लाइव टीवी

BJP सांसद प्रज्ञा ठाकुर को भेजे धमकी भरे पत्र में क्या जानलेवा एंथ्रेक्स पाउडर लगा था?

Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: January 19, 2020, 12:11 PM IST
BJP सांसद प्रज्ञा ठाकुर को भेजे धमकी भरे पत्र में क्या जानलेवा एंथ्रेक्स पाउडर लगा था?
एटीएस (ATS) के साथ इंटेलिजेंस (Intelligence) की टीम भी हर एक बिंदु पर बारीकी से जांच पड़ताल कर रही है.मध्य प्रदेश इंटेलिजेंस ने सेंट्रल की खुफिया एजेंसियों से जानकारियों को साझा किया है.

एटीएस (ATS) के साथ इंटेलिजेंस (Intelligence) की टीम भी हर एक बिंदु पर बारीकी से जांच पड़ताल कर रही है.मध्य प्रदेश इंटेलिजेंस ने सेंट्रल की खुफिया एजेंसियों से जानकारियों को साझा किया है.

  • Share this:
भोपाल से बीजेपी सांसद (BJP MP) प्रज्ञा ठाकुर (Pragya Thakur) को पाउडर युक्त धमकी भरा पत्र (Threatening letter) मिलने के मामले में महाराष्ट्र (Maharashtra) के नांदेड़ से गिरफ्तार किए गए डॉ सैयद अब्दुल रहमान खान (Dr. Syed Abdul Rahman Khan) से पूछताछ जारी है. एटीएस (ATS) आरोपी से पूछताछ कर रही है. इस मामले से जुड़ी कई कहानियां सामने आ रही हैं. अब एटीएस (ATS) के साथ इंटेलिजेंस (Intelligence) की टीम भी हर एक बिंदु पर बारीकी से जांच पड़ताल कर रही है.मध्य प्रदेश इंटेलिजेंस ने सेंट्रल की खुफिया एजेंसियों से जानकारियों को साझा किया है.

सूत्रों के अनुसार प्रज्ञा ठाकुर को जो धमकी भरा पत्र भेजा गया था उस पर जानलेवा एंथ्रेक्स पाउडर लगा होने की आशंका है. एंथ्रेक्स एक जानलेवा पाउडर बताया जा रहा है.एंथ्रेक्स भेड़ बकरी घोड़ा खच्चर में होने वाला एक रोग है, जिसका जीवाणु जहर के रूप में यदि शरीर के किसी अंग को लग जाता है तो उसे संक्रमित कर जान भी ले सकता है. बताया जा रहा है कि इन दिनों इस जीवाणु का जैव आतंकवाद के तौर पर आतंकी संगठन इस्तेमाल कर रहे हैं.प्राप्त जानकारी के अनुसार 2001 में अमेरिका में कुछ लोगों को ऐसे ही लेटर मिले थे जिनमें यह जीवाणु मौजूद थे. इस घटना में कई लोगों की मौत भी हुई थी.

सागर लैब में हो रही जांच
भोपाल पुलिस ने मामले में एफआईआर दर्ज कर प्रज्ञा ठाकुर के घर से उस पाउडर को ज़ब्त किया था. एफएसएल की टीम ने लेटर के साथ मिले इस पाउडर को ज़ब्त कर जांच के लिए सागर लैब भेजा है. भोपाल पुलिस इस मामले की जांच कर रही है. हालांकि मामले का आतंकी संगठन से कनेक्शन होने की आशंका की वजह से एमपी एटीएस, इंटेलिजेंस और तमाम सुरक्षा एजेंसी भी अपने स्तर पर जांच कर रही हैं. भोपाल डीआईजी इरशाद वली ने बताया कि अभी लैब से जांच रिपोर्ट नहीं आई है कि उस पाउडर में क्या मिला था और वह पाउडर है क्या? जांच रिपोर्ट के आने के बाद ही पाउडर के बारे में स्पष्ट जानकारी दी जा सकती है. वहीं एटीएस के अधिकारी इस मामले में कुछ भी कहने से बच रहे हैं.

पत्र के साथ पाउडर
कुछ दिन पहले प्रज्ञा ठाकुर की शिकायत पर भोपाल पुलिस के अधिकारियों ने प्रज्ञा ठाकुर के बंगले से एक लिफाफा ज़ब्त किया था. उसमें कुछ उर्दू में लिखे पत्र थे. प्रज्ञा ठाकुर ने पुलिस को बताया था कि जब उन्होंने इस पत्र को अपने हाथ में लिया तो उनके हाथ में स्किन इन्फेक्शन हो गया. उस समय प्रज्ञा ने इसे आतंकी साजिश करार दिया और कहा कि उनकी जान को खतरा है, उनके खिलाफ बड़ी साजिश रची जा रही है.

एक कहानी ये भीअब इस मामले में एक कहानी यह भी सामने आ रही है कि जिस आरोपी को एटीएस ने गिरफ्तार किया है, उसने पूछताछ में बताया कि उसका उसके परिजनों से संपत्ति को लेकर विवाद चल रहा था और इसी संपत्ति विवाद में अपने भाई मां बहन को फंसाने के लिए उसने इस तरीके का लेटर लिखा था. इस लेटर से पुलिस उसके परिवार तक पहुंचती और उन्हें गिरफ्तार कर लेती. उसने पत्र में लिखा था कि उसकी मां, भाई और बहन के साथ परिवार का आतंकियों से कनेक्शन है. उसने पत्र में इंडियन मुजाहिदीन का भी जिक्र किया था. हालांकि आरोपी की बात में कितनी सच्चाई है और उसके कहां-कहां कनेक्शन हैं. ऐसे तमाम बिंदुओं पर एटीएस और तमाम एजेंसियां जांच कर रही हैं.

ये भी पढ़ें-प्रज्ञा ठाकुर के घर चिट्ठी संग पहुंचा सफेद पाउडर, PM मोदी की भी है तस्‍वीर

MP प्रज्ञा ठाकुर मामले में पुलिस का खुलासा, पाकिस्‍तान के इस संगठन ने दी धमकी

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 19, 2020, 12:06 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर