होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /शराब के खिलाफ टेंट और कुटिया में रहकर विशेष अभियान शुरू करेंगी उमा भारती, जानें पूरा प्लान

शराब के खिलाफ टेंट और कुटिया में रहकर विशेष अभियान शुरू करेंगी उमा भारती, जानें पूरा प्लान

उमा भारती ने कहा कि शराब और नशाखोरी बढ़ रही है. ऐसे में राष्ट्रीय स्तर पर नीति बनाने की जरूरत है.

उमा भारती ने कहा कि शराब और नशाखोरी बढ़ रही है. ऐसे में राष्ट्रीय स्तर पर नीति बनाने की जरूरत है.

Uma Bharti Special Campaign: उमा भारती 7 नवंबर से घर और आवास छोड़कर टेंट, कुटिया या पेड़ के नीचे रहकर शराब-नशे के खिलाफ ...अधिक पढ़ें

    हाइलाइट्स

    मध्यप्रदेश की पूर्व सीएम उमा भारती ने शराब के खिलाफ एक नई मुहिम चलाने का ऐलान किया है.
    घर छोड़कर टेंट, कुटिया या पेड़ के नीचे रहकर शराब-नशे के खिलाफ अभियान चलाएंगी.
    शिवराज सिंह चौहान ने हाल ही में प्रदेश में नशा मुक्ति अभियान की शुरुआत की है.

    भोपाल. शराब के खिलाफ मध्यप्रदेश की पूर्व सीएम उमा भारती लगातार मुखर नजर आ रही हैं. अब उन्होंने एक नई मुहिम चलाने का ऐलान कर दिया है. उमा भारती 7 नवंबर से घर और आवास छोड़कर टेंट, कुटिया या पेड़ के नीचे रहकर शराब-नशे के खिलाफ अभियान चलाएंगी. इस दौरान वे अहातों में बने शेड में भी आसरा ले सकती हैं. उमा भारती इस अभियान की शुरुआत मां नर्मदा के उद्गम स्थल अमरकंटक से करेंगी.

    उमा भारती ने साफ कर दिया है कि उनका लक्ष्य नशा मुक्त समाज और शराब के खिलाफ लोगों को जागरूक करना है. उमा भारती ने कहा कि अभियान के दौरान वे स्कूल, कॉलेज, मंदिरों के पास संचालित हो रही शराब की दुकानों या उनके आसपास डेरा डालेंगी और लोगों को जागरूक करने का काम करेंगी. पूर्व सीएम ने कहा कि शराब और नशाखोरी बढ़ रही है राष्ट्रीय स्तर पर नीति बनाने की जरूरत है.

    जब तक आतंक नहीं थमेगा जारी रहेगी मुहिम

    उमा भारती का कहना है कि नशे का महिलाओं पर बुरा असर पड़ता है. वह कई मौकों पर असुरक्षित और असहज महसूस करती हैं. इसलिए जब तक महिलाएं शराब के आतंक से मुक्त नहीं हो जाती हैं उनका यह अभियान जारी रहने वाला है. उन्होंने कहा कि स्कूल और कॉलेज में लड़कियां सुरक्षित महसूस करें. महिलाएं और समाज के सभी लोग मंदिरों स्कूलों में सुरक्षित रूप से आ जा सके. बता दें, उमा भारती पहले भी महिलाओं के साथ शराब के खिलाफ आवाज उठा चुकी हैं.  भोपाल में एक स्थान पर उन्होंने शराब की दुकान पर पत्थर मारकर शराब की बोतलें तोड़ दी थी. इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि वह अपने अभियान को लेकर कितनी मुखर हैं.

    सरकार ने भी शुरू किया है नशे के खिलाफ अभियान

    मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हाल ही में प्रदेश में नशा मुक्ति अभियान की शुरुआत की है. इस अभियान के शुरुआत के कार्यक्रम में खुद उमा भारती और योग गुरु बाबा रामदेव शामिल हुए थे. सीएम शिवराज साफ कर चुके हैं कि लोगों को जागरूक कर नशे की लत से दूर करने का काम सरकारी स्तर पर भी किया जाएगा. उमा भारती की नई मुहिम को लेकर भाजपा प्रवक्ता दुर्गेश केसवानी ने कहा कि कि पूरी सरकार नशे के खिलाफ है. उमा भारती संत और हमारी वरिष्ठ नेत्री हैं उनका काम है हम सबको सही राह दिखाना, हम सब मिलकर जन जागरण अभियान चला रहे हैं.

    कांग्रेस ने उमा भारती के अभियान का दिया साथ

    उमा भारती के इस ऐलान के बाद कांग्रेस पार्टी को सरकार को घेरने का एक और मौका मिल गया है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि उमा भारती ने बड़ी घोषणा की है. अब तो सरकार को शराबबंदी कर देनी चाहिए. हम इस अभियान में उनके साथ पूरी ताकत से खड़े हैं. कांग्रेस ने यह भी दावा किया कि प्रदेश में सत्ता में आने के बाद हम नशा मुक्ति को लेकर ठोस कदम उठाएंगे.

    Tags: Bhopal news, Liquor Ban, Uma bharti

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें