पढ़िए, CBI ऑफिस के चप्पे-चप्पे पर क्यों है CCTV कैमरे की नजर

मध्यप्रदेश के बहुचर्चित व्यापमं घोटाले की जांच कर रही सीबीआई पर भी व्यापमं घोटाले और सुरक्षा को लेकर खौफ दिखने लगा है. यही वजह है कि सीबीआई के भोपाल कार्यालय की सुरक्षा सख्त कर दी गई है. सीबीआई कार्यालय के मेनगेट पर हथियार बंद जवानों की 24 घंटे की तैनाती की गई है. इसके साथ ही सीबीआई दफ्तर में अंदर से लेकर बाहर तक नज़र रखने के लिए चप्पे-चप्पे पर खुफिया कैमरे लगा दिए गए हैं.
मध्यप्रदेश के बहुचर्चित व्यापमं घोटाले की जांच कर रही सीबीआई पर भी व्यापमं घोटाले और सुरक्षा को लेकर खौफ दिखने लगा है. यही वजह है कि सीबीआई के भोपाल कार्यालय की सुरक्षा सख्त कर दी गई है. सीबीआई कार्यालय के मेनगेट पर हथियार बंद जवानों की 24 घंटे की तैनाती की गई है. इसके साथ ही सीबीआई दफ्तर में अंदर से लेकर बाहर तक नज़र रखने के लिए चप्पे-चप्पे पर खुफिया कैमरे लगा दिए गए हैं.

मध्यप्रदेश के बहुचर्चित व्यापमं घोटाले की जांच कर रही सीबीआई पर भी व्यापमं घोटाले और सुरक्षा को लेकर खौफ दिखने लगा है. यही वजह है कि सीबीआई के भोपाल कार्यालय की सुरक्षा सख्त कर दी गई है. सीबीआई कार्यालय के मेनगेट पर हथियार बंद जवानों की 24 घंटे की तैनाती की गई है. इसके साथ ही सीबीआई दफ्तर में अंदर से लेकर बाहर तक नज़र रखने के लिए चप्पे-चप्पे पर खुफिया कैमरे लगा दिए गए हैं.

  • Share this:
मध्यप्रदेश के बहुचर्चित व्यापमं घोटाले की जांच कर रही सीबीआई पर भी व्यापमं घोटाले और सुरक्षा को लेकर खौफ दिखने लगा है. यही वजह है कि सीबीआई के भोपाल कार्यालय की सुरक्षा सख्त कर दी गई है. सीबीआई कार्यालय के मेनगेट पर हथियार बंद जवानों की 24 घंटे की तैनाती की गई है. इसके साथ ही सीबीआई दफ्तर में अंदर से लेकर बाहर तक नज़र रखने के लिए चप्पे-चप्पे पर खुफिया कैमरे लगा दिए गए हैं.

इस से पहले सीबीआई के मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़ के इस जोनल मुख्यालय में सीसीटीवी कैमरे जैसे हाईटेक सुरक्षा संसाधन दूर-दूर तक कभी भी नज़र नहीं आए लेकिन व्यापमं घोटाले की जांच सीबीआई को मिलते ही यहां के सुरक्षा इंतजाम पुख्ता कर दिए गए हैं.

60 FIR और 1200 से अधिक आरोपी



व्यापमं से जुड़े करीब 50 लोगों की संदिग्ध मौत के बाद 9 जुलाई को सुप्रीम कोर्ट ने एसटीएफ की जगह मामले की सीबीआई से जांच कराने के आदेश दिए थें. सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद 13 जुलाई से सीबीआई की 40 सदस्यीय टीम व्यापमं घोटाले की जांच कर रही है. जांच के इन 27 दिनों में सीबीआई कुल 60 एफआईआर दर्ज कर चुकी है. जिसमें 1200 से अधिक आरोपी बनाये गए हैं.
व्यापमं के हाईप्रोफाइल आरोपी और एसटीएफ की जांच

व्यापमं घोटाले के आरोपियों में पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा, सुधीर शर्मा, नितिन महेन्द्रा, पंकज त्रिवेदी, सुधीर सिंह भदौरिया, संजीव सक्सेना समेत दर्जनों हाईप्रोफाईल शख्स शामिल हैं. घोटाले की जांच के दौरान प्रदेश पुलिस के एसटीएफ कार्यालय में भी मेनगेट के पास की पेड़ों से लेकर दफ्तर के अंदर तक कोने-कोने पर नजर रखने के लिए जगह-जगह सीसीटीवी कैमरे लगाए गए थे और अब यही सीबीआई के ऑफिस में भी किया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज