Home /News /madhya-pradesh /

CS बी पी सिंह बोले- भावांतर योजना में कई बातें थीं लेकिन कोई और रास्ता नहीं था

CS बी पी सिंह बोले- भावांतर योजना में कई बातें थीं लेकिन कोई और रास्ता नहीं था

कमलनाथ और सीएस बी पी सिंह

कमलनाथ और सीएस बी पी सिंह

मध्यप्रदेश के खाली खज़ाने पर चीफ सेक्रेट्री ने कहा, ऐसी बहुत सारी चीज़ें हैं जो हम नहीं कर सकेंगे. लेकिन नयी योजनाओं में किसी तरह की परेशानी नहीं आने दी जाएगी

मध्य प्रदेश के मुख्य सचिव बी पी सिंह का मानना है  भावांतर योजना में बहुत सारी बाते हैं लेकिन उस वक्त किसानों को राहत देने के लिए और कोई ऑप्शन सरकार के पास नहीं था. किसानों से मिले फीडबैक में भी भ्रष्टाचार की शिकायत आयी थी. लेकिन उसका दायरा काफी छोटा था.

मुख्य सचिव बी पी सिंह 31 दिसंबर को रिटायर हो रहे हैं. शिवराज सरकार ने उन्हें 6 महीने का एक्सटेंशन दिया था. रिटायरमेंट से पहले गुरुवार को सीएम कमलनाथ ने मंत्रालय में उन्हें प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया. न्यूज़ 18 ने उनसे ख़ास बातचीत की. बी पी सिंह ने कहा अपने कार्यकाल में उनकी कोशिश यही रही कि सरकारी योजनाओं पर अमल हो और जनता को उसका फायदा मिल सके.

सीएस ने कहा इस पद पर रहते हुए बेहतर गवर्नेंस देने का प्रयास किया. और भी बहुत से काम वो करना चाहते थे जो नहीं कर पाए. उन्होंने कहा नयी सरकार को पुरानी योजनाओं में दिक्कत नहीं आएगी.
अपने इस कार्यकाल में उन्होंने राजस्व के 20 लाख से ज़्यादा केस निपटवाए. इनमें से ज़्यादातर सिर्फ नामांतरण से जुड़े हुए थे. बी पी सिंह ने कहा सभी योजनाओं की प्लानिंग से लेकर योजना लागू करने तक ज़िम्मेदारी प्रशासन की होती है और उन्होंने इसे पूरी ज़िम्मेदारी से निभाने की कोशिश की. किसानों को लेकर बनी योजनाओं पर बी पी सिंह ने कहा कि योजनाएं तभी अच्छी साबित होती हैं जब उन पर बेहतर तरीके से अमल हो.

मध्यप्रदेश के खाली खज़ाने पर चीफ सेक्रेट्री ने कहा, ऐसी बहुत सारी चीज़ें हैं जो हम नहीं कर सकेंगे. लेकिन नयी योजनाओं में किसी तरह की परेशानी नहीं आने दी जाएगी. बी पी सिंह ने नये सीएम कमलनाथ की तारीफ़ करते हुए कहा कि वो इतने अनुभवी हैं जिसका फायदा प्रशासनिक अफसरों को ज़रूर मिलेगा.
LIVE




Tags: Kamal nath, Madhya Pradesh Assembly, Madhya pradesh news, Officer, Shivraj singh chauhan

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर