MP Unlock: 1 जून से इन सेक्टर में मिल सकती है छूट; कोचिंग, शॉपिंग मॉल और सिनेमा हॉल पर बड़ा फैसला

MP को 1 जून से अनलॉक करने का फैसला जिला क्राइसेस मैनेजमेंट कंपनी लेगी.(सांकेतिक फोटो)

MP को 1 जून से अनलॉक करने का फैसला जिला क्राइसेस मैनेजमेंट कंपनी लेगी.(सांकेतिक फोटो)

MP Unlock: शिवराज सरकार अनलॉक (Unlock) के लिए क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप से सुझाव लेगी. प्रभारी मंत्री जिलों का दौरा कर सुझाव लेंगे. किस शहर में परिस्थिति के अनुसार क्या खुलेगा, यह 31 मई तक तय हो जाएगा.

  • Share this:

भोपाल. मध्य प्रदेश को 1 जून से चरणबद्ध तरीके से अनलॉक (Unlock) करने की तैयारी है. पहले चरण में तमाम एहतियात और प्रतिबंधों के साथ सरकारी और प्राइवेट ऑफिस और दुकानों को खोला जाएगा. निर्माण कार्य को भी हरी झंडी दी जाएगी. कोचिंग सेंटर्स, सिनेमा हॉल, शॉपिंग सेंटर्स, शॉपिंग मॉल आदि को फिलहाल बंद ही रखा जाएगा. इसके अलावा भीड़भाड़ वाले इलाकों में भी प्रतिबंध (Ban) रहेगा. कुछ सेक्टर ऐसे हैं, जहां रियायत दी जाएगी. दूसरे और तीसरे चरण में सरकार सभी सेक्टर को खोल सकती है.

सरकार अनलॉक के लिए क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप का सुझाव लेगी. प्रभारी मंत्री जिलों का दौरा कर क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप से सुझाव लेंगे. किस शहर में परिस्थिति के अनुसार क्या खुलेगा, यह 31 मई तक तय हो जाएगा. कोरोना संक्रमण के कारण भोपाल समेत कई जिलों में बीते 12 अप्रैल से लॉकडाउन चल रहा है. यह लॉकडाउन 1 जून को खत्म होने जा रहा है. कोरोना को जड़ से खत्म करने के लिए कंटेनमेंट जोन, अलग-अलग रेड, ग्रीन और येलो सेक्टर में बनाए जा रहे हैं. कंटेनमेंट जोन का कॉन्सेप्ट अनलॉक के बाद भी जारी रहेगा.

इन सेक्टर में मिलेगी

-सभी 6 सेक्‍टर में प्राइवेट कार्यालय खुल सकेंगे, लेकिन उनमें 33 प्रतिशत कर्मचारी को ही काम करने की अनुमति होगी. इन कार्यालयों के खुलने का समय भी फिक्स होगा.
-6 सेक्टर में इंफ्राक्ट्रक्चर और कंस्ट्रक्शन एक्टिविटी को भी अनुमति मिलेगी.

- लोक निर्माण विभाग, नगर निगम, राजधानी परियोजना प्रशासन एवं अन्य बिल्डर्स निर्माण कार्य में तेजी ला सकेंगे.

-मार्केट-कॉम्पलेक्स में चरणबद्ध तरीके से दुकानें खोली जाएंगी. प्रत्येक दुकान सप्ताह में एक या दो दिन खुल सकेंगी.



-कपड़े की दुकान और अन्य कमर्शियल दुकानें, जिनमें भीड़ ज्यादा होने की संभावना है उन्हें भी तमाम पाबंदियों के साथ खोला जाएगा.

-ऐसे संस्थान जो होम डिलीवरी या पार्सल सप्लाई करते हैं, उन्हें खोलने की अनुमति होगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज