दिग्विजय ने एमपी के मंत्रियों को लिखी चिट्ठी, इस बात को लेकर हैं नाराज़

अपने लिखे पत्रों पर कार्रवाई न होने से नाराज़ दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने एमपी (Madhya Pradesh) के मंत्रियों (Ministers) को चिट्ठी लिखकर उनसे मिलने का समय मांगा है. इस चिट्ठी से हंगामा मच गया है इससे पहले सपा विधायक (SP Mla) भी मंत्रियों की शैली पर नाराज़गी जता चुके हैं.

Anurag Shrivastava | News18 Madhya Pradesh
Updated: August 30, 2019, 4:35 PM IST
दिग्विजय ने एमपी के मंत्रियों को लिखी चिट्ठी, इस बात को लेकर हैं नाराज़
दिग्विजय सिंह ने कमलनाथ सरकार के मंत्रियों से मिलने का समय मांगा
Anurag Shrivastava | News18 Madhya Pradesh
Updated: August 30, 2019, 4:35 PM IST
एमपी सरकार के मंत्रियों (Ministers of Madhya Pradesh Government) की कार्यशैली (Working Style) को लेकर कांग्रेस (Congress) के अंदर घमासान के हालात बन गए हैं. सपा विधायक (SP Mla) के मंत्रियों के रवैये को लेकर नाराज़गी जताने के बाद कांग्रेस सांसद दिग्विजय सिंह की मंत्रियों को लिखी चिट्ठी (Letter) से सियासी बवाल खड़ा हो गया है. दिग्विजय ने ये चिट्ठी तब लिखी जब उनके लिखे पत्रों पर मंत्रियों की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की गई. साथ ही अब मंत्रियों की संपत्ति (Assets) भी मुद्दा बनती दिखाई दे रही है.

सिरदर्द बनता मंत्रियों रवैया
15 साल के सत्ता के वनवास के बाद सूबे का सिंहासन संभालने वाली कांग्रेस सरकार के मंत्रियों का रवैया पार्टी के लिए बड़ा सिरदर्द बन गया है. मंत्रियों की कार्यशैली को लेकर विधायकों की नाराजगी खुलकर सामने आ चुकी है. एक दिन पहले सपा के विधायक राजेश शुक्ल ने वन मंत्री उमंग सिंघार के मिलने का समय नही देने को लेकर गुस्सा जताया था. सपा विधायक ने सरकार में बैठ मंत्रियों के रवैये पर आपत्ति जताई तो अब कांग्रेस सांसद दिग्विजय सिंह की सभी मंत्रियों को लिखी गई चिट्ठी से बवाल उठ खड़ा हुआ है.

News - दिग्विजय सिंह की चिट्ठी से मध्य प्रदेश की सियासत में भूचाल
दिग्विजय सिंह की चिट्ठी से मध्य प्रदेश की सियासत में भूचाल


न्यूज18 को मिली चिट्ठी के मुताबिक कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह ने मंत्रियों को पत्र लिखकर उनसे 31 अगस्त से पहले मिलने के लिए समय देने का अनुरोध किया है. दिग्विजय के मुताबिक उनके मंत्रियों को विभाग से संबंधित मामलों को लेकर लिखे गये पत्रों पर कार्रवाई नहीं होने पर मंत्रियों से मिलकर समाधान निकालने का अनुरोध किया गया है.

मंत्रियों की संपत्ति का भी मुद्दा
मंत्रियों के रवैये के साथ साथ अब उनकी संपत्ति भी मुद्दा बनती दिखाई दे रही है. प्रदेश के संसदीय कार्यमंत्री गोविंद सिंह ने कहा है कि मंत्रियों को अपनी संपत्ति को सार्वजनिक करना चाहिए, ताकि पारदर्शिता बनी रहे. उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने अपने वचन पत्र में भी इसे शामिल किया था. अब सरकार इस पर विचार कर रही है कि कैसे मंत्री-विधायकों की संपत्ति को सार्वजनिक करने को अनिवार्य किया जाए.
Loading...

बीजेपी हुई हमलावर
वहीं बेलगाम हो रहे मंत्रियों पर नकेल कसने के लिए हो रही कोशिशों पर बीजेपी ने कांग्रेस सरकार पर हमला बोला है. बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा ने कहा है कि जब विधायक और सांसद दिग्विजय सिंह को अपने कामों के लिए मंत्रियों से अनुरोध करना पड़ा रहा है, तो आम आदमी की दुर्दशा का अंदाजा लगाया जा सकता है.

बहरहाल आठ महीने पुरानी सरकार में मंत्रियों के कामकाज को लेकर मिल रही शिकायतों के बाद पार्टी के अंदर घमासान के हालात बन गये हैं. लेकिन यदि मंत्रियों की कार्यशैली को लेकर बढ़ रही नाराजगी जल्दी नहीं थमी और मंत्री नहीं संभले तो कांग्रेस के लिए आने वाले दिन बेहद मुश्किल भरे साबित हो सकते हैं.

ये भी पढ़ें - 

पश्चिम बंगाल में मॉब लिंचिंग के खिलाफ विधेयक, दोषी साबित होने पर उम्रकैद
विराट कोहली-रोहित शर्मा के झगड़े पर वीरेंद्र सहवाग का बड़ा खुलासा, कहा-मेरे और धोनी के बीच भी लड़ाई...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इंदौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 30, 2019, 4:35 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...