Weather Update : MP में 3 सिस्टम सक्रिय, 6 से ज्यादा संभागों में झमाझम बरसेंगे बादल

भोपाल में सोमवार को आधा इंच बारिश दर्ज की गयी.

Weather Update : मौसम विभाग का कहना है मध्य प्रदेश में फिलहाल तीन सिस्टम सक्रिय हैं. राजस्थान और गुजरात से गर्म हवा मध्य प्रदेश नहीं पहुंच रही है. यही वजह है कि प्रदेश में फिलहाल तपिश नहीं बढ़ी है.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश (MP) में मानसून (Monsoon) की आमद से पहले प्रदेश भर में बारिश की झड़ी लगी हुई है. सोमवार शाम तेज हवाओं के साथ झमाझम बारिश से राजधानी भोपाल तरबतर हो गई. हवा, बादल और फुहारों के बीच पारा का ऊपर चढ़ना भी थम गया. मौसम विभाग कह रहा है कि एमपी में तीन सिस्टम सक्रिय होने के कारण 6 से ज्यादा संभागों में तेज बारिश की संभावना है.

मई और जून में लोग उमस और गर्मी से बेहाल रहते हैं, लेकिन इस बार ऐसा नहीं हुआ. सीजन में सबसे ज्यादा तपने वाले मई और जून के दिनों में राजधानी भोपाल तीखी गर्मी से बेहाल नहीं दिखी. ऐसा ताऊते और यास चक्रवाती तूफान की वजह से हुआ. पूरे एक महीने के आंकड़ों पर नज़र डालें तो 7 मई से 7 जून 31 दिन तक शहर में तीखी धूप नहीं रही. दिन का तापमान सामान्य या सामान्य से भी कम रहा. ऐसा पहली बार हुआ जब गर्मी के पीक में भी पारा सामान्य से ऊपर नहीं पहुंचा. ज्यादातर दिनों में हल्के बादल छाने के साथ बूंदाबांदी हुई तो तेज बारिश से भी लोगों को तापमान से राहत मिली.

बारिश ने बदला मौसम का मिजाज
भोपाल में गर्मी के सीजन में ऐसा पहली बार हुआ है जब 31 दिन तक तापमान सामान्य से ज्यादा नहीं हो सका. सोमवार को दिन का तापमान 38.5 डिग्री दर्ज किया गया. यह सामान्य से 2 डिग्री कम रहा. शहर में लगातार तेज बारिश होने से भी लोगों को इस बार गर्मी और बढ़ते हुए तापमान से निजात मिली.

ग्वालियर में झुलसाने वाली गर्मी
प्रदेश भर में बारिश और हवाओं के बाद भी ग्वालियर खूब तपा. सोमवार को वहां तापमान 42.1 डिग्री रिकॉर्ड किया गया. खजुराहो 41.8 डिग्री, रायसेन 41.6 डिग्री तापमान दर्ज हुआ. नौगांव 40.3, श्योपुर शिवपुरी 40.4, टीकमगढ़ 39.8 डिग्री, खंडवा 39.1 डिग्री, गुना 39.2 डिग्री, जबलपुर 38.1डिग्री, भोपाल 38.5 डिग्री, इंदौर का 36.1 डिग्री तापमान रहा.

तीन सिस्टम सक्रिय
मौसम विभाग का कहना है मध्य प्रदेश में फिलहाल तीन सिस्टम सक्रिय हैं. राजस्थान और गुजरात से गर्म हवा मध्य प्रदेश नहीं पहुंच रही है. यही वजह है कि प्रदेश में फिलहाल तपिश नहीं बढ़ी है. लगातार बने सिस्टम के कारण अरब सागर और बंगाल की खाड़ी से नमी पहुंच रही है. दो चक्रवाती तूफान ताऊते और यास की वजह से भी मौसम प्रभावित हुआ है. जिसकी वजह से लगातार राजधानी भोपाल में तापमान में गिरावट हुई है. इस बार गर्मी में प्रदेश में कहीं भी 42 डिग्री के ऊपर तापमान रिकॉर्ड नहीं हुआ है.



भोपाल में आधे इंच से ज्यादा बारिश 
राजधानी भोपाल में सोमवार शाम अचानक मौसम का रंग बदला. तेज हवाएं चलने के साथ झमाझम बारिश से पूरा शहर तरबतर हो गया. 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलीं और आधा इंच से ज्यादा बारिश दर्ज हुई. शहर में कई जगहों पर तेज हवा के कारण पेड़ भी गिरे. भोपाल शहर में 14.5 मिलीमीटर और बैरागढ़ में 6.2 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गयी.