Assembly Banner 2021

POK सहित पूरा कश्मीर भारत का अभिन्न अंग होना चाहिए: दिग्विजय सिंह

दिग्विजय ने कहा, 'हम तो चाहते हैं कि कश्मीर भारत में रहे.'

दिग्विजय ने कहा, 'हम तो चाहते हैं कि कश्मीर भारत में रहे.'

कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह ने मंगलवार को कहा कि कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) सहित पूरा कश्मीर भारत का अभिन्न अंग होना चाहिए.

  • Share this:
कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह ने मंगलवार को कहा कि कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) सहित पूरा कश्मीर भारत का अभिन्न अंग होना चाहिए. जम्मू-कश्मीर पर पूछे गये एक सवाल के जवाब में दिग्विजय ने कहा, 'हम तो चाहते हैं कि कश्मीर भारत में रहे.' अप्रत्‍यक्ष रूप से मोदी सरकार द्वारा अनुच्‍छेद 370 हटाने का समर्थन करते हुए दिग्विजय ने कहा, 'पीओके सहित पूरा कश्मीर भारत का अभिन्न अंग होना चाहिए.' दिग्विजय से सवाल किया गया था कि आपको क्या लग रहा है कश्मीर आजाद हो जाएगा या पाकिस्तान में चला जाएगा?

दिग्विजय ने कहा, 'हम ईश्वर से यही प्रार्थना करते हैं कि कश्मीर में शांति स्थापित हो, भाईचारा बना रहे. हजारों वर्षों का जो भाईचारा रहा है, आज भी कायम रहे. यही ईश्वर से प्रार्थना करते हैं.' उन्होंने कहा, 'ईश्वर से प्रार्थना करने के अलावा हमारे पास कोई विकल्प अब नहीं है.'

जब उनसे सवाल किया गया कि अनुच्छेद 370 पर दिये गये उनके बयानों से आम जनता आक्रोशित है और क्या उनको यह नहीं लगता कि वह अलोकप्रिय हो रहे हैं, तो इस पर दिग्विजय ने कहा, 'एक बात समझ लीजिए कि जो सच्चाई के रास्ते पर चलता है उसे पत्थर खाने की आदत होनी चाहिए.' उन्होंने आगे कहा, 'ईसा मसीह भी (सूली पर) टांग दिये गये थे, पैगंबर मोहम्मद को भी लोगों का विरोध झेलना पड़ा था, महात्मा गांधी की भी हत्या कर दी गई थी, अब्राहम लिंकन को भी गोली मार दी गई थी, मार्टिन लूथर किंग को भी गोली मार दी गई थी.



ज्योतिरादित्य सिंधिया ने किया था समर्थन
जम्मू-कश्मीर (jammu-Kashmir) से अनुच्छेद-370 (Article-370) हटाने और सूबे के पुनर्गठन को लेकर कांग्रेस दो-फाड़ हो गई है. राहुल गांधी (Rahul Gandhi) समेत कांग्रेस नेतृत्व ने मोदी सरकार (Modi Government) के इस फैसले का विरोध किया है. इसके बावजूद कांग्रेस के कई युवा और वरिष्‍ठ नेताओं ने सरकार के फैसले को सही ठहराया है‌. राहुल गांधी के करीबी ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने इसे जम्मू-कश्मीर और लद्दाख का भारत में पूर्ण विलय करार दिया है.

लंबी हो रही है समर्थन करने वाले कांग्रेसी नेताओं की सूची
ऐसे कांग्रेसी नेताओं की सूची लंबी होती जा रही है जो मोदी सरकार के इस फैसले का समर्थन कर रहे हैं. ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) से पहले कांग्रेस (Congress) की ओर से हरियाणा के दीपेंद्र हुड्डा (Deependra hudda), महाराष्ट्र के मिलिंद देवड़ा (Milind Deora), वरिष्‍ठ नेता जनार्दन द्विवेदी (janardan Dwivedi) समेत कई नेताओं ने अनुच्छेद-370 (Article-370) हटाने का समर्थन किया है. वहीं, असम से कांग्रेस के राज्यसभा सदस्‍य भुबनेश्वर कलिता ने पार्टी के रुख से नाराज होकर इस्तीफा दे दिया है.

ये भी पढ़ें:

शिव राज में मध्यप्रदेश में भी स्टाम्प घोटाला! कांग्रेस ने लगाया 22 हजार करोड़ की हेराफेरी का आरोप
स्कॉलरशिप के पैसे से फिर कैदियों को जेल से आज़ाद कराएगा 11वीं का छात्र आयुष
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज