Home /News /madhya-pradesh /

क्या ज्योतिरादित्य सिंधिया की राह पर हैं अरुण यादव? भाई सचिन के साथ मिलकर उठाने जा रहे ये कदम

क्या ज्योतिरादित्य सिंधिया की राह पर हैं अरुण यादव? भाई सचिन के साथ मिलकर उठाने जा रहे ये कदम

MP Congress News: अरुण यादव खलघाट में एक बड़ा आयोजन कर पार्टी को अपनी ताकत का अहसास कराने की तैयारी में हैं....

MP Congress News: अरुण यादव खलघाट में एक बड़ा आयोजन कर पार्टी को अपनी ताकत का अहसास कराने की तैयारी में हैं....

Arun Yadav Vs Kamal Nath: मध्य्र प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अरुण यादव (Arun Yadav) खरगोन के खलघाट में एक बड़ा सम्मेलन कर अपनी ताकत दिखाने की कोशिश में है. सबसे खास बात है कि प्रदेश कांग्रेस दफ्तर को भी इस कार्यक्रम की जानकारी नहीं है. हाल में ही खंडवा सीट पर हुए उपचुनाव के प्रबल दावेदार रहे यादव की कमलनाथ के साथ मतभेद की खबरें सामने आई थीं. अब खलघाट में एक बड़ा आयोजन कर वह अपनी ताकत का अहसास कराने की तैयारी में हैं. सवाल यही है कि क्या अरुण यादव, ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scinda) की राह चलेंगे?

अधिक पढ़ें ...

भोपाल. प्रदेश कांग्रेस में भले ही सब कुछ ठीक-ठाक दिखाई दे रहा हो लेकिन अंदर खाने की खबर है कि कांग्रेस में अरुण यादव (Arun Yadav) गुट एक बार फिर अपनी सक्रियता बढ़ा रहा है. यादव ने खरगोन के खलघाट में एक बड़ा शक्ति प्रदर्शन करने की तैयारी कर ली है. इसके लिए उन्होंने अपने भाई व पूर्व मंत्री सचिन यादव के साथ सोशल मीडिया पर कैंपेन शुरू किया है ‘चलो खलघाट’. सबसे खास बात है कि प्रदेश कांग्रेस दफ्तर को भी इस कार्यक्रम की जानकारी नहीं है.

दरअसल अरुण यादव खलघाट में एक बड़ा सम्मेलन कर अपनी ताकत दिखाने की कोशिश में है. हाल में ही खंडवा सीट पर हुए उपचुनाव के प्रबल दावेदार रहे यादव की कमलनाथ के साथ मतभेद की खबरें सामने आई थी और उपचुनाव से ऐन पहले उन्होंने अपनी दावेदारी से हाथ पीछे खींच लिए थे. इतना ही नहीं कमलनाथ और अरुण यादव के बीच कई बार मतभेद उभरकर सामने आए हैं. ग्वालियर में हिंदू महासभा के पदाधिकारियों को कांग्रेस की सदस्यता देने पर भी यादव ने सवाल खड़े किए थे. भोपाल में विधानसभा घेराव के दौरान भी दोनों के बीच मतभेद सामने आए थे. खंडवा लोकसभा सीट के उपचुनाव के दौरान भी उनका दर्द कई बार झलक कर सामने आया था. अब खलघाट में एक बड़ा आयोजन कर वह अपनी ताकत का अहसास कराने की तैयारी में हैं.

सबसे खास बात है कि यादव के इस आयोजन की जानकारी कांग्रेस के बड़े नेताओं को नहीं है. सिर्फ इतना ही नहीं प्रदेश कांग्रेस दफ्तर को भी कार्यक्रम की जानकारी नहीं है. पीसीसी प्रभारी महामंत्री राजीव सिंह ने खलघाट में कांग्रेस के किसी तरह के आयोजन की जानकारी होने से इनकार किया है. अरुण यादव के करीबी रवि सक्सेना ने कहा है कि जब-जब खलघाट में बड़ा आयोजन हुआ है, सत्ता हिली है. खलघाट के कार्यक्रम के बाद एक बड़ा संदेश प्रदेश में जाएगा.

खलघाट में बड़े आयोजन की तैयारी पर बीजेपी को कांग्रेस पर तंज कसने का मौका मिल गया है. बीजेपी प्रवक्ता पंकज चतुर्वेदी ने कहा है कि कांग्रेस पार्टी में अरुण यादव और अजय सिंह जैसे नेता हाशिए पर हैं पार्टी में गुटबाजी है और यही कारण है कि अपनी ताकत का अहसास कराने के लिए पार्टी नेताओं से हटकर अरुण यादव शक्ति प्रदर्शन कर रहे हैं.

दरअसल 23 साल पहले कांग्रेस के दिग्गज नेता सुभाष यादव ने दिग्विजय सिंह की कार्यशैली से नाराज होकर खलघाट में ही एक बड़ा शक्ति प्रदर्शन किया थ. अब अरुण यादव सचिन यादव के शक्ति प्रदर्शन को कमलनाथ से यादव भाइयों की नाराजगी से जोड़कर देखा जा रहा है. हालांकि इस बारे में अरुण यादव फिलहाल मौन है लेकिन सोशल मीडिया पर पार्टी नेताओं को दरकिनार कर खुद के फोटो के साथ कैंपेन की शुरुआत कर उन्होंने जता दिया है कि मालवा और निमाड़ में वही कांग्रेस का चेहरा है. इस बात का अहसास वह जल्द होने वाले खलघाट के आयोजन के जरिये कांग्रेस को कराने का काम करेंगे.

Tags: Arun yadav, Kamal nath, Madhya pradesh news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर