ये दिग्विजय सिंह की देन है कि गाय के लिए ज़मीन नहीं बची - राकेश सिंह

Makarand Kale | News18 Madhya Pradesh
Updated: November 17, 2018, 7:07 PM IST
ये दिग्विजय सिंह की देन है कि गाय के लिए ज़मीन नहीं बची - राकेश सिंह
मध्य प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष राकेश सिंह

राकेश सिंह का कहना है, कांग्रेस इसे कैसे सफल बताएगी. कमलनाथ हों या कांग्रेस दोनों हर मोर्चे पर फेल हैं. और कोई फेल किसी दूसरे को पास होने का प्रमाण पत्र नहीं दे सकता.

  • Share this:
बीजेपी मेनिफेस्टो दृष्टि पत्र को लेकर पार्टी प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह से न्यूज18 ने सीधी बात की. उनका दावा है कि किसान बिना कर्ज़ लिए खेती नहीं कर सकता. उनका मानना है कि शिवराज के नेतृत्व में प्रदेश बीमारू राज्य की श्रेणी से निकलकर विकसित की कतार में आ खड़ा हुआ. ये दृष्टि पत्र भी उसी की झलक है.


सवाल - कैसा मानते हैं ये मेनिफेस्टो?



राकेश सिंह - 2003 के बाद राज्य के विकास को जिस दिशा में बीजेपी ले जाना चाहती थी, हम शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में उस दिशा में जुनून के साथ आगे बढ़े हैं. आज हम इस हैसियत में हैं कि हमने बीमारू राज्य को विकसित हो रहे राज्य की श्रेणी में लाकर खड़ा कर दिया है. अब हमें उससे भी आगे जाना है. दृष्टि पत्र उसी दिशा में एक कदम है.


सवाल - किसानों के लिए बड़ी घोषणा की उम्मीद थी,लेकिन ऐसा कुछ दिखा नहीं?

Loading...


राकेश सिंह - मध्य प्रदेश में किसानों के लिए जितना काम हुआ, देश के किसी और राज्य में इतना नहीं किया गया. अब हमनें उन किसानों को शामिल किया है जिनकी बहुत बड़ी संख्या है, वो सरकार की योजनाओं का लाभ इसलिए नहीं ले पाते थे क्योंकि अपनी उपज वो अपने ही गांव में बेच देते थे. सरकार अब उनके खाते में सीधा पैसा पहुंचाने जा रही है. ऐसा देश में पहली बार हो रहा है.


सवाल - कर्ज़माफ़ी, क्या कांग्रेस एक कदम आगे निकल गई आपसे?


राकेश सिंह - कांग्रेस कहीं भी आगे नहीं है. कांग्रेस ने पंजाब में कर्ज़माफी की मांग की. वहां किसानों को बाद में झुनझुना पकड़ा दिया. 60 हज़ार करोड़ रुपए में सिर्फ 2.5 हज़ार करोड़ रुपए का कर्ज़ माफ किया गया. कर्नाटक में कर्ज़माफी की बात की, लेकिन वहां भी स्थिति बरकरार है. कांग्रेस जानती है मध्य प्रदेश में वो सरकार में आने वाली नहीं है इसलिए उन्होंने ऐसे वायदे करने की कोशिश की है.


सवाल - सहकारी समितियों के माध्यम से दिया जा रहा कर्ज़ 40 हज़ार करोड़ करने का लक्ष्य रखा गया है?


राकेश सिंह - देखिए, कर्ज़ के बिना किसान का काम नहीं चल सकता.  0 प्रतिशत पर कर्ज़ देने वाला एमपी देश का पहला राज्य था. किसान आत्मनिर्भर हो, ये प्रयास हमारा है.


सवाल - गौ अभयारण्य और गरीब सवर्ण को मुफ्त शिक्षा, क्या कांग्रेस मेनिफेस्टो से डरकर ये प्रावधान किया गया है?


राकेश सिंह - जहां तक गऊ की बात है वो हमारी विचारधारा से जुड़ा हुआ प्रश्न है. मध्य प्रदेश ऐसा राज्य है जिसने गौ अभयारण्य की शुरुआत की है. दिग्विजय सिंह के शासनकाल में गोचर की भूमि सारी खत्म कर दी गई थी. आज प्रदेश में गाय के लिए कोई ज़मीन ही नहीं बची.


सवाल - और सवर्ण आंदोलन?


राकेश सिंह - आप इसे इस संदर्भ में ले सकते हैं. देश हो या प्रदेश, मोदी जी ने कहा है कि देश के संसाधनों पर पहला हक़ गरीबों का है, फिर वो किसी भी जाति किसी भी धर्म का क्यों न हो. इसलिए हमने आगे बढ़कर ये कहा है कि ऐसा वर्ग जो आर्थिक रूप से सक्षक्त नहीं है, आगे आए.


सवाल - कमलनाथ ने इस मेनिफेस्टो को फेल बताया है?


राकेश सिंह - कांग्रेस इसे कैसे सफल बताएगी. कमलनाथ हों या कांग्रेस दोनों हर मोर्चे पर फेल हैं. और कोई फेल किसी दूसरे को पास होने का प्रमाण पत्र नहीं दे सकता.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 17, 2018, 7:07 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...