मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड का आरोप, तीन तलाक कानून जबरन थोप रही है सरकार

बोर्ड के सचिव मौलाना उमरेन ने कहा कि सरकार ने तीन तलाक पर जो नियम बनाए है उन्हें बनाते समय मुस्लिम समाज का एक भी सदस्य उस समिति में नहीं था

News18 Madhya Pradesh
Updated: August 12, 2018, 7:28 PM IST
मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड का आरोप, तीन तलाक कानून जबरन थोप रही है सरकार
भोपाल में ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की दो दिवसीय बैठक आयोजित की गई
News18 Madhya Pradesh
Updated: August 12, 2018, 7:28 PM IST
ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड का कहना है कि केंद्र सरकार तीन तलाक का कानून मुसलमानों पर जबरन थोप रही है. बोर्ड के सचिव मौलाना उमरेन ने कहा कि सरकार ने तीन तलाक पर जो नियम बनाए है उन्हें बनाते समय मुस्लिम समाज का एक भी सदस्य उस समिति में नहीं था.

दरअसल, भोपाल में आयोजित ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की दो दिवसीय बैठक में शनिवार को देशभर से मुस्लिम नेता भाग लेने पहुंचे. इस दौरान फैसला लिया गया कि मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड सोशल मीडिया पर शरीयत और तीन तलाक को लेकर लोगों को सही जानकारियां देगा और भ्रामक जानकारियों के बारे में बताएगा.

बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत में बोर्ड के सचिव मौलाना उमरेन ने कहा कि हलाला को जबरन मुसलमानों को जोड़ा जा रहा है. यह इस्लाम में गलत और हराम है. उन्होंने कहा कि तीन तलाक पर हमारा स्टैंड क्लियर है, सरकार अपनी मर्ज़ी मुस्लिम समुदाय पर थोप रही है.

बता दें कि ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की दो दिवसीय बैठक भोपाल में हुई. इसमें देशभर मुस्लिम नेताओं ने भाग लिया. बोर्ड ने भी राजनीतिक पार्टियों की तर्ज पर हाइटेक होने की तैयारी कर ली है. इसके लिए 70 आईटी एक्सपर्ट्स की मदद ली गई. बोर्ड ने एक ऐप लांच किया जिसमें फीचर के माध्यम से लोगों को जोड़ने और शरीयत से सम्बंधित प्रश्नों का ऑनलाइन उत्तर भी दिया जाएगा.

(भोपाल से महताब आलम)

ये भी पढ़ें- हाइटेक होगा ऑल मुस्लिम इंडिया पर्सनल लॉ बोर्ड, IT एक्सपर्ट होंगे सक्रिय
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर