शिक्षा विभाग की लापरवाही: 3 साल से बंद स्कूलों में शिक्षकों के किए ट्रांसफर, परेशान हो रहे टीचर

मध्यप्रदेश में एक अजीबो-गरीब मामला सामने आया है, जहां शिक्षा विभाग की तबादला प्रक्रिया में बड़ी खामी नजर आयी है.

News18 Madhya Pradesh
Updated: August 20, 2019, 2:19 PM IST
शिक्षा विभाग की लापरवाही: 3 साल से बंद स्कूलों में शिक्षकों के किए ट्रांसफर, परेशान हो रहे टीचर
बंद स्कूलों में कर दिया तबादला, स्कूल ढूंढने में जुटे टीचर
News18 Madhya Pradesh
Updated: August 20, 2019, 2:19 PM IST
मध्यप्रदेश में एक अजीबो-गरीब मामला सामने आया है, जहां शिक्षा विभाग की तबादला प्रक्रिया में बड़ी खामी नजर आयी है. दरअसल शिक्षा विभाग ने शिक्षकों को ऐसी जगह ट्रांसफर किए जहां काफी समय से स्कूल ही बंद हो चुके है. बताया जा रहा है कि शिक्षा विभाग की लापरवाही के चलते ऐसे स्कूलों का नाम शिक्षा पोर्टल की सूची से हटाया नहीं गया था, जो करीब 3 साल पहले ही बंद हो चुके थे.

बंद स्कूलों में किया तबादला

जानकारी के मुताबिक विदिशा जिले की प्राथमिक की टीचर अंजना शर्मा का ट्रांसफर प्राथमिक शाला बहीबिया में किया गया, लेकिन वहां जाकर पता लगा कि इस स्कूल को तीन साल पहले ही पास के एक स्कूल से मर्ज कर दिया गया था, इसी तरह राकेश कुमार का बालक गिन्नौरी में तबादला कर दिया गया, लेकिन इसे भी 3 साल पहले दूसरे स्कूल में मर्ज कर दिया गया था.

तीन साल से बंद स्कूलों में शिक्षकों का हुआ तबादला
तीन साल से बंद स्कूलों में शिक्षकों का हुआ तबादला (सांकेतिक तस्वीर)


3 साल पहले ही बंद हो गए थे स्कूल

मामले की जानकारी जब हुई जब शिक्षक अपने जिले से रिलीव होकर ज्वाइनिंग करने पहुंचे तो उन्हें इस बारे में जानकारी हुई कि जिस स्कूल में उनकी ज्वाइनिंग की गई है, वे स्कूल दूसरे स्कूलों से मर्ज होकर बंद हो चुके हैं. वहीं जब गड़बड़ी सामने आयी तो ऐसे सभी ट्रांसफर को होल्ड कर दिया गया है.

शिक्षा पोर्टल के अपडेट नहीं होने पर हुई गड़बड़ी
Loading...

बताया जा रहा है कि स्कूल शिक्षा विभाग ने तबादला पोर्टल पर सालों पुरानी सूची अपडेट कर दी थी. सत्र 2016-17 में स्कूलों में शिक्षकों के रिक्त पदों की जो सूची डाली गई थी, उसके आधार पर स्थानांतरण किया जा रहा है. वहीं तीन साल से सूची अपडेट न होने के कारण भी परेशानी हो रही.

यह भी पढ़ें- ADG सिस्टम का लॉलीपॉप, IPS अफसरों को खुश करने वाला सिस्टम

यह भी पढ़ें- यह भी पढ़ें- खाद्य पदार्थो की दुकानों पर छापेमारी, अनियमितताओं के चलते काटे गए चालान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 20, 2019, 2:19 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...