MP News: रेंजर से अवैध वसूली के आरोप में घिरे IFS अफसर अब महिलाओं के मामले में भी फंसे

विभाग की टीम अवैध वसूली मामले की जांच के लिए बैतूल आया है.

Investigation Against IFS Meena. बैतूल के प्रधान वन संरक्षक ( chief Conservator of Forest) मोहनलाल मीणा के खिलाफ जांच दल के पास विभाग के कई छोटे-बड़े अधिकारी कर्मचारी सीधे या पत्राचार के ज़रिये शिकायत Complaint) भेज रहे हैं.

  • Share this:
बैतूल. बैतूल में रेंजर और अन्य कर्मचारियों से अवैध वसूली करने वाले IFS अधिकारी (IFS Officer) मोहनलाल मीणा नये विवाद में घिर गए हैं. पहले अवैध वसूली करने वाले ऑडियो वायरल (Audio viral) हुए और अब बैतूल में ही पदस्थ विभाग की महिला कर्मचारियों ने ये कहकर सनसनी फैला दी है कि मीणा ने कई महिला कर्मचारियों का शारीरिक और मानसिक शोषण भी किया है. इन महिला वन कर्मियों ने बैतूल पहुंचे जांच दल को मीणा के खिलाफ लिखित शिकायत दी है.

बता दें कि बैतूल में प्रधान वन संरक्षक पद पर तैनात IFS अधिकारी मोहनलाल मीणा का हाल ही एक रेंजर से पहले 30 हजार और फिर 50 हजार रुपए की मदद मांगने के ऑडियो वायरल हुए थे. रेंजर से रुपए मांगने के अब तक 4 ऑडियो वायरल हो चुके हैं. इसकी जांच करने वन विभाग के उच्चाधिकारियों का एक दल बैतूल पहुंच कर जांच कर रहा है.

अकेली महिलाओं पर कुदृष्टि
जांच शुरू ही हुई थी कि इस दौरान एक और खुलासा हुआ. बैतूल के वन विभाग में पदस्थ छह महिला कर्मियों ने जांच दल के सामने शिकायत दर्ज कराई है मोहनलाल मीणा ने बैतूल में अपने छह महीने के कार्यकाल में कई महिलाओं का शारीरिक और मानसिक शोषण किया है. महिला वन कर्मियों ने ये भी बताया कि मोहनलाल मीणा उन महिला कर्मचारियों की जानकारी रखता था, जो फील्ड में अकेली रहती हैं. वो उन्हें फोन करके मिलने के लिए बाध्य करता था..

वन मंत्रालय को अपनी रिपोर्ट सौंपेगा जांच दल
उच्चाधिकारियों का दल इन सभी मामलों की जांच कर रहा है. सभी पक्षों के बयान दर्ज किए जा रहे हैं. जांच के बाद दल अपनी रिपोर्ट वन मंत्रालय को सौंपेगा.

मीणा के खिलाफ कई शिकायतें मिल रहीं
बैतूल के प्रधान वन संरक्षक मोहनलाल मीणा के खिलाफ जांच दल के पास विभाग के कई छोटे बड़े अधिकारी कर्मचारी सीधे या पत्राचार के ज़रिये शिकायत भेज रहे हैं. लेकिन हैरत की बात ये है कि एक सप्ताह से सामने आ रहे आरोपों और जांच शुरू होने के बावजूद अब तक मोहनलाल मीणा अपने पद पर बने हुए हैं.