
  • ठीक हुए

    330,589

     
  • मृत्यु

    88,505

    +50
स्रोत: जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, U.S. (www.jhu.edu)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर