बड़ी खबर: UP की राज्‍यपाल आनंदीबेन पटेल को मिला मध्‍य प्रदेश का अतिरिक्त कार्यभार
Bhopal News in Hindi

बड़ी खबर: UP की राज्‍यपाल आनंदीबेन पटेल को मिला मध्‍य प्रदेश का अतिरिक्त कार्यभार
उत्‍तर प्रदेश की राज्‍यपाल आनंदीबेन पटेल. (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश की गवर्नर आनंदीबेन पटेल (Anandiben Patel) को मध्य प्रदेश के राज्यपाल का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है. इसके साथ मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के मंत्रिमंडल विस्तार की संभावना बढ़ गयी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 28, 2020, 11:30 PM IST
  • Share this:
भोपाल. उत्तर प्रदेश की गवर्नर आनंदीबेन पटेल (Anandiben Patel) को मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के राज्यपाल का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है. राष्ट्रपति की ओर से आनंदीबेन को यह जिम्मेदारी तब दी गई है जब स्वास्थ्य कारणों से मध्य प्रदेश के 85 वर्षीय राज्यपाल लालजी टंडन (Lalji Tandon) छुट्टी पर हैं. गौरतलब है कि लखनऊ के मेदांता हॉस्पिटल में एडमिट मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन की हालत दो दिन पहले तक नाजुक बनी हुई थी. उन्हें इलेक्टिव वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया था. निदेशक मेदांता अस्पताल लखनऊ राकेश कपूर ने राज्यपाल की हालात को गंभीर बताया था कि उनके (राज्यपाल लालजी टंडन) लीवर में दिक्कत पाए जाने पर सीटी गाइडेड प्रोसीजर किया गया है.

मालूम हो कि राज्यपाल लालजी टंडन का कोरोना टेस्ट भी करवाया गया था. उनकी जांच रिपोर्ट निगेटिव आई थी. बता दें वे 10 दिन की छुट्टी पर लखनऊ पहुंचे थे, लेकिन उनकी तबीयत खराब हो गयी. इसके बाद 11 जून को सुबह सांस की दिक्कत, पेशाब की परेशानी और बुखार के चलते उन्हें मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

कैबिनेट विस्‍तार के मंथन के लिए दिल्‍ली पहुंचे सीएम शिवराज
बहरहाल, कई बार दौरा बनने और रद्द होने के बाद 28 जून को दोपहर बाद मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) आखिरकार दिल्ली पहुंच गए हैं. जबकि मुख्यमंत्री के साथ बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा और संगठन महामंत्री सुहास भगत भी दिल्ली दौरे पर हैं. दिल्ली में तीनों नेताओं की केंद्रीय नेतृत्व के साथ अलग-अलग मुलाकातों के दौर भी शुरू हो गए हैं. माना जा रहा है कि दिल्ली में ही मंत्रिमंडल में शामिल होने वाले नामों पर अंतिम मुहर लगेगी. मुख्यमंत्री के साथ बाकी दोनों नेता भी 28 जून की रात दिल्ली में ही रुकेंगे और 29 जून को भोपाल वापस लौटेंगे. सीएम शिवराज सिंह चौहान के भोपाल वापस लौटने के बाद मंत्रिमंडल विस्तार की अटकलें लगाई जा रही हैं. 30 जून को शिवराज मंत्रिमंडल का विस्तार किया जा सकता है. हालांकि मौजूदा राज्यपाल लालजी टंडन के बीमार होने की वजह से मंत्रिमंडल विस्तार में दिक्‍कत दिख रही थी, लेकिन देर रात राष्‍ट्रपति की ओर से यूपी की राज्‍यपाल आनंदीबेन पटेल को मध्‍य प्रदेश का अतिरिक्‍त प्रभार देकर सारी स्थिति साफ कर दी है.
भोपाल में हो चुका है मंथन


इससे पहले वल्लभ भवन में हुई सीएम की अध्यक्ष वीडी शर्मा और संगठन महामंत्री सुहास भगत के बीच मुलाकात में मंत्रिमंडल के नामों को लेकर मंथन किया जा चुका है. मंत्रिमंडल में 24 से 25 नाम शामिल हो सकते हैं. बैठक के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा था कि वह मंत्रिमंडल के नामों पर चर्चा के लिए जल्द ही दिल्ली जाएंगे,लेकिन वह दिल्ली के बजाय तिरुपति चले गए थे.

मई से जारी है विस्तार की अटकलें
शिवराज मंत्रिमंडल विस्तार की अटकलें मई के पहले हफ्ते से ही जारी हैं. कयास लगाए जा रहे थे कि मई में ही मंत्रिमंडल का विस्तार हो जाएगा, लेकिन 19 जून को राज्यसभा चुनाव होने की वजह से विस्तार को टाल दिया गया. अब एक बार फिर राज्यसभा चुनाव पूरे होने के बाद यह कहा जा रहा है कि जल्द ही मंत्रिमंडल का विस्तार होगा मंत्रिमंडल में जगह पाने के लिए दावेदारों की भी भोपाल से दिल्ली तक दौड़ जारी है. फिलहाल शिवराज मंत्रिमंडल में केवल 5 मंत्री शामिल हैं और कयास लगाए जा रहे हैं कि मंत्रिमंडल में 24 से 25 नए नामों को शामिल किया जा सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज