लाइव टीवी

भोपाल: सीएम शिवराज से पहले VC में पहुंचे बाबा रामदेव, आधे घण्टे तक अधिकारियों से हुई गुफ्तगू
Bhopal News in Hindi

Sharad Shrivastava | News18Hindi
Updated: May 20, 2020, 11:34 PM IST
भोपाल: सीएम शिवराज से पहले VC में पहुंचे बाबा रामदेव, आधे घण्टे तक अधिकारियों से हुई गुफ्तगू
सीएम शिवराज से पहले VC में पहुंचे बाबा रामदेव (फाइल फोटो)

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (Video Conferencing) के दौरान योगगुरू बाबा रामदेव ने एमपी में कोरोना की रोकथाम के लिए आयुर्वेद पद्धति का इस्तेमाल किए जाने पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की तारीफ करते हुए कहा मध्यप्रदेश में आयुर्वेदिक दवाओं के माध्यम से लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाकर कोरोना संक्रमण रोकने की दिशा में सराहनीय काम हुआ है.

  • Share this:
भोपाल. योग गुरु बाबा रामदेव (Baba Ramdev) और मध्य प्रदेश के स्वास्थ्य अधिकारियों के बीच बुधवार को जमकर गुफ्तगू हुई. बाबा रामदेव ने स्वास्थ्य अधिकारियों से उनके स्वास्थ्य और परिवार के बारे में जानकारी ली तो लगे हाथ अधिकारी भी बाबा रामदेव से स्वस्थ रहने के योग टिप्स लेने से पीछे नहीं हटे. दरअसल बुधवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) और योग गुरु बाबा रामदेव की मध्य प्रदेश के सीएमएचओ और प्रमुख स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग होनी थी. इस वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में योग गुरु बाबा रामदेव तय वक्त से 20 मिनट पहले ही जुड़ गए. तब तक मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में शामिल होने नहीं पहुंचे थे.

लिहाजा मौका पाकर अधिकारियों और योग गुरु रामदेव के बीच गुफ्तगू का दौर शुरू हो गया. बाबा रामदेव ने इस दौरान सभी अधिकारियों से उनके सेहत और परिवार के बारे में जानकारी ली. साथ ही साथ उनके जिलों में कोरोना की रोकथाम को लेकर उठाए जा रहे कदमों के बारे में भी जानकारी ली. अधिकारी भी खुद को योग गुरु से टिप्स लेने से रोक नहीं पाए और उन्होंने कोरोना के इलाज को लेकर आयुर्वेद की पद्धतियों को लेकर बातचीत की जैसे ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में जुड़े तो फिर बातचीत का सिलसिला नए सिरे से शुरू हो गया तब तक अधिकारियों और योगगुरु के बीच हंसी ठिठोली और गुफ्तगू का दौर शुरू खत्म हो चुका था.

सीएम और रामदेव की VC
वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान योगगुरू बाबा रामदेव ने एमपी में कोरोना की रोकथाम के लिए आयुर्वेद पद्धति का इस्तेमाल किए जाने पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की तारीफ करते हुए कहा मध्यप्रदेश में आयुर्वेदिक दवाओं के माध्यम से लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाकर कोरोना संक्रमण रोकने की दिशा में सराहनीय काम हुआ है. कोरोना मरीजों पर भी प्रदेश में आयुर्वेद दवा का उपयोग कारगर रहा है. प्राणायाम और आयुर्वेदिक औषधियां कोरोना को रोकने एवं उसके इलाज में उपयोगी है.



कारगर है आयुर्वेदिक काढ़ा


वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश में कोरोना के इलाज एवं संक्रमण रोकने की बेहतर व्यवस्था की गई है. साथ ही लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक दवाओं का प्रयोग किया जा रहा है. अभी तक लगभग 2 करोड़ लोगों को आयुष विभाग के सहयोग से त्रिकटु काढ़े के पैकेट्स वितरित किए गए हैं. कोरोना कार्य में लगे स्वास्थ्यकर्मी, पुलिसकर्मी आदि को भी काढ़ा पिलाया जा रहा है. बाबा रामदेव ने कहा कि जिस व्यक्ति की इम्युनिटी (रोग प्रतिरोधक क्षमता) अच्छी है उसका कोरोना कुछ नहीं बिगाड़ सकता. प्राणायाम एवं आयुर्वेदिक दवाओं के उपयोग से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बहुत अच्छी हो जाती है.

योग गुरु ने बताए 6 प्राणायाम
बाबा रामदेव ने बताया कि कोरोना से बचाव के लिए 6 प्राणायाम भस्त्रिका, कपालभाति, अनुलोम, विलोम, भ्रामरी एवं उज्जयीनी प्राणायाम नियमित रूप से करें. कोरोना के मरीज भी ये प्राणायाम कर सकते हैं. प्राणायाम का तुरंत फायदा होता है. कोरोना को रोकने के लिए गिलोए, तुलसी, काली मिर्च, हल्दी एवं अदरक का काढ़ा रोज पीना कारगर है. इससे रोग प्रतिरोधक क्षमता काफी अच्छी हो जाती है.

ये भी पढ़ें: भोपाल में COVID-19 से मौतों पर कमेटी ने सौंपी ऑडिट रिपोर्ट, हुआ चौंकाने वाला खुलासा
First published: May 20, 2020, 11:34 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading