Assembly Banner 2021

MP में नगरीय निकाय चुनाव न होने पर बढ़ी तकरार, कांग्रेस ने निर्वाचन आयोग को बताया BJP के हाथ का खिलौना

मध्य प्रदेश में नगरीय निकाय चुनाव न होने से भाजपा और कांग्रेस के बीच तकरार बढ़ती जा रही है.

मध्य प्रदेश में नगरीय निकाय चुनाव न होने से भाजपा और कांग्रेस के बीच तकरार बढ़ती जा रही है.

नगरीय निकाय चुनाव पर तकरार बढ़ती जा रही है. कांग्रेस ने चुनाव ना होने पर बीजेपी पर साजिश का आरोप लगाया है. यहां तक कि राज्य निर्वाचन आयोग को कांग्रेस ने बीजेपी का खिलौना बता दिया है. वहीं बीजेपी ने कमलनाथ सरकार पर चुनाव को उलझाने का आरोप लगा दिया है.

  • Last Updated: March 4, 2021, 8:37 AM IST
  • Share this:
भोपाल. नगरी निकाय चुनाव पर अब तकरार शुरू होने लगी है. यह तकरार चुनाव की तारीखों का ऐलान नहीं होने की वजह से हो रही है. कांग्रेस ने बीजेपी पर जानबूझकर चुनाव न कराने की साजिश का आरोप लगाया और राज निर्वाचन आयोग को बीजेपी का खिलौना बताया. वहीं, बीजेपी ने चुनाव समय पर नहीं होने के ठीकरा कमलनाथ सरकार पर फोड़ा. बीजेपी ने कहा कि कमलनाथ सरकार ने चुनाव को उलझाने का काम किया है। हमारी सरकार पूरी तरीके से तैयार है.

कांग्रेस नेता मानक अग्रवाल ने कहा कि पेट्रोलियम पदार्थ  पर केंद्र सरकार और राज्य सरकार ने वैट लगाया है. उससे आम जनता त्रस्त हो गई है. जनता पर इसका असर पड़ रहा है. कांग्रेस चाहती है चुनाव होने चाहिए. लेकिन इन्हें डर लग रहा है कि पेट्रोलियम पदार्थों से सभी चीजें महंगी हो गई है और यही कारण है कि समय पर चुनाव बीजेपी के द्वारा नहीं कराया जा रहा है. बीजेपी के खिलाफ जनता के बीच माहौल बना है. यदि चुनाव अभी होते हैं तो कांग्रेस सभी सीटों पर चुनाव जीतेगी.

आयोग को बताया सरकार का खिलौना
मानक अग्रवाल ने राज्य निर्वाचन आयोग को लेकर कहा कि राज्य निर्वाचन आयोग सरकार के अधीन काम करता है। मध्य प्रदेश सरकार जो चाहती है वह होता है. आयोग सरकार का खिलौना है, जो जहां चाहे, वहां डमरु जाता है. आयोग को अपना फैसला लेना चाहिए और जल्द से जल्द चुनाव कराना चाहिए.
कमलनाथ सरकार पर फोड़ा ठीकरा


बीजेपी नेता भगवानदास सबनानी ने कहा कि कहीं भी यह प्रणाम प्रमाण नहीं है कि भारतीय जनता पार्टी चुनाव आगे बढ़ाना चाहती है. यह पाप कमलनाथ की सरकार में हुआ था. कमलनाथ सरकार नगरीय निकाय चुनाव नहीं होने के पक्ष में थी, यही कारण था कि भोपाल में दो-दो नगर निगम कर पूरे मामले को उलझा दिया था. इसके बाद कोरोना काल आ गया.

बीजेपी सरकार ने चाहा कि जल्द से जल्द चुनाव हो जाएं. चुनाव आयोग अपना काम कर रहा है. मतदाता सूची का काम चल रहा है. इंदौर हाईकोर्ट में सरकार ने कहा है कि निर्वाचन आयोग अधिसूचना जारी करें हमारी तरफ से पूरी तैयारी है. जैसे ही मतदाता सूची का प्रकाशन हो जाए और उसका कार्यक्रम घोषित हो जाए तो हम भी तैयार हैं. कांग्रेस को इंतजार करना चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज